वैलनेस
स्टोर

ये 3 तरीके हैं अपना फैट और वेट नापने के, जानिए कहीं आप भी तो नहीं ओवर वेट

Published on:11 July 2021, 09:00am IST
वजन नापने की मशीन पर चढ़ जाना और हर एक किलो पर घबरा जाना वजन अनुपात चैक करने का सही तरीका नहीं है। तो यहां जानिए आप कैसे अपनी फिटनेस चैक कर सकती हैं।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 84 Likes
badhte fat se azadi
बढ़ते फैट से पाएं आजादी। चित्र-शटरस्टॉक

क्या आपको भी अपने बढ़ते हुए वज़न की फ़िक्र होती है? और आप हर वक़्त यही सोचती रहती हैं कि कहीं आप ओवर वेट न हो जाएं! तो डार्लिंग ये चिंता करने की नहीं सही माप करने की बात है। और इसका तरीका सिर्फ वजन नापने की मशीन पर चढ़ जाना ही नहीं है। और भी बहुत सारी चीजें हैं, जो यह तय करती हैं कि आपके शरीर में कहीं अनुपात से ज्यादा फैट तो नहीं। आइए जानते हैं उन तरीकों के बारे में जो आपकी फिटनेस का पैमाना है।

जानिये घर पर अपना वज़न नापने के आसान तरीके

1 क्या है बॉडी मास इंडेक्स (BMI)

बॉडी मास इंडेक्स, ये बताता है कि आपके शरीर का वजन आपकी लंबाई के अनुसार ठीक है या नहीं। एक तरह से इसे आपके शरीर की लंबाई और वजन के बीच का अंतर कहा जा सकता है। यह सीधे शरीर में वसा को मापता नहीं है, बल्कि अनुमान लगाने के लिए एक समीकरण का उपयोग करता है।
उच्च बीएमआई का मतलब होता है कि आपका वज़न ज्यादा है और कम बीएम आई का मतलब है कि आप अंडरवेट हैं।

ये है बीएमआई फॉर्मूला:

बीएमआई = वजन (किलोग्राम में) / (हाइट X हाइट (मीटर में))
यानी
58 / (1.65 X 1.65) = 21.32

आपको बता दें कि एक सामान्य शरीर का बीएमआई 22.1 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इस तरह से आप भी यह जान सकती हैं कि आप ओवर वेट हैं या नहीं!

बॉडी मास इंडेक्स (BMI) आपके शरीर की लंबाई और वजन के बीच का अंतर है. चित्र : शटरस्टॉक
बॉडी मास इंडेक्स (BMI) आपके शरीर की लंबाई और वजन के बीच का अंतर है. चित्र : शटरस्टॉक

जब आपके स्वास्थ्य जोखिमों की बात आती है, तो सभी अतिरिक्त वजन समान नहीं होते हैं। जिन लोगों की सिर्फ पेट की चर्बी ज्यादा होती है, उन्हें हृदय रोग और टाइप 2 मधुमेह खतरा उन लोगों की तुलना में अधिक होता है, जिनका वज़न उनके कूल्हों और जांघों के आसपास ज्यादा होता है।

यहां तक कि अगर आपका बीएमआई सामान्य सीमा के भीतर है, तो भी आपको रोग का खतरा बढ़ सकता है। और यहीं पर वेस्ट हिप रेशियो काम आता है!

2 क्या है वेस्ट हिप रेशियो (WHR)

वेस्ट हिप रेशियो (Waist-to-hip ratio) उन कई तरीकों में से एक है, जिसका उपयोग आप अपना वज़न नापने के लिए कर सकती हैं। बीएमआई के विपरीत यह रेश्यो आपके कूल्हों और कमर की चौड़ाई नापता है, जिससे पता चल सकता है कि आप शरीर में फैट ज्यादा है या नहीं।

वेस्ट हिप रेशियो (Waist-to-hip ratio) नापने का तरीका:

सीधे खड़े हो जाएं और सांस छोड़ें। अपने बैली बटन के ठीक ऊपर, अपनी कमर की चौड़ाई की जांच करने के लिए एक इंच टेप का उपयोग करें।

फिर अपने कूल्हों के सबसे बड़े हिस्से – अपने नितंबों के सबसे चौड़े हिस्से के आसपास की चौड़ाई को मापें।

अब दोनों संख्या को एक जगह नोट कर लें।

अपने कमर के नाप को अपने कूल्हे के नाप से डिवाइड कर लें।

आपको आपका वेस्ट हिप रेशियो मिल जायेगा!

वेस्ट हिप रेशियो (Waist-to-hip ratio) - यह रेश्यो आपके कूल्हों और कमर की चौड़ाई नापता है. चित्र : शटरस्टॉक
वेस्ट हिप रेशियो (Waist-to-hip ratio) – यह रेश्यो आपके कूल्हों और कमर की चौड़ाई नापता है. चित्र : शटरस्टॉक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, एक स्वस्थ वेस्ट हिप रेशियो है:

पुरुषों में 0.9 या उससे कम

महिलाओं के लिए 0.85 या उससे कम

3 क्लिपर्स

उपरोक्त दो तरीकों के अलावा कई तरीकें हैं जिनसे आप अपना वज़न जान सकती हैं, मगर उनके लिए प्रोफेशनल हेल्प की ज़रुरत होती है। ऐसा ही एक तरीका है क्लिपर्स। इस तरीके में चर्बी को क्लिप की मदद से पकड़ते हैं और स्किन फोल्ड को नापते हैं। स्किन की लेयर के अनुसार शरीर में जमी वसा को नापा जाता है।

मगर सबसे एक्यूरेट तरीके वेस्ट हिप रेशियो और बॉडी मास इंडेक्स हैं। तो चिंता छोेड़िए और नापिए क्या है आपका बीएमआई और वेस्ट हिप अनुपात।

यह भी पढ़ें : इन 7 व्यायामों से पल भर में पाएं अंडरआर्म्स की चर्बी से छुटकारा

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।