वैलनेस
स्टोर

पेरेंटल बर्नआउट से जूझ रहीं हैं, तो ये आसन करेंगे कूल मॉम बनने में आपकी मदद

Published on:29 June 2021, 12:41pm IST
पेरेंटल बर्नआउट दिमाग पर असर डालने वाली एक ऐसी भावना है, जो बच्चों की देखभाल करने की आपकी क्षमता में अवरोध पैदा कर सकती है। आइये बात करते हैं कुछ ऐसे आसन के बारे मैं जो इस समस्या से निपटने में आपकी काफी मदद करेंगे।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
योगाभ्यास आपको कूल मॉम बनने में मदद करेगा। चित्र : शटरस्टॉक

माता-पिता बनने का सपना हर कोई देखता है, लेकिन बच्चों की देखभाल करना काफी चुनौतीपूर्ण कार्य है। सभी पेरेंट्स चाहते कि उनके बच्चों की परवरिश अच्छी और स्वस्थ तरीके से हो। लेकिन इसके साथ वह अपनी सेहत का ख्याल रखना भूल जाते हैं, जिसके चलते पेरेंट्स मानसिक और शारीरिक तनाव और थकावट महसूस करने लगते हैं। इसका परिणाम होता है पेरेंटल बर्नआउट।

ऐसी स्थिति से उबरने के लिए मन का शांत रहना और शरीर की थकावट दूर होना बहुत ज़रूरी है। ऐसे में योग को बहुत कारगर और आरामदायक माना जाता है। योग करने से मानसिक शांति मिलती है और शरीर कई तरह के रोगों से दूर रहता है। तो आइए जानते हैं कि वो कौन से आसन हैं, जो पेरेंटल बर्नआउट से उबरने में आपकी मदद कर सकते हैं।

पेरेंटल बर्नआउट से निजात दिलाने वाले योगासन

1 दिमाग को शांत करेगा बालासन

बालासन मन को शांत और तनाव से राहत देने वाली मुद्रा है, जिसे अंग्रेजी में चाइल्ड पोज (Child Pose) के नाम से भी जाना जाता है। यह एक विश्राम मुद्रा है जो कूल्हों, जांघों और पैरों में खिंचाव पैदा करती है। साथ ही कंधे, कमर और सीने के दर्द से राहत दिलाता देता है। इसके अभ्यास के दौरान, अपनी श्वास पर ध्यान बनाए रखना जरुरी है।

बालासन आपको माइग्रेन से भी राहत दिलाता है। चित्र-शटरस्टॉक।

ऐसे करें बालासन

1. सबसे पहले ज़मीन पर वज्रासन में बैठ जाएं और अपनी रीढ़ को सीधा रखें।
2. सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर ले जाएं।
3. सांस छोड़ते हुए अपनी कमर के ऊपरी भाग और दोनों हाथों को आगे की ओर झुकाएं।
4. हाथों को सीधा रखें, और सिर को जमीन पर लाएं।
5. 30 सेकंड से लेकर कुछ मिनट तक इसी मुद्रा में रहें।
6. फिर वापस वज्रासन में आ जाएं।

2 अनिद्रा से बचाएगा पश्चिमोत्तानासन

पेरेंटल बर्नआउट में नींद न आने की स्तिथि भी पैदा होने लगती है। ऐसे में आप इस आसन से अपनी अनिद्रा की समस्या का भी समाधान कर सकती हैं। साथ ही उच्च रक्तचाप और बांझपन का भी उपचार किया जा सकता है।

पश्चिमोत्तानासन करने की विधि

1. सबसे पहले दोनों पैरों को बाहर की ओर फैलाते हुए जमीन पर बैठ जाएं।
2. पैर की उंगलियां आगे और एक साथ रहनी चाहिए।
3. सांस लेते हुए अपनी बाहों को ऊपर उठाएं और जहां तक संभव हो शरीर को आगे की ओर झुकाने की कोशिश करें।
4. आगे की ओर झुकते समय सांस छोड़ें।
5. आखिरी चरण में दोनों हाथों से पैरों के तलवों को और नाक से घुटनों को छुएं।
6. शुरू में इसे 5 सेकंड के लिए करें और धीरे-धीरे जब तक आप सहज महसूस करते हैं, तब तक मुद्रा में बने रहने की कोशिश करें।
7. धीरे-धीरे सांस लेते हुए अपनी मूल स्थिति में आ जाएं।

