वेट लॉस करना है या हेल्दी वेट मैनेजमेंट, इन 4 योगासनों का जरूर करें अभ्यास, यहां हैं इनके फायदे और अभ्यास का तरीका

अपने वज़न को कम करने के लिए लोग कई प्रकार की फैंसी डाइट और एक्सरसाइज़ की मदद लेते हैं। मगर कुछ आसान योगासन हेल्दी वेटलॉस में सहायक साबित होते हैं। जानते वो 4 योगासन जो वेटलॉस में हैं मददगार
Bhujangasana weight management mei faydemand hai
इस योग को करने से पूरी बॉडी में खिंचाव महसूस होने लगता है, जिससे मसल्स को मज़बूती मिलती है।चित्र : शटरस्टॉक
ज्योति सोही Published: 17 Jun 2024, 08:00 am IST
  • 142

व्यस्त दिनचर्या के चलते व्यक्ति अपने शरीर में जमा होने वाली अतिरिक्त कैलोरीज़ पर फोकस नहीं कर पाता है। इसके चलते वज़न तेज़ी से बढ़ने लगता है और शारीरिक अंगों पर चर्बी जमा हो जाती है। उसे कम करने के लिए लोग कई प्रकार की फैंसी डाइट और एक्सरसाइज़ की मदद लेते हैं। मगर कुछ आसान योगासन हेल्दी वेटलॉस में सहायक साबित होते हैं। जानते वो 4 योगासन जो वेट मैनेजमेंट में हैं मददगार।

इस बारे में बातचीत करते हुए योग प्रशिक्षक एंव फिजियोथेरेपिस्ट डॉ गरिमा भाटिया बताती हैं कि योग से शरीर में ब्लड का फ्लो नियमित बना रहता है। इसके रोज़ाना अभ्यास से मांसपेशियों को टोन करने में मदद मिलती है और बार बार होने वाले मूड स्विंग को नियंत्रित किया जा सकता है। इसे नियमित तौर पर करने से शरीर में जमा अतिरिक्त कैलोरीज बर्न होने लगती है और शरीर एक्टिव बना रहता है। योग के अलावा आत्म निरीक्षण आवश्यक है। इससे शरीर में एक्यूमिलेट होने वाले वेट को कम करने में मदद मिलती है।

जानते वो 4 योगासन जो वेट मैनेजमेंट में हैं मददगार (Yoga poses for weight management)

1. कोणासन (Angle pose)

दिनभर काम करने से शरीर में मोटापे के अलावा बैड पोश्चर की समस्या भी बढ़ने लगती है। ऐसे में कोणासन को करने से शरीर की मांसपेशियों में खिंचाव आने लगता है। इससे पीठ में बढ़ने वाली स्टिफनेस को दूर किया जा सकता है और अतिरिक्त कैलोरीज़ बर्न हो जाती है।

जानें इसे करने की विधि

इस योगासन को करने के लिए मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। अब दोनों पैरों के मध्य दूरी बना लें और पीठ सीधी कर लें।

अब दाएं हाथ को उपर लेकर जाएं और बाएं हाथ को शरीर से चिपका लें। इसके बाद शरीर को बाईं ओर झुका लें।

गर्दन का उपर रखें और हाथ की ओर देखें। इस दौरान बाजूओं की कोहनियों को एकदम सीधा रखें।

इसके बाद शरीर को धीरे धीरे सीधा करें और बाजू को नीचे लेकर आएं। इसके बाद बाएं हाथ को उपर उठाएं।

30 सेकण्ड से 1 मिनट तक इसी मुद्रा में रहें और फिर वापिस सीधे खड़े हो जाएं।

Konasan ke fayde
योगा आपकी बॉडी को लचीला बनाने और शरीर में ब्लड फ्लो को बढ़ाने में मदद करता है। चित्र पिक्साबे

2. भुजंगासन (Cobra pose)

सूर्य नमस्कार के 12 आसनों में से एक भुजंगासन शरीर में एनर्जी को बूस्ट करता है। इससे पीठ और गर्दन में बढ़ने वाली ऐंठन दूर होती है। इसके अलावा पेट की मांसपेशियों में खिंचाव आने से अतिरिक्त कैलोरीज़ को बर्न किया जा सकता है।

जानें इसे करने की विधि

इसे करने के लिए पेट के बल मैट पर लेट जाएं और अपनी पीठ व टांगों को एकदम सीधा कर लें।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

अब दोनों हाथों को जमीन पर टिकाएं और शरीर के उपरी हिस्से को हाथों की मदद से उठाने का प्रयास करें।

सिर उपर उठाएं और गर्दन को पीछे की ओर लेकर जाएं। इस दौरान टांगों के मध्य दूरी बनाकर रखें।

शरीर के स्टेमिना के अनुसार इस योगासन को करें। इस दौरान सांस पर ध्यान केंद्रित करके रखें।

3. कंधरासन (Shoulder stand pose)

कमर पर जमा चर्बी को दूर करने के लिए कंधरासन का अभ्यास करें। इससे पेट, कमर और कंधों पर जमा अतिरिक्त फैट्स को बर्न किया जा सकता है। इससे मसल्स में खिंचाव आने लगता है, जो वेटलॉस में मदद करता है।

जानें इसे करने की विधि

इस योग को करने के लिए पीठ के बल मैट पर लेट जाएं। अब दोनों टांगों के मध्य दूरी करना रखें।

टांगों को घुटनों से मोड़ते हुए हिप्स से छूने का प्रयास करें। इसके बाद दोनों हाथों से पैरों को पकड़ लें।

कमर को धीरे धीरे उपर की ओर उठाएं और सिर को जमीन पर लगाकर रखें। चाहें तो सिर के नीचे तकिया रख लें।

शरीर की क्षमता के अनुसार इस योग मुद्रा का अभ्यास करें। 1 मिनट तक इसे करने के बाद शरीर को ढ़ीला छोड़ दें।

Weight management ke liye yogasan hai faydemand
कमर पर जमा चर्बी को दूर करने के लिए कंधरासन का अभ्यास करें। इससे पेट, कमर और कंधों पर जमा अतिरिक्त फैट्स को बर्न किया जा सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

4. चतुरंग दंडासन (Plank pose)

इस योग मुद्रा को नियमित रूप से करने से कोर मसल्स को स्ट्रेंथ मिलती है। इससे पेट पर जमा अतिरिक्त चर्बी को कम किया जा सकता है। इसके अलावा शरीर के पोश्चर में सुधार आने लगता है और बैक फैट की समस्या भी हल हो जाती है।

जानें इसे करने की विधि

इसे करने के लिए पेट के बल जमीन पर लेट जाएं और गहरी सांस लेकर शरीर को उपर की ओर उठाएं।

दोनों हाथों को मज़बूती से जमीन पर रखें और उनकी मदद से उपर उठें। पैर की उंगलियों के सहारे खड़े हों।

शरीर को 30 सेकण्ड से 1 मिनट तक इसी मुद्रा में रहने दें और गहरी सांस लें व धीरे धीरे रिलीज़ करें।

2 से 3 बार इस योगासन का अभ्यास करें और फिर मैट पर पेअ के बल लेट जाएं।

ये भी पढ़ें-  Yoga for kids : गर्मियों की छुट्टियों में बच्चों को करवाएं ये 8 योगासन, मेंटल और फिजिकल हेल्थ होगी बूस्ट

  • 142
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख