और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

बिना एक भी क्रंच किए फ्लैट बेली पाना है, तो हर रोज करें कपालभाति

Updated on: 10 December 2020, 13:40pm IST
कपालभाति एक पतली वेस्ट लाइन और एक फिट शरीर पाने में आपकी मदद करता है। अगर आप वजन कम करने के लिए केवल योग का सहारा लेना चाहती हैं, तो ये आसन जरूर करें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 78 Likes
baalon ke liye kapaalbhaati
कपालभाती करने से बाल मज़बूत होते हैं । चित्र: शटरस्‍टॉक

सांस अंदर लें और बाहर छोड़ें। पेट कम करने के लिए आपको बस इतना ही करना है। विश्वास नहीं होता? योग आपके लिए ये असल में कर सकता है। एक योगासन ऐसा है जो सिर्फ कुछ महीनों में ही आपके पेट की चर्बी को खत्म कर सकता है। वो है कपालभाति प्राणायाम।

हां ये वही योगासन है जिसके बारे में आपने योग गुरु रामदेव बाबा को कई बार बात करते सुना होगा। और इसकी इतनी बात क्यों न कि जाए अगर ये आसन कोई भी आसानी से कर सकता है और इसके लाभ पा सकता है।

योग विशेषज्ञ ग्रैंड मास्टर अक्षर के अनुसार, कपालभाति प्राणायाम वजन कम करने के लिए बहुत फायदेमंद है, क्योंकि इसका सीधा जुड़ाव हमारी पाचन शक्ति और पेट के स्वास्थ्य से है।

वे कहते हैं, “अगर आप ये प्रणायाम सही तरीके से करते हैं, तो कुछ हफ्तों में आपको मन चाहा परिणाम मिल सकता है। ये पाचन शक्ति और एब्डोमिनल मसल्स को मजबूत बनाता है। कपालभाति खून के बहाव को भी बेहतर करता है और हमारे नर्वस सिस्टम को भी।”

https://www.youtube.com/watch?v=RfRNITpV7yQ&feature=emb_logo

चूंकी अब आप इसके फायदे जानते हैं, अब समय है इसे करने के सही तरीके को सीखने का।

1. कपालभाति करने के लिए किसी भी आरामदायक आसान में बैठ जाएं जैसे कि सुखासन, वज्रासन या फिर पद्मासन।
2. आराम से बैठने के बाद सांस को अंदर बाहर करें। सांस अंदर लेते वक्त पेट को अंदर की तरफ सिकोड़ें जिससे आपके एब्डोमिनल मसल पर असर पड़े। अपना पूरा ध्यान अपनी सांस पर और अपने पेट पर रखें।

कपालभाति करने के तीन स्तर

शांत गति, मध्यम गति और तीव्र गति। शांत गति से शुरुआत करें, जब थोड़ा अनुभव हो जाए तब मध्यम गति पर चले जाएं। रोजाना अभ्यास से आप तीव्र गति पर भी पहुंच सकती हैं।
अक्षर कहते हैं, “हर स्तर के साथ आपकी गति बढ़ती है। ज्यादा गति का मतलब पेट के हिस्से से ज्यादा फैट का जलना क्योंकि इससे उस हिस्से में बहुत हीट पैदा होती है।

कपालभाति में आपकी पेट की मसल्‍स पर ज्‍यादा दबाव पड़ता है। चित्र: ग्रेंड मास्‍टर अक्षर
कपालभाति में आपकी पेट की मसल्‍स पर ज्‍यादा दबाव पड़ता है। चित्र: ग्रेंड मास्‍टर अक्षर

मगर यदि आपको इनमें से कोई भी स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्या है तो आप कपालभाति न करें-
अगर आपको किसी तरह की स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी शिकायत है तो योग या कोई भी कसरत नहीं करना चाहिए। क्योंकि एक तो वह उतना असरदायक नहीं होगा और इससे तकलीफ बढ़ भी सकती है।
ग्रैंड मास्टर अक्षर के अनुसार इन स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्याओं में कपालभाति नहीं करनी चाहिए।

हाइपरटेंशन, एंग्जायटी या फिर पैनिक अटैक्स। दिल, हर्निया, गैस्टिक अल्‍सर, एपिलेप्सी, वर्टिगो, माइग्रेन और ग्लूकोमा के मरीजों को कपालभाति नहीं करनी चाहिए।

तो अगर इनमें से कोई परेशानी आपको है, तो इसे घर पर न करें। वरना आप ये योग रोज करें और फ्लैट बेली पाएं बिना एक भी क्रंच किए।

यह भी पढ़ें- एक्‍सरसाइज न करने के अलावा आपकी ये 5 बुरी आदतें बढ़ा रहीं हैं आपका बैली फैट

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।