3 तनाव दूर भगाएगा अनुलोम-विलोम

पेरेंट्स बच्चों की देखभाल करते हुए काफी तनाव महसूस करने लगते हैं। ऐसे में ज़रूरी है कि नियमित रूप से अनुलोम-विलोम किया जाए। यह शरीर में ऑक्सीनज की आपूर्ति को संतुलित कर आपको तनावमुक्त होने में मदद करेगा।

जानिए अनुलोम विलोम आपके लिए कैसे फायदेमंद है। चित्र-शटरस्टॉक

अनुलोम विलोम करने की विधि

1. सबसे पहले दोनों पैरों को मोड़ कर बैठ जाएं।
2. इसके बाद दाएं अंगूठे से अपनी दाहिनी नासिका पकड़ें और बाई नासिका से सांस अंदर की ओर खीचें।
3. अब अनामिका अंगुली से बाई नासिका को बंद कर दें।
4. इसके बाद दाहिनी नासिका खोलें और सांस बाहर छोड़ दें।
5. अब दाहिने नासिका से ही सांस अंदर लें और उसी क्रिया को दोहराते हुए बाईं नासिका से सांस बाहर छोड़ दें।

4 मांसपेशियों का दर्द दूर करता है मार्जरी आसन

बच्चों के साथ दौड़ते-भागते कभी-कभी आपकी मांसपेशियां कराहने लगती हैं। तब और भी जब आप कोविड के कारण बाहर नहीं निकल पा रहीं हैं और बच्चों को भी घर पर ही एंटरटेन करने की जिम्मेदारी आपकी है।

इस आसन को करने से रीढ़ और पीठ की मांसपेशियों का लचीलापन बना रहता है। जिससे पेट के सभी अंगों की अच्छी मालिश हो जाती है। जिससे पाचन क्रिया में सुधार करने में मदद मिलती है और आपकी शारीरिक थकान दूर होती है।

कैट काउ पोज आपको जकड़न से राहत दिलाता है।

मार्जरी आसन करने कि विधि

1. सबसे पहले आप फर्श पर एक योगा मैट को बिछा कर अपने दोनों घुटनों को टिका कर बैठ जाएं।
2. अब अपने दोनों हाथों को फर्श पर आगे की ओर रखें।
3. अपने दोनों हाथों पर थोड़ा सा भार डालते हुए अपने हिप्स को ऊपर उठायें।
4. अपनी जांघों को ऊपर की ओर सीधा करके पैर के घुटनों पर आगे की ओर झुक जाएं।
5. अब आप एक लंबी सांस लें और अपने सिर को पीछे की ओर झुकाएं।
6. अब अपनी नाभि को नीचे से ऊपर की तरफ धकेलें और रीढ़ की हड्डी के निचले भाग को ऊपर उठाएं।
7. अब अपनी सांस को बाहर छोड़ते हुए अपने सिर को नीचे की ओर झुकाएं और मुंह की ठुड्डी को अपनी छाती से लगाने की कोशिश करें।
8. ऐसे में अपने घुटनों के बीच की दूरी को देखें और ध्यान रखें की इस मुद्रा में आपके हाथ झुकने नहीं चाहिए।
9. इसके बाद लम्बी और गहरी सांस लें।
10. अब फिर से अपने सिर को पीछे की ओर करें और इस क्रिया को आप 10-20 बार दोहराएं।

तो लेडीज, घबराएं नहीं। योग में आपकी हर समस्या का समाधान है। तो बच्चों के साथ खूब मस्ती करें, और तनावमुक्त होने की जिम्मेदारी योग पर छोड़ दें।

यह भी पढ़ें – अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021: जानिये 5 योगासन जो इम्युनिटी बढ़ाने में करेंगे आपकी मदद

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।