बिज़ी डे बन रहा है पीठ दर्द का कारण, तो ट्राई करें शिल्पा शेट्टी का बताया बर्ड-डॉग पोज, यहां हैं इसके फायदे

फिटनेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती तब होती है, जब आप बहुत बिज़ी होती हैं। और मंडे हम सब के लिए ऐसा ही एक दिन होता है। तो अगर आप भी इस व्यस्त दिन में भी स्टिफनेस से बचना चाहती हैं, तो बर्ड डॉग पोज़ आप ही के लिए है।

बर्ड-डॉग' पोज ग्लूट्स, कंधों और बाजुओं को मजबूत करता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published on: 16 January 2023, 16:38 pm IST
  • 145
इस खबर को सुनें

शिल्पा शेट्टी बॉलीवुड में सबसे फिट एक्ट्रेस में से एक हैं। वे अकसर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर फिटनेस के वीडियो शेयर करती रहती हैं। जिनमें से कुछ ट्रेडिशनल पोज होते हैं, तो कुछ ट्विस्टेड भी। असल में शिल्पा चाहती हैं कि उनके फैंस भी उन्हीं की तरह फिट रहें। इसलिए आज की मंडे मोटिवेशन पोस्ट इस बार शिल्पा ने डॉग बर्ड पोज़ एक्सरसाइज शेयर की है। आइए आपको बताते है क्या है ये और क्या है इसके फायदे।

जानिए इस बार क्या है शिल्पा शेट्टी की मंडे मोटिवेशन

शिल्पा शेट्टी ने मंडे मोटिवेशन में बर्ड-डॉग पोज शेयर किया है। शिल्पा अपने फैंस के लिए फिटनेस जुड़े कई फिटनेस टिप्स और एक्सरसाइज शेयर करती रहती हैं। शिल्पा ने बर्ड-डॉग पोज शेयर करते हुए लिखा “जब मैं सेट पर होती हूं तब भी कोई बहाना नहीं चलता, ट्रेनिंग जारी रहती है।” यानी ये पोज खास उनके लिए है, जिनके लिए मंडे बहुत बिज़ी होता है।

इस खास एक्सरसाइज को ‘बर्ड-डॉग’ पोज कहते हैं। यह कोर, ग्लूट्स, कंधों और बाजुओं को मजबूत करता है। यह संतुलन में सुधार पर काम करता है।”

ये भी पढे़- अगर आप वेट लॉस जर्नी पर हैं, तो जानिए दिन की शुरुआत में आपको सबसे पहले क्या खाना चाहिए

शिल्पा शेट्टी ने बताया कि वो काम में व्यस्त होने के बावजूद अपनी ट्रेनिंग जारी रखती हैं। व्यस्तता किसी के लिए भी एक्सरसाइज से बचने का बहाना हो सकती है। पर वे इसे अपने वर्कआउट के आड़े नहीं आने देतीं और वर्कआउट के लिए टाइम निकाल ही लेती हैं। उनके फिटनेस के इस जुनून को देखकर शिल्पा के फैंस भी काफी मोटिवेट होते हैं।

उन्होंने इससे पहले कोर मसल्स को टोन्ड करने के लिए एक्सरसाइज शेयर की थी। इस बार बर्ड-डॉग पोज़ एक्सरसाइज शेयर की है, जो कोर, ग्लूट्स, कंधों और बाजुओं को मजबूती देता है।

क्या है बर्ड-डॉग पोज

बर्ड डॉग एक साधारण कोर एक्सरसाइज है जो बैलेंस में सुधार करती है। यह रीढ़ की हड्डी के लिए बहुत अच्छी है। यह एक्सरसाइज पीठ के निचले हिस्से के दर्द से राहत देती है। यह एक्सरसाइज पॉश्चर, आपके कोर, हिप्स और पीठ की मांसपेशियों के लिए फायदेमंद है। बर्ड डॉग एक्सरसाइज में पूरे शरीर का उपयोग किया जाता है।

यह एक्सरसाइज वृद्ध वयस्कों सहित सभी उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है, और इसका उपयोग एक्सरसाइज के दौरान चोट से बचाने , रीढ़ को सही करने और पीठ के निचले हिस्से के दर्द को खत्म करने के लिए किया जा सकता है।

जानिए कैसे करना है बर्ड डॉग पोज

शिल्पा ने अपनी पोस्ट में बताया है कि (फॉर्म को सही करने के लिए, सुनिश्चित करें कि आप अपने हाथों को आर्मपिट्स के नीचे रखते हुए अपने हाथों और पैरों के बल यानी चौपाये की स्थिति में आएं। घुटने कूल्हों के नीचे रखें, कोर को टाइट रखें, पीठ को समतल रखें, ठुड्डी (chin) अंदर की ओर हो और आपकी गर्दन पीठ की सीध में हो)

अब इस एक्सरसाइज को करने के लिए विपरीत भुजा और पैर उठाएं (दाएं हाथ के साथ बाएं पैर को और फिर इसके विपरीत)। ये फर्श के समानांतर होने चाहिए।

सुनिश्चित करें कि आप कोर को टाइट रखें ताकि संतुलन बना रहे। एक सेकंड के लिए रुकें, फिर बदलें। अपने अंगों को 5 बार ऊपर नीचे करें, और फिर स्विच करें। सुनिश्चित करें कि आप अपनी पेल्विस (Pelvis) को किसी एक तरफ न झुकाएं। पेल्विस सीधी होनी चाहिए।

ये भी पढ़े- वेट लॉस करना चाहती हैं, तो उत्तरायण के बाद का समय है बेस्ट, एक एक्सपर्ट से जानिए जरूरी डाइट टिप्स

बर्ड डॉग एक्सरसाइज के फायदे

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार बर्ड डॉग एक्सरसाइज आपकी मासपेशियों के लिए बहुत अच्छी है। ये स्टेबिलिटी के लिए काम करती है। बर्ड डॉग एक्सरसाइज इरेक्ट स्पिना, रेक्टस एब्डोमिनिस और ग्लूट्स के लिए फायदेमंद है।

यह एक्सरसाइज पीठ की समस्या और हाइपर मोबिलिटी वाले लोगों के लिए अच्छी है। इससे आपका संतुलन और पॉश्चर अच्छा होता है।

व्यायाम करते समय, बर्ड डॉग पोज़ का अच्छे ढंग से लाभ पाने के लिए मांसपेशियों की मूवमेंट की बजाय अपने पूरे शरीर में मूवमेंट करें।

यह पीठ के निचले हिस्से के दर्द को कम कर सकता है और पीठ की चोट को ठीक करने के लिए यह एक अच्छा व्यायाम है। बर्ड-डॉग पाेज़ आपकी रीढ़ की हड्डी के लिए लाभदायक है और एक मजबूत कोर प्रदान करती है।

बर्ड-डॉग पोज़ एक्सरसाइज आप वर्क आउट के बाद या वर्कआउट से पहले कर सकती हैं। इस एक्सरसाइज को आप किसी भी समय कहीं भी कर सकती हैं। यह आपकी रीढ़ की हड्डी के लिए, पीठ के निचले हिस्से के लिए बहुत फायदेमंद है।

ये भी पढ़े- लो कार्ब डाइट कंट्रोल कर सकती है ब्लड शुगर लेवल, जानिए ये कैसे काम करती है

  • 145
लेखक के बारे में
संध्या सिंह संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें