रमज़ान 2022: सभी रोज़ेदार उठा रहे हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग के ये अद्भुत लाभ

Published on: 15 April 2022, 10:00 am IST

रमजान में रोजा रखने से मन में कृतज्ञता और शांति की अनुभूति होती है। साथ ही, कुछ अद्भुत स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं!

roza benefits
रमजान 2022: यहां जानिए रोज़े रखने के अद्भुत फायदे. चित्र ; शटरस्टॉक

रमजान के पवित्र महीने के साथ, इंटरमिटेंट फस्टिंग के फायदों पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है। रमजान के रोजे में सुबह से सूर्यास्त तक कुछ भी खाना-पीना नहीं होता है। रोज़ेदार अपना उपवास तोड़ने के बाद खाते और पीते हैं और अगली सुबह अपना उपवास फिर से शुरू करते हैं।

रमजान इंटरमिटेंट फस्टिंग करने का एक तारीका है जहां आप खाते हैं और उपवास करते हैं। ये विभिन्न प्रकार की इंटरमिटेंट फस्टिंग है; जिनमें से कुछ 16/8 और 5:2 मेथड हैं।

हेल्थशॉट्स ने परामर्श पोषण विशेषज्ञ और आहार विशेषज्ञ अस्मा आलम से बात की, जिन्होंने आंतरायिक उपवास के कुछ शानदार लाभों को सूचीबद्ध किया।

यहां रमज़ान में इंटरमिटेंट फस्टिंग करने के कुछ लाभ दिए गए हैं:

1. वजन घटाने में मदद करे 

जब हम लंबे समय तक खाना नहीं खाते हैं तो हमारे शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं। उदाहरण के लिए, हमारे शरीर के हार्मोन का स्तर बदल जाता है जो सेलुलर रिपेयर प्रक्रियाओं को शुरू करने के साथ-साथ संग्रहीत वसा को हटाता है। इसके अलावा, शरीर में इंसुलिन का स्तर काफी कम हो जाता है, जो वसा जलने को उत्तेजित करता है। यह आपको कम कैलोरी का उपभोग करने में भी मदद करता है और चयापचय को बढ़ावा देता है।

2. आपको जवान रखती है

आलम कहती हैं – “इंटरमिटेंट फस्टिंग हमारे शरीर में सूजन और ऑक्सीडेटिव डैमेज को कम करती है। इसके अलावा, यह विशेष रूप से विभिन्न हृदय रोगों से जुड़े अनगिनत जोखिम कारकों में सुधार करता है, जिसमें ट्राइग्लिसराइड्स, कोलेस्ट्रॉल का स्तर और रक्तचाप शामिल हैं।”

3. आपके दिमाग को तेज बनाती है

आलम कहती हैं इंटरमिटेंट फस्टिंग मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। यह मस्तिष्क को किसी भी प्रकार के डैमेज से बचाते हुए नए न्यूरॉन्स की वृद्धि को बढ़ाता है। “कुछ अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि इंटरमिटेंट फस्टिंग अल्जाइमर रोग जैसे कुछ न्यूरोडीजेनेरेटिव रोगों के खिलाफ लाभकारी साबित हो सकता है।”

roze rakhne se dimaag tez hota hai
रोज़े रखने से आपका दिमाग तेज़ होता है। चित्र : शटरस्टॉक

4. शरीर को डिटॉक्सीफाई करती है

कुछ समय के लिए भोजन से दूर रहने से आपकी गट मजबूत होती है और इसकी परत साफ होती है। ऑटोफैगी, आंतों की एक सेल्फ क्लेंजिंग प्रक्रिया शुरू होती है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालती है।

5. इम्युनिटी बढ़ाए 

इंटरमिटेंट फस्टिंग चयापचय दर को बढ़ाने के लिए सिद्ध है जो बदले में रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाती है। एक महीने का उपवास उच्च रक्तचाप के खतरे को खत्म करता है और खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है। ये सभी चीजें इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने के लिए जानी जाती हैं।

इंटरमिटेंट फस्टिंग वजन घटाने का सबसे अच्छा तरीका है, लेकिन इसके स्वास्थ्य लाभ इससे कहीं अधिक हैं। यह आपको अधिक स्वस्थ जीवन जीने में भी मदद कर सकती है। इंटरमिटेंट फास्टिंग का अभ्यास करने के कई तरीके हैं। जिनमें से कुछ में हर दिन कुछ घंटों के दौरान उपवास करना शामिल है जबकि कुछ में केवल सप्ताह के विशेष दिनों में फास्टिंग की आवश्यकता होती है।

यह भी पढ़ें : Paneer VS Tofu : जानिए आपके स्वास्थ्य के लिए क्या है ज़्यादा हेल्दी

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें