और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

प्रदूषण के दुष्प्रभावों से अपने फेफड़ों को बचाना हैं, तो इन योगासन का करें अभ्यास

Published on:17 November 2021, 09:30am IST
वायु प्रदूषण का सबसे गहरा प्रभाव आपके फेफड़ों और श्वास नली पर पड़ता है। लंबे समय तक ऐसे वायु में सांस लेने से अन्य स्वास्थ्य जोखिम हो सकते हैं। इन योगासन को अपने रूटीन में शामिल करें और पाएं स्वस्थ फेफड़े।
अदिति तिवारी
  • 112 Likes
Healthy lungs ke liye yoga
फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए योगासन करें। चित्र:शटरस्टॉक

आपके हृदय की तरह फेफड़े भी शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। यह श्वास की प्रक्रिया को नियंत्रित करते हैं। ये शरीर में ऑक्सीजन के संचार के साथ कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालते हैं। लेकिन क्या हवा में मौजूद जहरीली गैस आपके फेफड़ों को प्रभावित कर रही हैं? वायु प्रदूषण के कारण छोटे विषाक्त कण आपकी श्वास नली में जाकर परेशानी पैदा कर सकते हैं। 

इतना ही नहीं यदि आप लंबे समय तक ऐसी हवा में सांस लेंगे तो यह अस्थमा और ब्रॉन्काइटिस जैसे गंभीर रोगों का कारण बन सकता है। जिन लोगों को पहले से श्वास संबंधी बीमारियां हैं, उनका ऐसी हवा में सांस लेना और खतरनाक हो सकता है।

इसमें मौजूद गैसें आपकी स्थिति को और बिगाड़ सकती हैं। यह अस्थमा अटैक का ट्रिगर पॉइंट भी हो सकता है। इसलिए आपको प्रदूषण के नुकसान से बचाने और फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए हम बता रहें हैं कुछ प्रभावी योगासन। 

अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए करें ये योगासन 

1. अर्ध चंद्रासन (Half moon pose)

इस योग के नाम से ही पता चलता है कि आपको आधे चांद की मुद्रा बनान है। 

  • इसे करने के लिए घुटनों के बल खड़े रहें और अपने बाएं पैर को एक कदम आगे बढ़ाएं। 
  • अब आगे झुकें और हथेलियों को बाएं पैर के पंजे के दोनों तरफ रखें। 
  • इसके बाद दाहिने पैर को पीछे की ओर पूरा खीचें। 
Half moon pose aapke lungs ke liye faydemand hai
अर्ध चंद्रासन आपके फेफड़ों के लिए फायदेमंद है। चित्र:शटरस्टॉक
  • तो आपका दाहिना घुटना, दाहिने पैर के पंजे और हाथ जमीन पर लगे रहने चाहिए। 
  • अब पीठ को धनुष के आकार में बनाएं और दोनों हाथों को जोड़कर पीछे की ओर ले जाएं। 
  • अपने सिर को भी पीछे करें। 
  • दो से तीन मिनट तक इस मुद्रा में बनें रहें। 

2. चक्रासन (Wheel pose)

  • यह योग का एक प्रभावी आसन हैं, जहां आपको एक चक्र की मुद्रा धारण करनी होगी। 
  • इसके लिए अपनी पीठ के बल लेट जाएं और अपने पैरों को घुटनों से मोड़ें।
  • अब अपने पैरों को फर्श पर मजबूती से टिकाएं। 
  • अपनी हथेलियों को आकाश की ओर रखते हुए अपनी भुजाओं को कोहनियों पर मोड़ें। 
  • अब अपनी बाहों को कंधों पर घुमाएं। 
  • फिर अपनी हथेलियों को अपने शरीर को ऊपर उठाकर एक आर्च बनाने के लिए फर्श पर रखें। 
  • अपनी गर्दन को रिलैक्स रखें और अपने सिर को धीरे से पीछे की ओर रखें।
  • कुछ मिनट तक इस मुद्रा में बनें रहें। 

3. उष्ट्रासन (Camel pose)

  • सबसे पहले योगा मैट पर घुटने टेकें और अपने हाथों को अपने हिप्स पर रखें। 
  • फिर अपनी पीठ को झुकाएं और हाथों को सीधा रखते हुए अपनी हथेलियों को पैरों के ऊपर ले जाएं। 
  • अपनी गर्दन को स्थिर और एक ही जगह में रखें। 
  • कुछ देर इसी स्थिति में रहें और फिर सांस छोड़ें और वापस प्रारंभिक मुद्रा में आ जाएं।
  • अपने हाथों को कूल्हों पर ही रहने दें। 

4. धनुरासन (Bow pose)

  • इस योग में आपको पेट के बल लेटना है और अपने घुटनों को अपने कूल्हों की ओर मोड़ना है। 
  • अपने हाथों से अपनी टखनों को पकड़ें। 
  • अब अपने पैरों और बाजुओं को जितना हो सके ऊपर उठाएं और अपना चेहरा ऊपर रखें। 
  • जब तक आप कर सकते हैं तब तक मुद्रा को धारण करने का प्रयास करें।
Pollution ki pareshani ko dur karta hai
प्रदूषण से होने वाली परेशानी से ये योगासन राहत दे सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

5. हस्त उत्तानासन (Raised arm pose)

  • समस्थिति में सीधे खड़े हो जाएं और अपनी बाहों को अपने सिर के ऊपर उठाएं। 
  • फिर हाथ जोड़कर ऊपर की ओर इस तरह फैलाएं कि आपकी हथेलियां एक दूसरे के सामने हों और आपस में जुड़ जाएं। 
  • अपने सिर को अपनी बाहों के बीच में रखें। 
  • अब धीरे से पीछे की ओर झुकें और अपने घुटनों को सीधा रखें और आंखें खुली रखें। 
  • कुछ देर इसी स्थिति में रहें और फिर वापस मूल स्थिति में आ जाएं और इसे दोहराएं।

तो लेडीज, प्रदूषण के इस गंभीर स्थिति में भी अपने फ़ेदों को स्वस्थ रखना हैं तो इन योगासन को लगातार करते रहें। 

यह भी पढ़ें: रकुल प्रीत सिंह करती हैं फ्लो के साथ आगे बढ़ने में भरोसा, यहां देखिए उनका योग सेशन

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !