सिरदर्द लगातार बना हुआ है, तो लाइफस्टाइल में बदलाव के साथ आपको करना चाहिए इन 4 योगासनों का अभ्यास

कई लोगों को बहुत अधिक सिरदर्द होता है और ये समस्या उन्हे होती है जो माइग्रेन की समस्या का सामना करते है। लेकिन कई लोगों को बिना माइग्रेन के भी सिरदर्द रहता है। इससे राहत के लिए करें ये 4 योगासान।
सभी चित्र देखे migrain
सिरदर्द स्ट्रेस, माइग्रेन और गर्दन के डिसफंक्शन के साथ-साथ सिर की चोट से हो सकता है। चित्र:एडॉबीस्टॉक
संध्या सिंह Published: 17 Mar 2024, 12:30 pm IST
  • 147

सिरदर्द एक सामान्य और कभी-कभी परेशान करने वाली स्थिति है, जो अक्सर दर्द का कारण बनती है और काम करने की गुणवत्ता को कम करती है। कई लोगों को बहुत अधिक सिरदर्द होता है और ये समस्या उन्हे होती है जो माइग्रेन की समस्या का सामना करते है। लेकिन कई लोगों को बिना माइग्रेन के भी सिरदर्द रहता है। अब इसके लिए रोज रोज दवाई लोना तो बिल्कुल ठीक नहीं है क्योंकि इससे शरीर बहुत प्रभावित होता है। लेकिन कुछ एक्सरसाइज है जो आपके सिरदर्द को ठीक कर सकती है।

इंटरनेशनल हेडैक सोसाइटी के अनुसार, 14 अलग-अलग सिरदर्द डिसऑडर होते हैं। सिरदर्द स्ट्रेस, माइग्रेन और गर्दन के डिसफंक्शन के साथ-साथ सिर की चोट, जबड़े की डिसऑडर और गर्दन की चोट के कारण भी हो सकता है।

चलिए जानते है सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए व्यायाम

1 चिन टक्स (Chin tucks)

ऑफिस में डेस्क पर हम में से हर कोई लंबे समय तक बैठकर काम करने वाला है। इसके कारण लगभग हर व्यक्ति अपने डेस्क पर झुककर और अफने कंधों को लंबे समय तक ऊपर नहीं कर पाते है। चिन टक आपके सिर, गर्दन और कंधे के पॉश्चर को सीधा करने में मदद करता है।

in streching eksarasaij kee madad se tanaav ko chhod den
अपर ट्रैपेज़ियस स्ट्रेच गर्दन और कंधों में तनाव दूर करने के लिए एक सरल व्यायाम है। चित्र : शटरस्टॉक

कैसे करें चिन टक्स

अपने कंधों को आराम से रखें और अपने सिर को सीधा रखते हुए सीधे बैठें या खड़े रहें।

धीरे से अपनी चिन को पीछे की ओर सीधा खींचें जैसे कि आप डबल चिन बनाने की कोशिश कर रहे हों।

अपने सिर को ऊपर या नीचे झुकाए बिना अपनी आंखें और नाक आगे की ओर रखें।

अपनी गर्दन के पिछले हिस्से पर हल्का खिंचाव महसूस करते हुए, 5-10 सेकंड के लिए ठोड़ी की स्थिति को पकड़ें।

धीरे-धीरे चिन को छोड़ें और प्रारंभिक स्थिति में लौट आएं।

व्यायाम को 10-15 बार दोहराएं, जिससे आप इसे आराम से कर सके।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

2 अपर ट्रैपेज़ियस स्ट्रेच (Upper trapezius stretch)

अपर ट्रैपेज़ियस स्ट्रेच गर्दन और कंधों में तनाव दूर करने के लिए एक सरल व्यायाम है। इससे आपको सिरदर्द में भी आराम मिलता है।

कैसे करें अपर ट्रैपेज़ियस स्ट्रेच

इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको सीधे खड़े होना है या बैठना है।

अपने दाहिने हाथ को अपनी पीठ के पीछे ले जाएं और अपनी बाईं कलाई को पकड़ लें।

अपने बाएं हाथ को धीरे से नीचे की ओर और थोड़ा दाहिनी ओर खींचें, अपने सिर को अपने दाहिने कंधे की ओर झुकाएं।

अपनी गर्दन और कंधे के बाईं ओर हल्का स्ट्रेत करते हुए 15-30 सेकंड तक स्ट्रेच करें।

इसी तरह से आपको दूसरी तरफ स्ट्रेच करना है।


यह पीठ और गर्दन की गतिशीलता में सुधार करने के लिए बहुत अच्छा है। चित्र- अडोबी स्टॉक

3 कैट कॉउ स्ट्रेच (Cat-Cow stretch)

यह उन लोगों के लिए पीठ और गर्दन की गतिशीलता में सुधार करने के लिए बहुत अच्छा है जो काम पर लंबे समय तक बैठे रहते हैं।

कैसे करें कैट कॉउ स्ट्रेच

सबसे पहले आपने हाथों और घुटनों को फर्श पर रखकर, घुटनों को कूल्हों के नीचे और कलाइयों को कंधों के नीचे रखकर शुरुआत करें।

रीढ़ की हड्डी की के सीधा रखते हुए शुरुआत करें, पीठ की जमीन के समांतर रखें और पेट की मांसपेशियों को शामिल करते हुए श्वास लें, और अपने सिर और टेलबोन को ऊपर उठाते हुए अपनी पीठ को झुकाएं।

फिर अपनी रीढ़ को छत तक गोल करते हुए सांस छोड़ें, पेट को रीढ़ की ओर खींचें और साथ ही टेलबोन को अंदर खींचें और चिन को छाती की ओर झुकाएं।

4 स्कैपुलर रिट्रैक्शन (scapular retraction)

काम पर बैठते समय किया जाने वाला यह सबसे सरल व्यायाम है। यह आगे की ओर सिर और गोल कंधों की मुद्रा से निपटने में मदद करता है।

कैसे करें स्कैपुलर रिट्रैक्शन

सबसे पहले सीधे बैठे या खड़े हो जाएं।

अपनी भुजाओं को बगल में रखें या अपनी कोहनियों को कंधे की ऊंचाई पर रखते हुए उन्हें 90 डिग्री के कोण पर मोड़ें।

अपने कंधे के ब्लेड को अपनी रीढ़ की ओर पीछे और नीचे खींचकर एक साथ दबाएं।

अपने कंधे के ब्लेड के बीच की मांसपेशियों में एक स्ट्रेच या दबाव महसूस करें।

10-15 रिपीटेशन के लिए दोहराएं।

ये भी पढ़े- अच्छे रिजल्ट नहीं मिलने देती एक्सरसाइज के दौरान की जाने वाली ये 5 मिस्टेक्स

  • 147
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख