तिल और गुड़ दोनों हैं हेल्दी, पर क्या वेट बढ़ा सकती है रेवड़ी? आइए चेक करते हैं

लोहड़ी का समय है ऐसे में रेवड़ी, गज्जक खाना तो बनता ही है, लेकिन हेल्थ का ध्यान रखना भी उतना ही जरूरी है। तो क्या रेवड़ी और गज्जक भी आपका वेट बढ़ा सकती हैं? आइए जानते हैं।
revadi ke fayade
मकर संक्रांति पर खास तौर पर खाई जाती है रेवड़ी चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 12 Jan 2023, 04:03 pm IST
  • 145

लोहड़ी और मकर संक्रांति साल की शुरुआत में आने वाले त्योहार हैं। इन त्योहारों के बाद से सर्दी थोड़ी कम और दिन लंबे होने लगते हैं। लोहड़ी और मकर संक्रांति दोनों ही त्योहारों पर रेवड़ी और गज्जक जैसे पारंपरिक चीजें न खाई जाए ऐसा हो नहीं सकता। पर फिटनेस फ्रीक्स इस दौरान कुछ चिंतित रहते हैं। उन्हें लगता है कि त्योहारों के इन मीठी चीजों को खाने से उनका वजन बढ़ सकता है। जबकि आहार विशेषज्ञ गुड़ और तिल दोनों को हेल्दी मानते हैं। तो आखिर क्या है सच्चाई? क्या वाकई हेल्दी तिल और गुड़ का यह कॉम्बिनेशन आपका वेट बढ़ा (does Revadi cause weight gain) सकता है? आईए चेक करते हैं।

इस बारे में क्या कहती हैं एक्सपर्ट

तिल, गुड़, मूंगफली के बहुत से स्वास्थ्य लाभ भी हैं और सर्दियों के मौसम में इन्हें खाना अच्छा भी होता है। लेकिन ज्यादा मात्रा में रेवड़ी का सेवन करने से ये आपके वेट के प्रभावित कर सकती हैं।

न्यूट्रिशनिस्ट और वेलनेस एक्सपर्ट करिश्मा शाह बताती हैं कि रेवड़ी से वेट नहीं बढ़ेगा, यदि इसे एक कम मात्रा में लिया जाए। अगर आप एक दिन में 1 से 2 किलो तक रेवड़ी खा रहे हैं, तो ये वेट बढ़ने (Weight gain) का कारण बन सकता है। 100 ग्राम रेवड़ी में 450 kacl कैलोरी होती है। जिसकी वजह से अगर आप इसे ज्यादा खाते हैं, तो आपका वेट बढ़ सकता है।

ये भी पढ़े- बिना जिम जाए कैलोरी बर्न करनी है, तो जमकर करें भंगड़ा , फायदे हम बता देते हैं

चीनी वाली रेवड़ी से बेहतर हैं गुड़ की रेवड़ी, पर लिमिट में खाएं

हालांकि सफेद चीनी वाली रेवड़ी से सुनहरे रंग की गुड़ वाली रेवड़ी ज्यादा हेल्दी मानी जाती हैं। पर इन्हें भी ज्यादा मात्रा में नहीं खाना चाहिए। गुड़ के स्वाद में मीठे होने के कारण इसमें ज्यादा मात्रा में कैलोरी हो सकती है। जिससे आपका वजन बढ़ सकता है।

असल में गुड़ में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर पाचन तंत्र को दुरुस्त करता है, जिससे हमारे भोजन को अच्छे से पचने में मदद मिलती है। भोजन के अच्छी तरह से पचने की वजह से सारे पोषक तत्व हमारे शरीर में अवशोषित होते हैं, जिससे भी वजन बढ़ता है।

कहा जाता है कि किसी भी चीज की अति अच्छी नहीं होती है। 10 ग्राम गुड़ में 40 कैलोरी होती है। इसलिए आप जितना ज्यादा गुड़ या गुड़ से बनी हुई चीजें अपनी डाइट में शामिल करेंगी उतना ही आपका वजन बढ़ने का खतरा बढ़ेगा।

Adhik gud ki mithaiyo se badh sakta hai wajan
गुड़ का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से बॉडी में ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

ये भी पढ़े- वेटलॉस जर्नी में दिखने वाले कुछ लक्षण हमारी बॉडी के लिए होते हैं हेल्दी

गुड़ के बारे में क्या कहती हैं रिसर्च

पब मेड की रिसर्च में पाया गया कि गुड़ में कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी भरपूर मात्रा में होता है। गुड़ का सेवन अगर अनियंत्रित तरीके से किया गया तो यह आपके मोटापे का कारण बन सकता है। वजन बढ़ने के कारण आपको कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए कम मात्रा में गुड़ या गुड़ से बनी चीजों का सेवन करें।

जो लोग मोटापे की समस्या से जूझ रहे है, वो लोग गुड़ से परहेज करें तो ही अच्छा होगा।

गुड़ का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से बॉडी में ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। बाजार में मिलने वाले गुड़ पूरी तरह शुद्ध नहीं होते है। इनमें सुक्रोज की मात्रा काफी अधिक होती है। सुक्रोज की वजह से शरीर में ओमेगा 3 फैटी एसिड नहीं बन पाते है, जिसकी वजह से सूजन और जलन जैसी समस्या हो सकती है।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

कितनी मात्रा में खाएं रेवड़ी

कुछ रेवड़ी गुड़ से बनी होती हैं, तो कुछ में चीनी मिली हुई होती है जिसके कारण ये हमारे शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकती है जिससे डायबिटीज के साथ-साथ मोटापे का खतरा भी बढ़ जाता है। आप एक दिन में 50 ग्राम रेवड़ी खा सकती हैं। जिससे आप केवल रेवड़ी से एक दिन में सिर्फ 225 kacl कैलोरी ही लेंगी।

ये भी पढ़े- मशीन से पहले ये 5 संकेत बता देते हैं कि बढ़ रहा है आपका वजन, तुरंत दें ध्यान

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख