इस ट्रिक के साथ बड़ी आसानी से कर सकती हैं 108 बार सूर्य नमस्कार, एक्सपर्ट से जानिए इसके बारे में सबकुछ

Published on: 15 February 2022, 12:15 pm IST

किसी भी एक्ट्रेस को एक बार में 108 सूर्य नमस्कार करते देखकर हमें लगता है कि वे यह कैसे कर सकती हैं, ऐसा तो हो ही नहीं सकता है! लेकिन क्या आप जानती हैं कि यह इतना मुश्किल भी नहीं है? इसलिए हम बता रहे हैं एक ऐसी ट्रिक जिससे आप बिना किसी समस्या के 108 बार सूर्य नमस्कार कर सकती हैं।

janien 108 baar soorya namskaar karne ka tareeka
जानें 108 बार सूर्य नमस्कार करने का तरीका। चित्र : शटरस्टॉक

आपने करीना कपूर खान, आलिया भट्ट, मलाइका अरोड़ा, और कई अन्य लोगों को सूर्य नमस्कार के 108 राउंड्स लगाते हुए देखा होगा। खैर, क्या आप जानते हैं कि ये सभी सुंदरियां इस रूटीन की इतनी बड़ी प्रशंसक क्यों हैं? ऐसा इसलिए है क्योंकि सूर्य नमस्कार सबसे अच्छे कार्डियो में से एक है जो आपको बस कुछ ही समय में वजन घटाने में मदद कर सकता है।

इस दिनचर्या के हिट होने का एक और कारण यह है कि यह वास्तव में बहौत असरदार है। एक बार जब आप सूर्य नमस्कार करने की प्रक्रिया में लग जाती हैं, तो आपको मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द और हड्डियों में अकड़न की शिकायत नहीं होगी।

सूर्य-नमस्कार, जैसा कि आप जानती हैं, कोई एक मुद्रा नहीं है, बल्कि ये 7 मुद्राओं का एक क्रम है। जो मिलकर एक सूर्य नमस्कार बनती हैं और इसमें कुल 12 स्टेप्स होते हैं

पीछे की ओर झुकना (Backward bend)
आगे की ओर झुकना (Forward bend)
लंज पोज (Lunge pose)
प्लैंक पोज (Plank pose)
छाती और अंग मुद्रा (Chest and limbs pose)
कोबरा पोज़ (Cobra pose)
डाउनवर्ड फेसिंग डॉग (Downward facing dog)

यह सात मुद्राएं सूर्य नमस्कार को अब तक के सबसे शक्तिशाली योग में से एक बनाती है!

आपने ज्यादातर सेलेब्स और योग विशेषज्ञों को 27, 54 और यहां तक ​​कि 108 बार सूर्य नमस्कार करते हुए देखा होगा। लेकिन जब आपकी बात आती है, तो 10 भी करना मुश्किल हो जाता है, खासकर यदि आप नौसिखिये हैं।

जानिए 108 बार सूर्य नमस्कार करने की तरकीब

चौंकिए मत क्योंकि यही एकमात्र तरकीब है जिससे आप एक बार में 108 बार सूर्य नमस्कार कर सकती हैं। लेकिन परिणाम की गारंटी है और पहले से कहीं ज्यादा तेज है।

जानें क्या है हमारे एक्सपर्ट ग्रैंड मास्टर अक्षर की राय – “योग में प्राणायाम के रूप में जाना जाने वाला श्वास अभ्यास आपके फेफड़ों की क्षमता में सुधार करने में आपकी सहायता कर सकता है। फेफड़ों की शक्ति के निर्माण और शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने के साथ-साथ यह आपकी सहनशक्ति का भी निर्माण करता है।

जब आपकी सहनशक्ति का स्तर बढ़ता है, तो आप अधिक सकारात्मक ऊर्जा से भी भरे होते हैं और इससे आपको सूर्य नमस्कार के अधिक राउंड करने में मदद मिल सकती है। सूर्य नमस्कार, जब सही ब्रीदिंग ट्रिक के साथ नहीं किया जाता है, तो आपको इसका उतना लाभ नहीं मिलता है जितना कि सही सांस लेने से। इस तरह, प्राणायाम आपको सूर्य नमस्कार के अधिक राउंड्स करने में मदद करता है, और इस प्रकार आपके अभ्यास से अधिकतम लाभ प्राप्त करता है।”

यहां बताया गया है कि आप इसका अभ्यास कैसे कर सकती हैं

चूंकि सात योग मुद्राएं हैं, इसलिए आपको श्वास के साथ शुरुआत करनी होगी और पीछे की ओर झुकना होगा। फिर सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें। अब आने वाले पोज़ के साथ-साथ सांस लेने के पैटर्न को बदलते रहें। और धीरे-धीरे, आप देखेंगी कि आप ज़्यादा बार सूर्य नमस्कार कर पा रही हैं। बस इसी तरह आपकी क्षमता बढ़ जाएगी।

इस मुद्रा को और अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए आप आगे क्या कर सकती हैं? खैर, अगला कदम इसमें स्पीड जोड़ने का होगा। बस याद रखें कि आप जितनी तेजी से जाएंगी, उतनी ही जल्दी आप अपना वजन कम कर पाएंगी।

तो लेडीज! इस ट्रिक के साथ बड़ी आसानी से करें सूर्य नमस्कार।

यह भी पढ़ें : क्या कार्डियो को योग से बदल सकते हैं? चलिए पता करते हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें