फॉलो
वैलनेस
स्टोर

हम बता रहे हैं उन 4 मिथ्‍स की सच्‍चाई जो आपकी कोर मसल्‍स के बारे में प्रचलित हैं

Published on:21 September 2020, 09:35am IST
क्या आप जानती थी कि आपकी कोर मसल्‍स सिर्फ आपके पेट तक ही सीमित नहीं है? आज, हम कोर ट्रेनिंग के बारे में ऐसे ही कुछ और मिथ्‍स के बारे में बात करने जा रहे हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 70 Likes

आपकी कोर मसल्‍स आपके पूरी बॉडी मूवमेंट का एक सर्वोत्कृष्ट हिस्सा है-खासकर जब भी आप कोई शारीरिक गतिविधि करती हैं तो वह मुख्य रूप से आपकी कोर मसल्‍स द्वारा ही पूर्ण होती है। यही कारण है कि कोर मसल्‍स की ट्रेनिंग को फिटनेस और फि‍जिकल ट्रेनिंग में इतना महत्व दिया जाता है। हालांकि, आपको कोर मसल्‍स वर्कआउट शुरू करने से पहले उन मिथ्‍स के बारे में भी जान लेना चाहिए, जो बिल्‍कुल गलत हैं।

हमने मुंबई बेस्‍ड फिटनेस ट्रेनर, सुभादीप रे चौधरी से बात की ताकि आप अपनी कोर मसल्‍स पर काम करने से पहले उन मिथ्‍स से बाहर आ सकें। तो आइए शुरू करते हैं-

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

भ्रम #1: पेट की मांसपेशियां आपकी कोर मसल्‍स को बनाती हैं

यकीनन पेट की मांसपेशियां आपकी कोर मसल्‍स का हिस्‍सा हैं, लेकिन वही सब कुछ नहीं हैं। चौधरी कहते हैं: “कोर में मांसपेशियों के कई समूह होते हैं। वे पेट, श्रोणि, रीढ़ और कूल्हों को मिलाकर बनती हैं।”

वे कहते हैं, “ तो, अगली बार जब कोई आपको अपने मूल पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहता है, तो बस अपने पेट पर ध्यान केंद्रित न करें। इसके साथ ही अपने डायाफ्राम, पैल्विक मांसपेशियों और डीप रीढ़ की हड्डी की मांसपेशियों को भी जितना हो सके शामिल करें।”

भ्रम #2: क्रंच सबसे अच्छी कोर एक्‍सरसाइज है

फिर, वही भ्रम। क्रंचेज केवल पेट की मांसपेशियों के समूह को ही लक्षित करते हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि वे पेट की मां‍सपेशियों के लिए ग्रेट वर्कआउट है। पर अगर आप वास्तव में पूरे कोर मसल्‍स का वर्कआउट करना चाहती हैं तो आपको इसके बजाय प्‍लैंक करने चाहिए।

Flat belly exercises
देवियों, आप कोर मसल्‍स को मजबूत करने के लिए प्‍लैंक पर ज्‍यादा भरोसा कर सकती हैं।

मिथक #3: आपको हर रोज अपनी कोर मसल्‍स पर काम करना चाहिए

चौधरी बताते हैं, “आपकी कोर का कार्य आपके शरीर में किसी भी अन्य मांसपेशियों की तरह होता है। इन्‍हें ठीक होने के लिए अपने समय की आवश्यकता होती है। सिर्फ वर्कआउट ही नहीं, आप हर रोज जो भी गतिविधियां करते हैं, उनमें आपको अपनी कोर मसल्‍स की जरूरत पड़ती है। इस वजह से समय बीतने के साथ आपकी कोर मसल्‍स कमजोर हो जाती हैं।”

यह जरूरी है कि आप हर ऑल्‍टरनेट डे पर अपनी कोर मसल्‍स का वर्कआउट करें। कोर की स्‍ट्रेंथ ऐसी है जो आपको अपने पूरे शरीर की बेहतर मुद्रा, बेहतर स्थिरता और मजबूत मूवमेंट से पहले महसूस होनी शुरू हो जाती है। इसमें अपना समय लगता है और आपको इसके साथ धैर्य रखने की आवश्यकता है। पर यह निश्चित रूप से आपको परिणाम देती है।

मिथक #4: एब्‍स आपकी कोर स्‍ट्रेंथ का संकेत हैं

“ निश्चित रूप से एब्‍स बहुत अच्छे लगते हैं! इसके बावजूद वे डीप कोर स्‍ट्रेंथ और स्‍टेबिलिटी का प्रूफ नहीं हैं। मैंने देखा है कि बहुत से लोग फिटनेस के लिए एब्‍स बनाने पर ध्‍यान देते हैं। पर ऐस हमेशा नहीं होता।

flat belly
परफेक्‍ट एब्स का मतलब आपकी कोर स्‍ट्रेंथ नहीं है। चित्र : शटरस्टॉक

एब्‍स बनाने के लिए आपको पेट की मांसपेशियों के समूह पर काम करना होता है। पर विडंबना यह है कि कई बार टोंड पेट आपकी पीठ की मांसपेशियों में असंतुलन का कारण बन सकता है।

तो हमें उम्‍मीद है कि हमने आपके कोर मसल्‍स के बारे में सभी डाउट्स को क्लियर कर दिया होगा। अब आप अपनी कोर मसल्‍स पर ज्‍यादा बेहतर तरीके से काम कर पाएंगी। फि‍र भी अगर कोई डाउट है तो आप नीचे कमेंट बॉक्‍स में शेयर कर सकती हैं।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।