अजस्र ऊर्जा का स्रोत है सूर्य, जानिए क्यों आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है सूर्य नमस्कार

छठ में अस्ताचलगामी से लेकर उषा के सूर्य तक को अर्घ्य देने की परंपरा है। यह परंपरा यूं ही नहीं है, असल में यह ऊर्जा के अनंत स्रोत के प्रति आभार जताने का एक प्रयास भर है। योग में सूर्य नमस्कार आपको इसी के अभ्‍यास का अवसर देता है।
Surya namaskar ke fayde
योग में सूर्य नमस्‍कार आपको अजस्र ऊर्जा के स्रोत का लाभ उठाने का अवसर देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 10 Dec 2020, 13:29 pm IST
  • 90

छठ पूजा (Chhath Puja) एकमात्र ऐसा पर्व है जहां अस्ताचलगामी यानी डूबते हुए सूरज (Sunset) को भी प्रणाम किया जाता है। यानी हर शाम के बाद एक सुबह जरूर होती है। उसी सुबह के स्वागत में दिया जाता है उषा अर्घ्य। योग में यही अभ्‍यास सूर्य नमस्कार (Surya Namskar) कहलाता है। विधि थोड़ी बदल जाती है, पर यह आपके मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) को वही लाभ देता है जो हम प्रार्थनाओं में सूर्य से मांगते हैं। आइए जानें कि कैसे सूर्य नमस्कार पहुंचाता है आपके मानसिक स्वास्थ्य को लाभ।

तन और मन की प्रार्थना है योग

योग हमारे शरीर को तन और मन दोनों से स्वस्थ रखने में लाभकारी है। ऐसे कई योगासन से जो आपको स्वस्थ रखने के लिए बहुत फायदेमंद हैं। लेकिन एक ऐसा योगासन भी है जो आपको तन और मन दोनों से सेहतमंद बनाता है। इसे हम सर्य नमस्कार कहते हैं।

सूर्य नमस्कार सभी योगासनों में से सर्वश्रेष्‍ठ माना गया है। आप चाहे कोई व्यायाम करें या न करें, पर अगर आप दिन में एक बार भी सूर्य नमस्कार कर लेते हैं, तो समझिए आपके सारे रोग एक-एक कर के खत्म हो जाएंगे।

मेंटल हेल्‍थ के लिए भी फायदेमंद है सूर्य नमस्‍कार (Surya Namaskar)

वैसे तो सूर्य नमस्कार के अनेक फायदे हैं लेकिन क्या आप जानते हैं यह आपके मेंटल हेल्थ के लिए बहुत ही लाभकारी माना जाता है। यह आपके दिमाग को शांत करने और उसे तनाव मुक्त बनाने का काम करता है। ऐसे में सूर्य नमस्कार के मेंटल हेल्थ संबंधी फायदों के बारे में बहुत जरूरी हो जाता है। जिससे आप अपने शरीर को केवल शारीरिक रूप से नहीं बल्कि दिमागी तौर पर भी मजबूत बना सकें।

जानें आपकी मेंटल हेल्थ के लिए सूर्य नमस्कार है किस तरह फायदेमंद

सूर्य नमस्कार 12 आसनों से मिलकर बना है। इसमें प्रणामासन, हस्त उत्तानासन, हस्तपादासन, अश्वसंचालासन, अधोमुखश्वानासन, अष्टांगनमस्कारासन और भुजंगासन किया जाता है। इसमें 6 विधि के बाद फिर से उन्हीं 6 विधियों दूसरे पैर के साथ दोहराया जाता है।

सूर्य नमस्‍कार के विभिन्‍न आसन आपके शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभकारी हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
सूर्य नमस्‍कार के विभिन्‍न आसन आपके शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभकारी हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्या कहती है स्टडी

इंटरनेशनल जनरल ऑफ योगा में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार सूर्य नमस्कार करने से शरीर को आराम मिलता है। इससे हमारा दिमाग को आराम मिलता है और दिमाग शांत होता है। यह हमारे दिमाग की शक्ति को बढ़ाता है।

इसका हमारे मस्तिष्क पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है। इससे अनिद्रा की समस्या दूर होती है और मानसिक तनाव कम होता है। यह मस्तिष्क में नकारात्मक विचारों की भावना भी कम करता है।

मन को शांत रखता है सूर्य नमस्‍कार 

इस आसन को करते समय आप एक ही जगह फोकस करते हैं। ऐसा करने से आपका मन भटकता नहीं है और मन शांत रहता है। इससे न सिर्फ दिमाग तेज होता है, बल्कि यह आपको तनाव जैसी बीमारियों से भी बचाता है। इससे आपके शरीर में एनर्जी आती है और आप पूरे दिन तरोताजा महसूस करते हैं।

सूर्य नमस्‍कार आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

सूर्य नमस्‍कार आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

तनाव करता है कम

सर्य नमस्कार हमारी मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसका हमारी तंत्रिका तंत्र पर शांत प्रभाव पड़ता है। जो हमारे मन को शांत के लिए बहुत लाभकारी है। इससे हमारा मस्तिष्क तनाव मुक्त होता है। सूर्य नमस्कार करने से शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ जाता है। दिमाग की कोशिकाएं भी एक्टिव हो जाती हैं, जिससे मानसिक तनाव कम हो जाता है।

यह भी पढ़ें – शरीफ सा यह शरीफा, असल में है पोषक तत्‍वों का खजाना, जानिए शरीफा खाने के 6 स्वास्थ्य लाभ

अनिद्रा की समस्या को करता है दूर

अनिद्रा के रोगियों के लिए सूर्य नमस्कार बेहद लाभकारी है। लोगों में अनिद्रा की समस्या बहुत आम हो गई है। रोजाना नियमित रूप से सूर्य नमस्कार करने से आपको इस समस्या से राहत मिल सकती है। सूर्य नमस्कार करने से शरीर में कैलोरी बर्न होती है। इससे शरीर की थकान कम होती है और मन शांत रहता है। तो इससे नींद भी अच्छे से आती है।

सूर्य नमस्‍कार या भगवान भास्‍कर को अर्घ्‍य ये दोनों ही आपको पॉजीटिव एनर्जी से भर देते हैं। बस एक अच्‍छे और आनंददायी जीवन के लिए और क्‍या चाहिए।

यह भी पढ़ें – अगर आपकी मम्मी भी रख ही छठ पर्व का व्रत, तो इस तरह रखें उनकी सेहत का ख्‍याल

  • 90
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख