फॉलो
वैलनेस
स्टोर

गैस और एसिडिटी से त्रस्‍त हैं? तो तुरंत राहत पाने के लिए पवनमुक्तासन पर करें भरोसा 

Published on:18 October 2020, 09:00am IST
यदि आपको गैस और एसिडिटी के कारण असुविधा हो रही है, तो पाचन के लिए योग की ओर रुख करें। पवनमुक्तासन आपको तुरंत इस समस्‍या में आराम दिला सकता है। 
टीम हेल्‍थ शॉट्स
पवनमुक्तासन। चित्र: शटरस्टॉक

जब आपका पेट गैस और एसिडिटी से भर जाता है, तो आप खुद को असहाय और परेशान महसूस करती होंगें। उस समय आप कितने परेशान हैं, यइ किसी को बता भी नहीं पाते। जब पेट में दर्द होता है, तो कब्ज भी होने लगती  है? अगर ऐसा कुछ है जिससे आप नियमित रूप से पीड़ित हैं, तो हमें यकीन है कि आप एंटासिड पर निर्भर होंगेी। लेडीज़, अब उस आदत से छुटकारा पाएं क्योंकि हमें आपके लिए एक प्राकृतिक इलाज मिल गया है। हां, हम पाचन के लिए योग का उपयोग करने के बारे में बात कर रहे हैं।

अब आप यह मत सोचिएगा कि हम आपको कड़वे काढ़े के बारे में बता रहें हैं। इसके बजाय, हम यहां आपको एक चमत्कारिक इलाज बताने जा रहे हैं: पवनमुक्तासन उर्फ गैस रिलीज योग मुद्रा।

बुजुर्गों में गैस की समस्या आम है, लेकिन हर बार दवा देने के बजाय यह उपाय को अपनाएं। चित्र- शटरस्टॉक।

दुर्भाग्य से, हमारे गतिहीन जीवन और खाने की आदतों के कारण, अपच हमारे जीवन का एक हिस्सा बन गया है। कभी-कभी, दर्द और असुविधा इतनी ज्‍यादा हो जाती है कि आप इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं! यह विशेष रूप से बुजुर्ग आबादी के बीच आम है, क्योंकि वे अपनी उम्र के कारण बहुत कम शारीरिक गतिविधि कर पाते हैं। 

तो बिना किसी देर के, आइए समझते हैं कि पवनमुक्तासन क्यों काम करता है और इस योगासन को करने का सही तरीका क्या है।

अब जानिए कि बेहतर परिणाम पाने के लिए आपको कैसे करना चाहिए पवनमुक्तासन 

1.अपनी पीठ के बल या अपने शरीर के बगल में अपनी बाहों के साथ लेट जाएं।

2.श्वास छोड़ते हुए अपने घुटनों को अपनी छाती की ओर लाएं, और अपनी जांघों को अपने पेट पर रखें। 

3.श्वास लें और सांस छोड़ते हुए, अपने सिर को फर्श से ऊपर उठाएं, अपनी ठुड्डी या माथे को अपने घुटनों को छूने दें।

4.इस मुद्रा को तब तक जारी रखें जब तक आप गहरी, लंबी सांस अंदर और बाहर लेते हैं।

5.शुरू की स्थिति में वापस आने के लिए इस मुद्रा को धीरे – धीरे छोड़ें। पहले अपना सिर नीचे लाएं।

6.और फिर अपने पैरों को 2-3 राउंड के लिए दोहराएं और फिर आराम करें।

गैस्ट्रिक दर्द और आंत की समस्याओं के लिए पवनमुक्तासन क्यों सही है?

योग विशेषज्ञ ग्रैंड मास्टर अक्षर के अनुसार, पवनमुक्तासन का अभ्यास पाचन को बेहतर बनाने और वजन घटाने को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। इस मुद्रा को कई नामों से जाना जाता है, जैसे कि हवा से राहत देने वाली मुद्रा और यहां तक कि गैस रिलीज करने वाली मुद्रा।

यह आपको गैस जैसी समस्या से छुटकारा दिलाएगा। चित्र: शटरस्टॉक

“यह पेट की चर्बी कम करने और आपके चयापचय को बढ़ावा देने के लिए सबसे अच्छे आसनों में से एक माना जाता है। मनपसंद खाने को कम करने, नियमित रूप से मल त्याग को बढ़ावा देने और वजन घटाने में सहायता करने के लिए अपनी दैनिक दिनचर्या में पवनमुक्तासन को शामिल करें।”

परन्तु यदि आप निम्न श्रेणियों के अंतर्गत आते हैं तो कृपया इसका अभ्यास न करें

1.यदि आपको उच्च रक्तचाप, हर्निया, स्लिप डिस्क, हृदय की समस्याएं, गर्दन और पीठ आदि में समस्‍या है, तो यह आसन आपके लिए नहीं है। 

2.यदि आप गर्भवती हैं या मासिक धर्म हैं, तो इस मुद्रा को न करें।

इसलिए सखियों, अपने आप को पेट में बढ़ती गैस के कारण शर्मिंदा न होने दें और इस आसन का हर रोज अभ्‍यास करें। 

यह भी देखे:पेट पर जमी जिद्दी चर्बी से छुटकारा पाने के लिए 30 दिनों तक रोजाना करें वॉरियर्ज़ III पोज का अभ्यास

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।