बिना जिम जाए कम करना है बेली फैट, तो हर रोज करें भुजंगासन , मिलेंगे और भी फायदे

क्या आपको नहीं मिलता है जिम या वॉक पर जाने की समय और इसकी वजह से आपका वजन बढ़ रहा है या आप एक्टिव महसूस नहीं कर पा रहे हैं। तो आइए आपको बताते है एक ऐसा आसन जिसे आप घर पर ही आराम से कर सकती है।

bhujangasan ke fayade
लंबे समय तक योग को दिनचर्या में शामिल करने से स्वास्थ्य लाभ होते है। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated on: 20 January 2023, 11:19 am IST
  • 142
इस खबर को सुनें

कई महिलाएं ऐसी होती है जो घर के कामों में उलझे रहने के कारण अपने लिए कहीं बाहर जाने का समय नहीं निकाल पाती है जिससे उनकी मानसिक स्थिति पर प्रभावित होती है। कई बार सिर्फ घर से बाहर निकलने का समय नहीं होने पर या जो महिलाएं ऑफिस जाती है और घर दोनों संभालती है उनके लिए भी अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना मुश्किल हो जाता है। तो आइए आज आपको बताते है भुजंगासन आसन के बारे में जिसे आप घर पर या किसी भी जगह आराम से कर सकती है।

क्या है भुजंगासन

भुजंगासन को बैकबेंड पोज़ या कोबरा पोज भी कहा जाता है। भुजंगासन एक संस्कृत शब्द है जिसमें भुजंग का अर्थ होता है सांप। इसे भुजंगासन इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसमें आधा शरीर ऊपर की तरफ उठकर सांप की आकृति बनती है। भुजंगासन आराम से घर पर किया जा सकता है।

ये भी पढ़े- वेट लॉस के लिए कर रहीं हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग की शुरुआत, तो पहले जान लें इसके कुछ जरूरी नियम

कैसे करें भुजंगासन

सबसे पहले योगा मैट को फर्श पर बिछाएं और पेट के बल मैट पर लेट जाएं, दोनों हाथों को सिर के बगल में रखें और माथे को जमीन पर लगा लें।

इस दौरान अपने दोनों पैरों को पीछे की और सीधा रखें और दोनों पैरों के बीच थोड़ी दूरी बना लें।

अब अपने दोनों हाथों की हथेलियों को अपने कंधों के बराबर में लाएं। अब लंबी गहरी सांस लेते हुए जमीन की सहारा लेते हुए, अपने पेट के उपर के शरीर को ऊपर उठाएं।

आपको सबसे पहले सिर फिर चेस्ट और आखिर में पेट को ऊपर उठाएं।

सांस को अंदर की ओर खींचते हुए इसी आसन में ऊपर की और देखते हुए कुछ सेकंड रूकें।

सांस को बाहर की ओर छोड़ते हुए धीरे-धीरे पहली वाली अवस्था में आ जाएं।

इस आसन को 4 से 5 बार इसी तरह दोहराएं।

oorja badhane ke liye yoga
भुजंगासन आपकी पीठ और कंधे को स्वस्थ रखने के लिए बहुत उपयोगी है। चित्र- शटरस्टॉक।

यहां जानिए हर रोज नियमित रूप से भुजंगासन करने के 5 फायदे

1 डिप्रेशन को कम करता है

योग से मानसिक शांति भी मिलती है। मेडिटेशन जैसा चीजों से मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर किया जा सकता है। लंबे समय तक योग को दिनचर्या में शामिल करने से स्वास्थ्य लाभ होते है। एक स्टडी में की गई जिसमें हठ योग कार्यक्रम कराया गया जिसमें हफ्ते में 2 बार योग भुजंगासन का अभ्यास किया गया। 8 हफ्ते बाद परिणाम ये आया की प्रतिभागियों के डिप्रेशन के लक्षणों में कमी देखी गई।

2 कमर दर्द में आराम दिलाता है

भुजंगासन कमर, पीठ और रीढ़ की हड्डी के लिए फायदेमंद है। यह कमर दर्द और और पीठ के दर्द से राहत देता है। काफी देर एक जगह पर बैठे रहने के कारण होने पीठ और कमर दर्द से राहत के लिए भुजंगासन किया जा सकता है। यह कमर और पीठ को स्ट्रेच करता है।

ये भी पढ़े- Aerobic Exercise : हेल्दी और लंबी उम्र दोनों में मददगार हो सकती हैं एरोबिक एक्सरसाइज, जानिए क्या कहते हैं शोध

cobra pose
भुजंगासन से कब्ज को दूर कर बोवेल मूवमेंट सही किया जा सकता है। चित्र शटरस्टॉक।

3 फेफड़ों के स्वास्थ्य में सुधार करता है

फेफड़ों को स्वस्थ्य रखने और अच्छा रखने के लिए भुजंगासन लाभकारी हो सकता है। एनसीबीआई के शोध में ये बताया गया है कि फेफड़ों से जुड़ी समस्याओं के लिए योग बहुत मददगार है। इस आसन में सांस के नियंत्रण से फेफड़ो के लिए अच्छा माना जाता है।

4 गर्दन और कंधे के दर्द को दूर करता है

इंडियन जर्नल ऑफ पैलिएटिव केयर की एक रिसर्च के अनुसार, भुजंगासन में स्ट्रेचिंग की जाती है, जो शरीर को लचीला बनाने में मदद करती है। इस रिसर्च में यह बताया गया है कि स्ट्रेचिंग वाले आसन कंधे, पीठ और गर्दन के साथ-साथ पूरे शरीर के लिए फायदेमंद हो सकते है।

5 पेट की चर्बी को कम करता है

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन की एक रिसर्च में बताया गया कि, महिलाओं में पेट के मोटापे (Abdominal Weight) के लिए बहुत से आसन है जिसमें से भुजंगासन भी एक है।

ये भी पढ़े- यहां हैं 5 रियल वीमेन की रियल फिटनेस स्टोरी, जानिए कैसी रही इनकी ट्रांसफाॅर्मेशन जर्नी

  • 142
लेखक के बारे में
संध्या सिंह संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें