बिना बुखार के भी शरीर गर्म रहता है, तो लाइफस्टाइल की ये आदतें हो सकती हैं जिम्मेदार

हेल्थ कंडीशन, गलत खानपान और एनवायरमेंटल फैक्टर्स बॉडी हीट का कारण बनने लगते हैं। जानते हैं कि किन उपायों की मदद से बॉडी हीट को कम किया जा सकता है।
heat se kaise bache
गलत खानपान और एनवायरमेंटल फैक्टर्स से बढ़ जाती है शरीर की गर्मी। चित्र : शटरस्टॉक
ज्योति सोही Published: 22 Sep 2023, 18:56 pm IST
  • 141
इनपुट फ्राॅम

आमतौर पर गर्मियों के मौसम में शरीर में गर्माहट महसूस होने लगती है। इसके चलते शरीर गर्म रहने लगता है। गर्माहट को दूर करने के लिए कई तरह के उपाय किए जाते हैं। मगर कुछ लोगों की बॉडी से हीट हर दम महसूस होती है। महिलाओं में खासतौर से मासिक धर्म के दौरान बॉडी हीट की समस्या बढ़ने लगती है। इसके अलावा हेल्थ कंडीशन, गलत खानपान और एनवायरमेंटल फैक्टर्स भी इस समस्या का कारण बनने लगते हैं। जानते हैं कि किन उपायों की मदद से एक्सेसिव बॉडी हीट (excessive body heat) को कम किया जा सकता है और शरीर में बढ़ने के क्या कारण हैं।

क्या बात करने से शरीर गर्म हो सकता है?

इस बारे में आर्टिमिस अस्पताल गुरूग्राम में सीनियर फीज़िशियन डॉ पी वेंकट कृष्णन का कहना है कि किसी से बात करने से शरीर गर्म नहीं होता है। अगर आप हर वक्त किसी कारण से स्ट्रेस का शिकार है या फिर कोई दवाइयां ले रहे है, तो उससे शरीर गर्म रहता है। इसके अलावा वे लोग जो हाइपरथायरायडिज्म (hyperthyroidism) का शिकार है। उनका शरीर भी अक्सर गर्म रहता है। इससे बचने के लिए वॉटर इनटेक बढ़ाएं और कुछ वक्त खुली हवा में बिताएं। इसके अलावा अपनी मील में विटामिन्स और मिनरल्स की मात्रा को भी बढ़ा दें।

यहां जानिए बॉडी हीट बढ़ने के कारण (Reasons of body heat)

1 शरीर में पानी की कमी

गर्मी के मौसम में बॉडी हीट (body heat) का बढ़ना एक आम बात है। अगर आपको शरीर हर वक्त गर्म महसूस हो रहा है, तो इसका एक कारण शरीर में पानी की कमी हो सकता है। दरअसल, अधिकतर समय एयर कंडीशनर में बिताने से शरीर को प्यास का अंदाजा नहीं हो पाता है। इससे बॉडी में वॉटर इनटेक प्रापर नहीं हो पाता है। इसके अलावा वेटिलेशन और सनलाइट का एक्सपोज़र न मिलना भी इसका एक कारण है। ऐसे में शरीर हाइपरथायरायडिज्म (hyperthyroidism) जैसी समस्याओं का शिकार होने लगता है।

Jyada paani peeyein
अधिक से अधिक पानी पीना आपके लिए आवश्यक है। इससे शरीर डिटॉक्स होता है। चित्र: शटरस्टॉक

2 हाइपरथायरायडिज्म

शरीर में ओवरएक्टिव थायरॉयड ग्रंथि को हाइपरथायरायडिज्म (hyperthyroidism) कहा जाता है। इससे व्यक्ति को हर पल गर्मी का एहसास होता है। दरअसल, हाइपरथायरायडिज्म उस कंडीशन को कहा जाता है जब थायरॉयड गलैण्ड अत्यधिक मात्रा में थायराइड हार्मोन प्रोडयूस करती है। इससे ग्रस्त लोगों को खूब पसीना आता है और बार बार प्यास भी लगती है। हाइपरथायरायडिज्म से ग्रस्त लोगों को हर दम थकान, इरेगुलर पीरियड साइकिल और वेटलॉस की समस्या से जूझना पड़ता है।

3 तनाव की अधिकता

ज्यादा तनाव लेना भी शरीर को गर्म रखता है। वे लोग जो हर पल किसी न किसी परेशानी में रहते हैं। उन्हें बॉडी हीट (body heat) की समस्या से जूझना पड़ता है। तनाव के चलते हार्ट बीट पर उसका प्रभाव पड़ता है और शरीर गर्म हो जाता है।

4 स्पाइसी फूड खाना

ज्यादा स्पाइसी फूड खाने, अल्कोहल इनटेक और कैफीन की प्रचुर मात्रा बॉडी को गर्म रखने का कारण साबित होती है। इससे हार्ट रेट बढ़ने लगता है, जिससे बार बार पसीना आने लगता है। बॉडी को कूल रखने के लिए ज्यादा मिर्च मसालों का सेवन करने से भी बचें।

इन उपायों से अपनी बॉडी को करें कूल (How to keep body cool)

1. फलों का सेवन करें

उन फलों का सेवन करें जिनमें अत्यधिक मात्रा में पानी हो। इसके लिए अपनी डाइट में तरबूज, खरबूजा, टमाटर और खीरे जैसे फलों और सब्जियों को शामिल करें। इससे सेवन से फ्रेशनेस मिलेगी और बॉडी भी कम होने लगेगी। दरअसल, इन फूड्स की तासीर ठण्डी होती है, जो बॉडी हीट को कम कर देती है।

fal khaane ka sahi tareeka
गर्मी में उन फलों और सब्जियों को खाएं, जिनमें पानी की मात्रा अधिक होती है। चित्र : शटरस्टॉक

2. इलेक्ट्रोलाइट अपने आहार में सम्मिलित करें

पानी की कमी के कारण बॉडी हीट (body heat) बढ़ने लगती है। इससे बचने के लिए अपने आहार में लस्सी, नींबू पानी और नारियल पानी पीएं। इससे शरीर में मिलरल्स की कमी पूरी हो जाती है।

3 व्यायाम करें

रोज़ाना कुछ वक्त एक्सरसाइज़ करें। कुछ माउथ ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ को भी अपने रूटीन में शामिल करें। इससे आपके फेफड़ों को भी मज़बूती मिलती है। इसके अलावा शरीर को ठंडक प्रदान होती है।

4 वेंटिलेटिड एरिया में बैठें

शरीर को ओवरहीट से बचाने के लिए वेंटिलेटिड एरिया में बैठें। इससे आपका शरीर कूल और एनर्जी से भरपूर रहेगा। प्रॉपर वेटिलेशन से आपकी बॉडी ब्रीदिंग प्राब्लम्स से भी बची रहेगी।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़ें- अगर 20 से नीचे रखते हैं AC का टेम्पेरेचर, तो इन 3 स्वास्थ्य समस्याओं के लिए रहें तैयार

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख