हर रोज सिर्फ अनुलोम-विलोम करने से आपकी सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे 

तनाव को कम करने से लेकर आपके दिल को फायदा पहुंचाने तक, अनुलोम विलोम या वैकल्पिक नासिका श्वास आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है।
अनुलोम विलोम के फायदे। चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 10 Dec 2020, 13:35 pm IST
  • 74

योग के अभ्यास को किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है। यह पीढ़ियों से जीने का एक तरीका रहा है। खासतौर पर इससे मिलने वाले विभिन्न स्वास्थ्य लाभों के कारण। ऐसी कोई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या नहीं है, जिसका समाधान योग में नहीं है। यही कारण है कि आज दुनिया भर में योग को अपनाया गया है।

योग की विधियों में से एक है- अनुलोम विलोम, जिसे वैकल्पिक नासिका श्वास के रूप में भी जाना जाता है। यह सबसे फायदेमंद श्वास अभ्यास में से एक है। आइए इसके कुछ लाभों पर नज़र डालें:

1.श्वसन प्रणाली को बेहतर बनाता है अनुलोम विलोम

जर्नल ऑफ आयुर्वेद एंड इंटीग्रेटिव मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया है कि वैकल्पिक श्वास अभ्यास फेफड़ों के कामकाज में सुधार कर सकते हैं।

अन्य योगाभ्यासों के साथ ही गहरी सांस लेना आपको माइग्रेन के लक्षणों को कम करने में मददगार साबित हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

इसके अलावा, यह फेफड़ों को मजबूत करता है और किसी भी श्वसन संबंधी समस्‍या में सुधार कर सकता है, जैसे कि अस्थमा या छाती का संक्रमण।

2.अनुलोम विलोम से पाचन में भी होता है सुधार

नियंत्रित श्वास लेने से शरीर में बेहतर रक्त और ऑक्सीजन के प्रवाह में मदद मिलती है, जो आपको पेट से संबंधित किसी भी संक्रमण, यहां तक ​​कि कब्ज को दूर करने में भी मदद कर सकता है। यह आपके पाचन तंत्र के कामकाज को बेहतर बनाने में भी मदद करता है।

3.तनाव कम करना है तो जरूर करें अनुलोम विलोम

हम सभी जानते हैं कि किसी भी तरह का व्यायाम या शारीरिक गतिविधि कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में मदद करती है। यही बात अनुलोम विलोम के मामले में भी सच है!

अमरूद में मौजूद खास तत्‍व आपको तनावमुक्‍त करते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
अगर आप तनाव में रहती हैं, तो अनुलोम विलोम जरूर करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

जर्नल ऑफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन में प्रकाशित एक अध्ययन के शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन प्रतिभागियों ने अनुलोम विलोम का अभ्‍यास किय, वे  सूर्यनमस्कार का अभ्यास करने वाले प्रतिभागियों की तुलना में चिंता के स्तर में ज़्यादा सुधार दिखाते पाये गए।

4.खर्राटों को कम करता है

अनुलोम विलोम में नियंत्रित श्वास आपके नासिका में मौजूद किसी भी प्रकार की रुकावटों को दूर करने में मदद करता है, और ऑक्सीजन के सुचारू और निरंतर पारित होने की अनुमति देता है। यह सुनिश्चित करता है कि खर्राटे जैसे मुद्दे बाद में कम हो जाते हैं।

5.दिल को स्वस्थ रखता है

अनुलोम विलोम बेहतर ऑक्सीजन की आपूर्ति के साथ रक्त को शुद्ध करने और किसी भी रुकावट को दूर करने में मदद करता है। यह बदले में, रक्तचाप को विनियमित करने में मदद करता है, जिससे किसी भी हृदय रोग का खतरा कम हो जाता है।

आपके दिल का स्वास्थ्य बहुत मायने रखता है।
आपके दिल का स्वास्थ्य बहुत मायने रखता है। चित्र- शटरस्टॉक।

जर्नल ऑफ फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स मैनेजमेंट में प्रकाशित एक अध्ययन में यह भी पाया गया कि इस वैकल्पिक नासिका श्वास का हृदय स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

तो आप किसका इंतज़ार कर रहे हैं? हर दिन अनुलोम विलोम का अभ्यास करें और लाभ प्राप्त करें!

यह भी देखे:जंपिंग है भाग्‍य श्री की ब्‍यूटी और फि‍टनेस का सीक्रेट, आप भी जानें जंपिंग के कुछ और फायदे 

  • 74
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख