फॉलो

बैली फैट से छुटकारा पाना है, तो हर रोज बस 20 मिनट करें ये एक्सरसाइज, एब्स का सपना भी होगा सच

Published on:29 July 2020, 09:59am IST
पेट पर जमी जिद्दी चर्बी से छुटकारा पाना इतना मुश्किल नहीं है, बस आपको जरूरत है लगन, स्टेमिना और थोड़े से टाइम की।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 83 Likes
इस एक्सरसाइज की खास बात यह है कि ये पेट से चर्बी घटाने के साथ ही आपकी पूरी बॉडी को सुडौल बनाती है। चित्र: शटरस्टॉक

आपको यकीन नहीं हो रहा है कि सिर्फ 20 मिनट एक्सरसाइज करने से आपके पेट पर जमी बरसों पुरानी चर्बी से भी छुटकारा पाया जा सकता है? तो हम आपको बताते हैं कैसे। अधिकतर लोगों को लगता है कि एब्स पाने के लिए घण्टो जिम में वर्कऑउट करना पड़ता। लेकिन यह धारणा गलत है। एब्स के लिए चाहिए स्टैमिना, स्पीड और दृढ़ निश्चय कि आप एक्स्ट्रा कैलोरी नहीं खाएंगी।

एब्स पाने और बेली फैट बर्न करने के लिए आपको इस रूटीन को फॉलो करना है। और याद रहे ज्यादा एक्सरसाइज नहीं, सही एक्सरसाइज ज़रूरी होती है।

लेकिन ये सब शुरू करने से पहले, हम आपसे एक सवाल पूछना चाहेंगे: अपने शरीर के बाकी अंगों के लिए आप 15 या 20 रेप्स करती हैं, पर ऐसा क्यों है कि आप एब्स के लिए 500 रेप्स करने के बारे में सोचती हैं। अगर आप गूगल पर सर्च करें, तो भी पाएंगी कि यह गलत है।

क्रंचेस आपके एब्‍स को बिल्‍डअप करते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

तो अब टाइम है बैली फैट बर्न करके एब्स बिल्ड करने का

• 2 मिनट हॉप्पिंग
• 2 मिनट जम्पिंग जैक्स
• 2 मिनट हाई नी जम्प
• 2 मिनट क्रंचेस
• 2 मिनट लेग रेज़
• 2 मिनट लेग प्रेस
• 2 मिनट V अप्स
• 2 मिनट टो टच
• 2 मिनट माउंटेन क्लाइंबर
• 1 मिनट कमांडो प्लैंक
• 1 मिनट प्लैंक

इसके बाद ब्रेक लें और हार्ट बीट नार्मल होने के बाद ही पानी पियें।

ये एक्सरसाइज देख कर आप सोच रहे होंगे कि मात्र 11 एक्सरसाइज और 20 मिनट में एब्स कैसे आ सकते हैं? इसका जवाब सिंपल है, यह सेशन एक HIIT सेशन है जिसमें पूरी बॉडी के लिए वर्कऑउट है।

ध्यान से देखें तो यह वर्कआउट तीन हिस्सों में बंटा हुआ है-

1. वार्म अप

वार्म अप यानी मांसपेशियों को एक्सरसाइज के लिए तैयार करना। हमारी पहली तीन एक्सरसाइज हमारे पूरे शरीर को एक्सरसाइज के लिए रेडी करती हैं।

जर्नल ऑफ एक्सरसाइज रिहैबिलिटेशन की स्टडी के अनुसार वार्म अप करने से एक्सरसाइज का इम्पैक्ट बेहतर होता है और इंजरी की संभावना भी कम होती है।

2. एब्स की एक्सरसाइज

एक्सरसाइज नम्बर चार से नौ तक दूसरे हिस्से में आते हैं। ये एक्सरसाइज खास तौर पर एब्स के लिए ही हैं। जहां क्रंचेस अपर एब्स को टोन करतीं हैं वहीं लोअर एब्स के लिए लेग रेज़ और प्रेस हैं। V-अप्स और टो टच मिडल एब्स पर फोकस करते हैं और माउंटेन क्लाइंबर पूरे एरिया के लिए।
है ना यह कम्पलीट वर्कआउट।

3. कोर टाइट करने के लिए

जर्नल ऑफ फिजिकल थेरेपी साइंस के अनुसार प्लैंक करने से बॉडी का पॉस्चर और संतुलन इम्प्रूव होता है, एब्डोमेन की मसल्स भी मजबूत होती हैं और ओवर ऑल शेप अच्छा होता है।

इस 20 मिनट के वर्कआउट को हर अगले दिन करें। इसके साथ ही हेल्दी डाइट भी लें, जंक फूड को हाथ भी न लगाएं। एब्स के लिए यह वर्कऑउट बेस्ट है।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।