फॉलो
वैलनेस
स्टोर

World Diabetes Day : डायबिटीज आपके लिए साबित हो सकती है हेल्दी बीमारी, हम बताते हैं कैसे

Updated on: 10 December 2020, 13:30pm IST
डायबिटीज आज के समय की सबसे आम बीमारी है। विश्व की आधी आबादी इससे ग्रस्त है। यही कारण है इस वर्ल्‍ड डायबिटीज डे पर हम आपको मधुमेह के बारे में सब कुछ बता रहे हैं।
विदुषी शुक्‍ला
  • 81 Likes
सर्दियों में डायबिटीज के रोगियों को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखन की जरूरत है।चित्र-शटरस्टॉक।

हर वर्ष 14 नवंबर को हम विश्व मधुमेह दिवस (World Diabetes Day) के रूप में देखते हैं। इस दिन मधुमेह (Diabetes) से जुड़ी जागरूकता फैलाना प्रमुख उद्देश्य होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) डायबिटीज को दुनिया मे सबसे तेजी से फैलती बीमारी घोषित कर चुका है। ऐसे में जब आपको पता चले कि डायबिटीज आपके लिए हेल्‍दी बीमारी साबित हो सकती है, तो हैरान होना स्वाभाविक है।

क्यों डायबिटीज को हेल्दी बीमारी माना जाता है?

डायबिटीज का प्रमुख कारण है हमारा खराब लाइफस्टाइल। इसमें दिन भर कोई शारीरिक श्रम न करना, बैठे रहना, तनावपूर्ण जीवन शैली, खान पान की अस्वस्थ आदतें और अत्यधिक मीठा खाना शामिल है। लेकिन जब कोई व्यक्ति प्री डायबिटिक या डायबिटिक होता है, तो इलाज और बचाव के कई तरीकों को आजमाया जाता है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

हम समझाते हैं कैसे-

1. मधुमेह रोगी चीनी खाना छोड़ देते हैं

सही से परहेज कर रहे हों, तो मधुमेह रोगी रिफाइंड शुगर से बिल्कुल दूर रहते हैं। इतना ही नहीं, डायबिटिक मरीज सिंपल कार्बोहाइड्रेट को भी अवॉयड करते हैं।

चीनी एक बेहतरीन स्‍क्रबर है। चित्र: शटरस्‍टॉक
क्‍यों डायबिटीज को कहते हैं हेल्‍दी बीमारी। चित्र- शटरस्टॉक।

आप जानती हैं कि चीनी स्वास्थ्य के लिए मीठा जहर है। और चीनी का सेवन आपकी किडनी, हार्ट और लिवर फेलियर का जोखिम बढ़ाती है। इसके अतिरिक्त भी चीनी के बहुत नुकसान होते हैं।
जब डायबिटीज होने पर आप चीनी से दूरी बना लेते हैं, तो आप खुद को चीनी से होने वाली बीमारियों से बचा लेते हैं।

2. मधुमेह में रहना होता है नियमित रूप से एक्टिव

चाहें 30 मिनट वॉक हो, योग हो या कोई भी अन्य मोडरेट एक्सरसाइज, डायबिटीज के मरीज अपनी ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के लिए नियमित व्यायाम करते हैं। इस तरह का रूटीन उन्हें अन्य लोगों से ज्यादा स्वस्थ बनाता है। आमतौर पर डायबिटीज होने के बाद व्यक्ति स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सजग हो जाता है और एक बेहतर जीवन शैली अपना लेता है।

मोटापे से लिंक्‍ड डायबिटीज भारत में युवा महिलाओं की बढ़ती समस्‍या है। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. डायबिटीज में खाया जाता है अधिक फाइबर

फाइबर हमारे पेट में ग्लूकोज के अब्सॉर्ब होने की प्रक्रिया को नियंत्रित करता है। इसके कारण एक बार में न ब्लड शुगर बहुत बढ़ती है, न एकदम से कम होती है।
डायाबिटिक मरीजो के आहार में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, ताकि उनका ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहे। और फाइबर वजन कम करने में सहायक है। फाइबर आपका पेट लम्बे समय तक भरता है जिससे आप कम खाते हैं। यह आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है।

4. डायबिटीज के मरीजो को दी जाती है पूरी नींद लेने की सलाह

नींद हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए फायदेमंद होती है। अच्छी नींद हमारे शरीर की मरम्मत करने के लिए आवश्यक है। जब आपको डायबिटीज होती है, डॉक्टर कम से कम 9 घण्टे की नींद लेने की सलाह देते हैं। जब आप अच्छी नींद लेते हैं तो आप फ्रेश महसूस करते हैं और शरीर की मरम्मत होती है।

सीधे-सीधे कहें तो डायबिटीज में किये जाने वाले परहेज का अगर कायदे से पालन किया जाए, तो आप बाकी सभी बीमारियों से खुद को बचा सकते हैं। डायबिटीज के नियंत्रण के लिए अच्छी जीवनशैली अपनानी होती है और ऐसा करते ही आप ज्यादा स्वस्थ हो जाते हैं।
यही कारण है कि डायबिटीज एक हेल्दी बीमारी है। अगर आपको डायबिटीज है, तो इस सकारात्मक पहलू पर ध्यान दें, खुद को स्वस्थ रखें और इस बीमारी को अपने नियंत्रण में रखें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।