काम के बाद घर आकर कुछ करने का मन नहीं करता, तो थकान उतारने के लिए करें ये योगासन

गहरी सांस लेने वाले व्यायाम और हल्के स्ट्रेच के माध्यम से, योग पैरासिम्पेथेटिक नर्वस सिस्टम को सक्रिय करता है, जो शरीर की तनाव प्रतिक्रिया से लड़ने का काम करता है। यह कोर्टिसोल के स्तर को कम कर सकता है और आपको अधिक आराम और सहज महसूस करने में मदद कर सकता है।
Iss yogasan ko regular karein Wrist ko milti hai majbooti
इस योगासन को नियमित तौर पर करने से पोश्चर में सुधार आने लगता है और रिस्ट स्टिफनेस दूर रहता है। चित्र : शटरस्टॉक
संध्या सिंह Published: 5 Jul 2024, 06:00 pm IST
  • 124

हम में से कई लोग पूरे दिन डेस्क पर काम करते हुए तनाव, थकान और दर्द महसूस करते हैं। पीठ दर्द (Backache), सिर दर्द (Headache) और गर्दन दर्द (Neck Pain) ऐसे क्षेत्र हैं, जो देर तक बैठे-बैठे अकड़ जाते है। इन हिस्सों में पैदा होने वाला तनाव इनमें स्टिफनेस (Body stiffness) का कारण बनता है। लंबे समय तक अपने डेस्क पर बैठने के बाद, आपके शरीर का पॉश्चर भी खराब हो जाता है। यह सब अक्सर कई तरह की बीमारियों और यहां तक ​​की आगे चलकर आपके शरीर में कई तरह के दर्द का भी कारण बनता है। लेकिन अगर आप पूरे दिन में काम खत्म करने के बाद एक बार योग कर लें तो आपको इससे थकान उतारने (Yoga poses to unwind yourself) में काफी मदद मिल सकती है, मन और शरीर को आराम मिलता है और नर्वस सिस्टम को भी शांत (How to relax after work) करने में मदद मिलती है।

Period fatigue ke lakshan
 योग अभ्यासों में ध्यान और माइंडफुलनेस शामिल है, जो आपके विचलित मन को शांत करने में मदद कर सकता है। । चित्र :शटरस्टॉक

काम के बाद तनाव दूर करने के लिए योग के लाभ (Yoga poses to unwind yourself)

1 काम के बाद योग से तनाव दूर करें

गहरी सांस लेने वाले व्यायाम और हल्के स्ट्रेच के माध्यम से, योग पैरासिम्पेथेटिक नर्वस सिस्टम को सक्रिय करता है, जो शरीर की तनाव प्रतिक्रिया से लड़ने का काम करता है। यह कोर्टिसोल के स्तर को कम कर सकता है और आपको अधिक आराम और सहज महसूस करने में मदद कर सकता है।

2 योग से मन की शांति देने का काम करता है

कई योग अभ्यासों में ध्यान और माइंडफुलनेस शामिल है, जो आपके विचलित मन को शांत करने में मदद कर सकता है। यह मानसिक स्पष्टता आपको दिन भर की चिंताओं को दूर करने और वर्तमान समय पर ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकती है, जिससे आराम करना और शाम का आनंद लेना आसान हो जाता है।

3 शारीरिक रूप से आराम देता है

डेस्क पर बैठने, यात्रा करने या लंबे समय तक खड़े रहने से मांसपेशियों में तनाव और अकड़न हो सकती है। योग पोज़ मांसपेशियों को खींचती और मजबूत करती हैं, लचीलापन बढ़ाती हैं और गर्दन, कंधे, पीठ और कूल्हों जैसे क्षेत्रों में तनाव को दूर करती हैं।

4 नींद को बेहतर करने में मददगार

सोने से पहले योग का अभ्यास करने से नर्वस सिस्टम को शांत करने और आपके शरीर को आरामदायक नींद के लिए तैयार करने में मदद मिल सकती है। कोमल आसन और सांस लेने की तकनीकें नींद आने और सोते रहने को आसान बना सकती हैं, जिससे रात में ज़्यादा आराम मिलता है।

काम के बाद थकान दूर करने के लिए योगाभ्यास (Yoga poses to relax after work)

1 कैट-काउ पोज़ (cat cow pose)

मार्जरीआसन के नाम से मशहूर कैट-काउ पोज़ रीढ़ की हड्डी को खींचता और मज़बूत करता है। यह जकड़न और अकड़न को दूर करता है, नर्वस सिस्टम और पूरी पीठ को आराम देता है।

2 चाइल्ड पोज़ (child pose)

एक आरामदायक योग मुद्रा, चाइल्ड पोज़ पीठ के लिए बेहद आरामदायक है। यह ऊपरी पीठ से लेकर टेलबोन तक पूरी रीढ़ को आराम देता है, मन और शरीर को शांत और आराम देता है, और ब्रेन में ब्लड सर्कुलेशन और ऑक्सीजन की आपूर्ति में सुधार करता है।

child pose for lower back pain
चाइल्ड पोज़ है असरदार पीठ के दर्द के लिए असरदार है। चित्र शटरस्टॉक।

3 स्फिंक्स मुद्रा (Sphinx pose)

यह कोबरा पोज़ का रूप एक सौम्य बैकबेंड है जो ऊपरी पीठ और रीढ़ को फैलाता है। यह पूरे दिन अपने डेस्क पर बैठे रहने के लिए एक काउंटर-मूवमेंट के रूप में काम करता है जहां आप लगातार आगे की ओर झुकते रहते हैं।

4 डाइनवॉर्ड फेसिंग डॉग पोज़ (Downward-facing dog pose)

अधोमुख श्वानासन शरीर को बांहों से लेकर पैरों तक खींचता और लंबा करता है। कंधे मजबूत होते हैं, पीठ खिंचती और लंबी होती है, जबकि जांघों और काल्फ की मांसपेशियों में खिंचाव होता है, जिससे उन्हें पूरे दिन बैठने के कारण होने वाली जकड़न से राहत मिलती है।

ये भी पढ़े- दिन भर थकान और नींद के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ये 4 कारण, यहां हैं इससे उबरने के टिप्स

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

  • 124
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख