हर रोज़ सुबह कंधों में अकड़न के साथ जागती हैं? तो जानिए इससे छुटकारा पाने का तरीका

Published on: 28 April 2022, 08:00 am IST

कंधों में अकड़न, दर्द और गतिहीनता को फ्रोजन शोल्डर (frozen shoulder) कहा जाता है। ये फिजियोथेरेपी टिप्स और व्यायाम इसका इलाज करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

shoulder stiffnness exercise
कंधों में है समस्या तो करें ये एक्सरसाइज़। चित्र : शटरस्टॉक

क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप आराम करने एक लिए बिस्तर पर गए, लेकिन अगले दिन कंधों में अकड़न आ गई? इसकी वजह से न कुछ कर पाना और न ही कुछ उठा पाना आपके लिय संभव है। इसमें से कुछ को आपके सोने की मुद्रा की वजह से हो सकता है। जिसे फ्रोजन शोल्डर (frozen shoulder) कहा जाता है। और यह वाकई तकलीफ देह हो सकता है। आइए जानते हैं फ्रोजन शोल्डर के कारण (frozen shoulder causes) और उससे उबरने के उपाय (how to cure frozen shoulder)।

फ्रोजन शोल्डर (frozen shoulder) के कारणों और इसके इलाज के तरीकों को जानने के लिए, हेल्थ शॉट्स ने Phyt.Health (भारत का पहला AI- सहायता प्राप्त डिजिटल फिजियोथेरेपी प्लेटफॉर्म) में फिजियोथेरेपी संचालन के प्रमुख डॉ अश्विनी मराठे से संपर्क किया।

मराठे कहते हैं, “फ्रोजन शोल्डर या एडहेसिव कैप्सुलिटिस एक आम बीमारी है जो कंधे के बॉल-एंड-सॉकेट जोड़ को प्रभावित करती है। इसका प्रभाव काफी गंभीर होता है और अगर समय पर इसका इलाज न किया जाए तो यह बिगड़ जाता है। यह आमतौर पर 40-60 आयु वर्ग के लोगों और मधुमेह, थायराइड और हृदय संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोगों को प्रभावित करता है। पुरुषों की तुलना में महिलाएं इससे अधिक पीड़ित हैं।”

फ्रोजन शोल्डर के लक्षण क्या हैं?

रोगी दर्द, कठोरता और कंधे की जकड़न से पीड़ित होते हैं। इसके लक्षणों में सिर के ऊपर अपनी बाहों को उठाने और पीछे पहुंचने में असमर्थता शामिल है। प्रभावित होने के बाद साधारण हाथ की गति प्रभावित होती है। यह पूरे शरीर में किसी अन्य जोड़ को प्रभावित नहीं करता है।

डॉ मराठे कहते हैं – “फ्रोजन शोल्डर से पीड़ित लोग तीन चरणों से गुजरते हैं। पहला है ठंड। दूसरा फ़्रोजन। इस विकार का कारण अज्ञात है। ज्यादातर मामलों में रिकवरी होती है, हालांकि कुछ मामलों में कुछ सीमाएं रह सकती हैं।”

आप कंधों में अकड़न का इलाज कैसे कर सकती हैं?

मराठे के अनुसार, “भौतिक चिकित्सा और औषधीय उपचार जैसे इंट्रा-आर्टिकुलर कॉर्टिकोस्टेरॉइड इंजेक्शन, आर्थ्रोस्कोपिक कैप्सुलर रिलीज और सर्जरी जैसे विभिन्न उपचार उपलब्ध हैं। हालांकि, चिकित्सक बीमारी के इलाज के लिए दवाओं की सिफारिश करते रहते हैं। जब स्थिति में सुधार नहीं होता है और 3-6 महीने के बाद व्यक्ति विकलांग हो जाता है, तो सर्जरी की आवश्यकता होती है।”

kandhon mein akdan ka ilaaj kiya ja sakta hai
कंधों में अकड़न का इलाज किया जा सकता है। चित्र ; शटरस्टॉक

हालांकि, पारंपरिक तरीकों को चुनने से ज्यादातर समय मदद मिलती है। फ्रोजन शोल्डर की स्थिति में सुधार केवल सही व्यायाम और फिजियोथेरेपी की मदद से देखा जाता है।

अधिकांश चिकित्सा पेशेवर फ्रोजन शोल्डर के रोगी को राहत देने के लिए फिजियोथेरेपी का सुझाव देना पसंद करते हैं। कुछ स्ट्रेचिंग व्यायाम भी प्रभावित कंधे में जकड़न को कम करने में मदद कर सकते हैं।

यदि आप भो फ्रोजन शोल्डर से पीड़ित हैं, तो ये अभ्यास दर्द को कम कर देंगे:

1.पेंड्यूलम एक्सरसाइज

कमर के पास झुकें और हाथ को आराम से शरीर से दूर लटकने दें।
कंधे के पास के जोड़ से हाथ को हिलाते हुए अपने शरीर को गोलाकार घुमाएं।
कंधे को आराम देते हुए छोटे – छोटे मूवमेंट करते रहें। ऐसा 2-3 मिनट तक करते रहें।

2. टेबलटॉप आर्म स्लाइड

टेबलटॉप के पास वाली कुर्सी पर बैठ जाएं। प्रभावित हाथ को उठाएं और अप्रभावित हाथ के साथ रखें। मेज पर हाथ रखें।

शरीर के वजन का उपयोग करते हुए कमर से आगे की ओर झुकें।
इस स्थिति में 5-10 सेकेंड तक रहें। उसी गति का उपयोग करते हुए, वापस सीधी स्थिति में आ जाएं।

wall strech ismein aapki madad kar sakta hai
वॉल स्ट्रेच इसमें आपकी मदद कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

3. वॉल स्लाइड

दीवार की ओर मुंह करके खड़े हो जाएं। दोनों हथेलियों को दीवार से सटाकर रखें।
हाथों को दीवार के ऊपर ले जाएं। पूरे हाथ और हाथ भी ऊपर की ओर बढ़ने चाहिए।
इस स्ट्रेच को 15-20 सेकेंड तक करते रहें।

4. टॉवल स्ट्रेच

जो हाथ सही हो उसमें तौलिया लें और इसे अपनी पीठ के पीछे गिरने दें।
प्रभावित हाथ को धीरे-धीरे पीठ के पीछे ले जाएं और तौलिये को पकड़ लें।
तौलिये को धीरे से ऊपर की ओर खींचे। यह मूवमेंट प्रभावित हाथ को स्ट्रेच करने में मदद करता है। ऐसा रोजाना कुछ मिनट तक करते रहें।

कंधों की अकड़न से पीड़ित लोग इन एक्सरसाइज़ को ज़रूर ट्राई करें।

यह भी पढ़ें : बैक बोन को मजबूत रखना है तो हर रोज़ करें इन 5 स्पाइन स्ट्रेच का अभ्यास

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें