रिवर्स वॉकिंग के ये फायदे जानती हैं आप, कमाल की है ये आसान सी एक्सरसाइज

पीछे की तरफ चलना यानी उल्टे चलना हमेशा बुरा नहीं होता। आपको जानकर खुशी होगी कि इसके भी अपने फायदे हैं।
चलने में हो सकती है दिक्कत। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 10 Dec 2020, 14:04 pm IST
  • 80

वॉकिंग हमेशा से एक बेसिक और फायदेमंद एक्सरसाइज रही है। इसकी सबसे अच्छीे बात ये है कि आप कभी भी, कहीं भी इसे कर सकती हैं। पर अब इसे एक अलग अंदाज में करने का समय है। हम आपको सलाह देंगे कि इस बार आप पीछे की ओर चलना शुरू करें। यानी अपने कदम उल्टी दिशा में आगे बढ़ाएं।

कहीं आप ये तो नहीं सोचने लगीं कि हम क्या मजाक कर रहे हैं! पर ऐसा नहीं है, हम बिल्कुल ठीक हैं और आपको एकदम सही सलाह दे रहे हैं। सिर्फ इतना ही नहीं, इसके इतने सारे फायदे हैं कि आप भी जानकर हैरान हो जाएंगी।

बैकवॉर्ड वॉकिंग को ट्राय करके देखें, आपकाेे फर्क साफ नजर आएगा। चित्र : शटरस्टॉक

यहां हम आपको रिवर्स वॉकिंग के पांच बेनिफि‍ट्स बता रहे हैं, जो आपके कार्डियो रुटीन को और बेहतन बना देंगे

1. समन्वय में सुधार करता है

विश्व प्रसिद्ध स्पोर्ट्सवियर ब्रांड एडिडास के अनुसार, रिवर्स चलने से समन्वय में सुधार होता है।  बेशक, आप अपनी सामान्य गति के उलट जा रहीं हैं, और इसके लिए आपको अपने शरीर के बेहतर समन्वय की आवश्यकता है। आपका दिमाग आपको बेहतर मार्गदर्शन करने में सक्षम होना चाहिए। इसलिए, यह आपके फोकस को बेहतर बनाने में भी मदद करता है।

2. आपके पैरों को बनाता है मजबूत

हम सामान्यत: सामने की ओर ही आगे बढ़ते हैं। जिससे हमारे पैर के पिछले हिस्से में मौजूद मांसपेशियों का इस्तेमाल नहीं हो पाता। इसलिए, जब आप रिवर्स वॉकिंग करते हैं, तो वे मांसपेशियां भी गति में आ जाती हैं और आपके पैर मजबूत होते हैं।

अगर आपको अकसर मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या रहती है, तो आपको उल्टे चलने का अभ्यास जरूर करना चाहिए। चित्र : शटरस्टॉक

3. रिवर्स वॉकिंग से घुटनों पर कम दबाव पड़ता है

BMC Musculoskeletal Dis जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों को घुटने में दर्द है या चोट लगी है, वे रिवर्स वॉकिंग का उपयोग कर बेहतर सुधार कर सकते हैं। क्योंकि इस तरह चलने से आपके घुटनों पर कम दबाव पड़ता है।

वास्तव में, जर्नल ऑफ बायोमैकेनिक्स में प्रकाशित एक अन्य अध्ययन में यह भी पाया गया कि रिवर्स या बैकवर्ड रनिंग से घुटनों की पुरानी चोट में भी आराम आता है।

4. यह थेरेपी की तरह काम करता है

आप भले ही हैरान हों पर यह सच है! जर्नल ऑफ फिजिकल थेरेपी साइंस में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, रिवर्स वॉकिंग से संतुलन में सुधार होता है। और यह हैप्पीत हार्मोन रिलीज करता है। जो आपकी संवेदना को शांत रखते हैं।

5. पीठ दर्द से छुटकारा

क्या आप जानती हैं कि यदि आपके हैमस्ट्रिंग में लचीलेपन की कमी है, तो इससे आपको कमर दर्द हो सकता है? जर्नल ऑफ कायरोप्रैक्टिक मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन ने इसे भी मुहर लगाई है ! इसलिए अगर आप कमर दर्द से छुटकारा चाहती हैं, तो हर रोज कम से कम 15 मिनट रिवर्स वॉकिंग करें।

यदि आप वर्क फ्रॉम होम कर रहीं हैं, तो हो सकता है कि लगातार या गलत तरीके से बैठने के कारण आपको कमर दर्द हो। इसके लिए रिवर्स वॉकिंग करें। चित्र : शटरस्टॉक

और निश्चित रूप से, वजन घटाने में तो रिवर्स वॉकिंग कारगर है ही।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

तो फि‍र देर किस बात की, थोड़ी टफ हो जाएं और ऑफ बीट चीजों को ट्राय करें। रिवर्स वॉकिंग भी इन्हीं में से एक है। बैकवॉर्ड वॉकिंग के बहुत सारे फायदे हैं। फि‍र भी इसे आजमाने से पहले कुछ चीजों को याद रखना जरूरी है।

रिवर्स वॉकिंग से पहले इन बातों का ध्यान रखें:

यदि आप ट्रेडमिल का उपयोग कर रहीं हैं तो इसे धीमी गति से करें अन्यथा आप फिसल सकती हैं। यदि आप इसे घर के अंदर कर रहे हैं तो कृपया सुनिश्चित करें कि आस-पास कोई फर्नीचर न हो। जिससे टकराने का डर हो। अपनी एड़ियों को सुरक्षित रखने के लिए रिवर्स वॉकिंग से पहले भी जूते पहनना जरूरी है।

अगर आप बाहर कहीं उल्टा चलना शुरू कर रहीं हैं तो यह भी ध्यान रखें कि आपके रास्ते में कोई व्यक्ति, जानवर या गड्ढा न आए। इससे आपको चोट लग सकती है।

तो बस फि‍र तैयार हो जाएं इस आसान सी एक्स रसाइज के ढेर सारे लाभ लेने के लिए।

  • 80
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख