फॉलो
वैलनेस
स्टोर

योग व्‍हील या फोम रोलर्स- इन दोनों फिटनेस ट्रेंड में आपके लिए कब और क्‍या है बेहतर?

Updated on: 28 December 2020, 11:23am IST
फिटनेस जगत में भी नए-नए ट्रेंड आते रहते हैं। कभी नई डाइट, कभी इंटरवल ट्रेनिंग तो कभी नए इक्विपमेंट! ऐसे ही इक्विपमेंट हैं योग व्‍हील और फोम रोलर्स। लेकिन बेहतर क्या है? आइये जानते हैं।
विदुषी शुक्‍ला
  • 65 Likes
योग व्हील या फोम रोलर क्या बेहतर है? चित्र- शटरस्टॉक

अगर आप फिटनेस को लेकर सजग हैं तो योग आपके पसंदीदा व्यायामों में से एक होगा। योग के लाभों पर कोई संदेह नहीं है, लेकिन इसकी जटिलता के कारण कई लोग योग अच्छी तरह नहीं कर पाते थे। ऐसे लोगो की सहायता के लिए योग व्‍हील यानी योग पहिया लोकप्रिय हो रहा है।
फिटनेस जगत का ही एक और हालिया ट्रेंड है फोम रोलर्स जो जिम इत्यादि में अक्सर देखा जा सकता है।

दोनों का काम दूर से देखने मे काफी समान लगता है और यही कारण है कि ‘दोनों में से बेहतर क्या है’ की बहस छिड़ गई है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

तो आइए जानते हैं दोनों में से आपके लिए क्या है बेहतर विकल्प

क्यों लोकप्रिय हो रहा है योग व्‍हील

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि योग व्‍हील एक गोलाकार पहिया समान इक्विपमेंट है जिसे पीठ से जुड़े योगासनों में इस्तेमाल किया जाता है। ताकत और सहनशक्ति के निर्माण के साथ-साथ, आपकी एक्सरसाइज इक्विपमेंट में योग व्‍हील को जोड़ने के कई फायदे हैं। इसका एक सबसे अच्छा उपयोग यह है कि बैकबेंड्स में लोगों को सहज करने का यह एक सरल और सुरक्षित तरीका है। और व्‍हील वास्तव में आपकी पीठ को सीधी करने में मदद करता है।
यह बैक इंजरी को रोकने में भी आपकी मदद करता है। यह आपको पारंपरिक पोज के दौरान सहारा देता है। इससे आप ज्यादा लचीले बनते हैं।

योग व्‍हील कमाल का उपकरण है, जो आपको कई फायदे देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
योग व्‍हील। चित्र: शटरस्‍टॉक

विशेषज्ञों के अनुसार, एक योग व्‍हील को अपनी योग रूटीन में शामिल करने से आपको सामान्य लोगों से बेहतर होने का आत्मविश्वास मिलेगा। फिर आप उन पोज को भी आसानी से कर लेती हैं, जो आप पहले नहीं कर पाती थीं।

यह पीठ दर्द से भी राहत दिलाता है। जब आप दर्द में होते हैं तब आप सिर्फ आराम करना चाहते हैं, मगर योग व्‍हील के साथ कुछ आसान पोज का अभ्यास करने से दर्द में आराम मिलता है।
योग व्‍हील के साथ कुछ पोज का अभ्यास करने से पेट, छाती, कंधे और कूल्हों सहित शरीर के किसी भी हिस्से में हो रहे दर्द को कम कर सकते है।
यह आपकी रीढ़ की हड्डियों की मालिश भी करता है – आपको अलग से मालिश करवाने की आवश्यकता भी नहीं है।

अब बात करते हैं फोम रोलर की

एक फोम रोलर आमतौर पर सिलेंडर के आकार का होता है और घने फोम से बना होता है। लेकिन आप फोम रोलर्स को कई आकारों और साइज में और दृढ़ता के विभिन्न स्तरों में पा सकती हैं।
अपने वर्कआउट को शुरू करने से पहले मांसपेशियों के तनाव को कम करने के लिए फोम रोलिंग एक प्रभावी तरीका हो सकता है। यदि आपको पिछले कुछ दिनों से व्यायाम करने से मांसपेशियों में कोई बचा हुआ तनाव है, तो यह विशेष रूप से मददगार है।

फोम रोलर. चित्र- शटरस्टॉक

व्यायाम के बाद कूल डाउन के लिए भी फोम रोलिंग एक महत्वपूर्ण उपकरण हो सकता है। फोम रोलिंग मांसपेशियों में दर्द को कम करने और सूजन को कम करने के लिए फायदेमंद हो सकता है। इतना ही नहीं फोम रोलर सेल्युलाईट की उपस्थिति को अस्थायी रूप से कम कर देता है।
यह आपके फैट को ढीला करने और तोड़ने में मदद कर सकता है। फैशिया शरीर के कनेक्टिव टिश्यू हैं और सेल्युलाईट की उपस्थिति में योगदान करते हैं।

बहुत से लोग फोम रोलिंग को रिलैक्स करने के लिए फायदेमंद पाते हैं। आपकी मांसपेशियों में जकड़न से आपको तनाव हो तो फोम रोलर से राहत मिल सकती है। हालांकि ये सबके लिए एक जैसा प्रभावी नहीं है और इसके पीछे कोई शोध मौजूद नहीं है।
एक छोटे से अध्ययन में 20 महिला प्रतिभागियों ने या तो फोम रोल किया या ट्रेडमिल पर चलने के बाद 30 मिनट तक आराम किया। शोधकर्ताओं ने पाया कि फोम रोलिंग ने आराम करने की तुलना में तनाव के स्तर को काफी कम कर दिया था।

तो दोनों में बेहतर विकल्प क्या है?

दोनों ही उपकरण आपकी पीठ को टारगेट करते हैं, लेकिन जहां फोम रोलर एक वार्म अप या कूल डाउन का उपकरण है, योग व्‍हील व्यायाम में सहायक है।
अगर आप योग करती हैं तो जाहिर है कि आपको योग व्‍हील ही चुनना चाहिए। लेकिन अगर आप वेट ट्रेनिंग, कार्डियाे या कोई अन्य एक्सरसाइज करती हैं तो फोम रोलर आपके लिए बेहतर विकल्प है।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।