वैलनेस
स्टोर

पिलेट्स या योग: जानिए कौन सा वर्कआउट है आपके लिए ज्‍यादा बेहतर

Published on:15 January 2021, 09:00am IST
पिलेट्स और योग दोनों ही वर्कआउट आप को फिट रहने में मदद कर सकते हैं, दोनों के अपने अलग फायदे हैं। पर अगर आप दोनों में से किसी एक को चुनना चाहती हैं, तो हम आपकी मदद कर सकते हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 77 Likes
योग और पिलेट्स दोनों के ही अपने अलग फायदे हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

यदि आप फिट रहना चाहती हैं तो पिलेट्स और योग दोनों ही समान रूप से अच्छे हैं। आप किस को चुनते हैं यह पूरी तरह से आपकी आवश्यकता पर आधारित होना चाहिए। पिलेट्स की ट्रेनिंग और लाभ के अपने अलग ही तरीके है। जबकि योग में आसन, सांस लेने के व्यायाम, मुद्राएं और बहुत सारे अपने अलग तरीके शामिल हैं।

योग एक समग्र अभ्यास है जो आपकी मैंटल, फिजिकल, इमोशनल और स्प्रिचुअल सभी तरह के लाभ प्रदान करता है। अगर आप पिलेट्स और योग दोनों पर गहन अध्ययन करेंगे, तो आपको पता चलेगा कि दोनों के आपके लिए अपने अलग लाभ हैं।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

फ्लैक्सिबिलिटी और ताकत को बढ़ाने के लिए अच्छा है पिलेट्स

पिलेट्स फंग्शनल फिटनेस पर काम करता है जिसमें वह आपके कोर को बनाने और सांस पर ध्यान केंद्रित करने के लिए आपको प्रशिक्षित करता है। पिलेट्स में योग में किए जाने वाले आसनों के विभिन्न स्वरूप और विविधताएं होती हैं। पिलेट्स में प्लैंक पोस्चर, डाउनवर्ड डॉग, अपवर्ड डॉग, कैट पोज, बोट पोज जैसे और कई आसन हैं, जो योग से लिए गए हैं।

पिलाटे आपकी बॉडी को टोन करता है। चित्र : शटरस्टॉक
पिलाटे आपकी बॉडी को टोन करता है। चित्र : शटरस्टॉक

इसके अतिरिक्त पिलेट्स को बिना किसी उपकरण के योगा मैट पर किया जा सकता है, लेकिन ऐसे कई विशिष्ट केंद्र भी हैं जहां पर पिलेट्स इक्विपमेंट्स का उपयोग करके फ्लेक्सिबिलिटी और शारीरिक शक्ति को बढ़ाया जा सकता है।

योग से मानसिक स्वास्थ्य को भी लाभ मिलता है

योग एक आध्यात्मिक अभ्यास है जो न केवल शरीर पर काम करता है बल्कि यह आपके मस्तिष्क और भावनाओं को भी संतुलित करन में मदद करता है। योग में ध्यान और सांस लेने की कई तकनीक शामिल हैं, जो आपकी सांस को रेगुलेट करने में मदद करती हैं। इसी तरह योग आपको अपनी इंद्रियों और भावनाओं को नियंत्रित करने में मदद करता है।

हमारे संपूर्ण लाभ के लिए, योग के अंदर 84 लाख आसन है और इसे 5,000 साल पुरानी एक प्राचीन कला माना जाता है। जो लोग चिंता, तनाव और डिप्रेशन जैसी मानसिक बीमारियों से पीड़ित है, उन्हें यह सुझाव दिया जाता है कि वे सीधे पिलेट्स जैसे शारीरिक अभ्यास न करें। इसके बजाय उन्हें पहले योग जैसी हीलिंग प्रैक्टिस को करना चाहिए, जो उन्हें कई चिकित्सीय लाभ प्रदान करता है।

योग आपके तन-मन को तरोताजा कर देता है। पर तत्‍काल वजन नहीं घटाता। चित्र: शटरस्‍टॉक
योग आपके तन-मन को तरोताजा कर देता है। पर तत्‍काल वजन नहीं घटाता। चित्र: शटरस्‍टॉक

ऐसा इसलिए है क्योंकि जब मन परेशान होता है, तो शरीर आपकी सांस के साथ तालमेल नहीं रख पाता। जब आप कसरत पर ध्यान केंद्रित करने में असक्षम होते हैं, तो कसरत के दौरान खुद को घायल करने की संभावना अधिक होती है। यही कारण है कि चिकित्सक भी योग अभ्यास करने की सलाह देते हैं।

पिलेट्स और योग दोनों के अपने अलग फायदे हैं। यह सबसे अच्छा होगा की आप इन दोनों को ही एक साथ जोड़कर करें। इस तरह आप दोनों ही चीजों का ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं और दुगना लाभ उठा सकते हैं।

यह भी पढ़ें – क्या सिर्फ सूर्य नमस्कार करके आप अपना वजन कम कर सकती हैं? चलिए पता करते हैं सच्‍चाई

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।