जैपनीज़ वॉटर थेरेपी भी है वेट लॉस में कारगर, जानिए यह क्या है और कैसे काम करती है

पानी हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से शरीर में जमा विषैले पदार्थों से मुक्ति मिल जाती है। जानते हैं कि क्या है जैपनीज़ वॉटर थेरेपी (Japanese water therapy) और इससे वेट लॉस में कैसे मिलती है मदद।
Jaante hain Japnese water therapy ke fayde
जानते हैं कि क्या है जैपनीज़ वॉटर थेरेपी (Japanese water therapy) और इससे वेट लॉस में कैसे मिलती है मदद। चित्र:एडॉबीस्टॉक
ज्योति सोही Published: 3 Jan 2024, 16:36 pm IST
  • 140

अनियमित खानपान और अनहेल्दी लाइफस्टाइल मोटापा बढ़ने का मुख्य कारण है। वेटलॉस के लिए लोग कई प्रकार की एक्सरसाइज़ करने से लेकर फैंसी मील फॉलो करने तक कई प्रयास करते हैं। मगर वज़न का बढ़ना और घटना जारी रहता है। इन दिनों लोगों की पहली पसंद बन चुकी जैपनीज़ वॉटर थेरेपी वाटर इनटेक पर बेस्ड है यानि पानी पीकर वज़न को घटाएं। जानते हैं कि क्या है जैपनीज़ वॉटर थेरेपी (Japanese water therapy) और इससे वेट लॉस में कैसे मिलती है मदद।

क्या है जैपनीज़ वॉटर थेरेपी (Japanese water therapy)

जैपनीज़ वॉटर थेरेपी उस थेरेपी को कहते हैं, जिसमें व्यक्ति सुबह उठते ही 3 से 4 गिलास गर्म पानी या रूम टेमपरेचर में रखे पानी को पीता है। बिना ब्रश किए पानी को पीने से न केवल शरीर से विषाक्त पदार्थ डिटॉक्स होते हैं बल्कि कैलोरी इनटेक घट जाता है। इससे वेटलॉस में मदद मिलती है और मेटाबॉलिज्म बूस्ट होने लगता है। पानी पीने के 45 मिनट के बाद ही कुछ खा सकते हैं।

इस बारे में बातचीत करते हुए डाइटीशियन मनीषा गोयल के अनुसार पानी हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से शरीर में जमा विषैले पदार्थों से मुक्ति मिल जाती है। इससे स्किन में नमी बरकरार रहती है और वज़न बढ़ने की समस्या से राहत मिल जाती है। खाली पेट पानी पीने की इस विधि से पेट संबधी रोगों से मुक्ति मिल जाती है। इसके अलावा कैलोरी इनटेक भी घट जाता है, जिससे वेट मैनेजमेंट में मदद मिलती है।

pani peekar khud ko slim rakhein
पानी पीना सौ बिमारियों का अकेला उपचार है। चित्र : अडोबी स्टॉक

जैपनीज़ वॉटर थैरेपी को फॉलो करें स्टेप बाई स्टेप

सुबह उठते ही बिना ब्रश किए कम से कम 3 से चार गिलास पानी जरूर पिएं।

इसके लिए पानी के गिलास को पूरा भरे और उसे खाली पेट ही पीएं।

पानी ल्यूक वॉर्म या रूम टेम्परेचर के अनुसार होना चाहिए। सुबह उठकर ठण्डा पानी पीने से बचें

वॉटर इनटेक के अगले 45 मिनट तक कुछ भी न खाएं और पीएं।

कोई भी मील लेने के लिए दिनभर में 2 घंटे का गैप होना ज़रूरी है।

खाना खाने से पहले पानी पीने से पेट भरा हुआ महसूस होता है

जैपनीज़ वॉटर थेरेपी के फायदे

1. हाइड्रेट रहना

एनआईएच के अनुसार जैपनीज़ वॉटर थेरेपी को फॉलो करने से शरीर में पानी की नियमित मात्रा बनी रहती है। इससे शरीर में एनर्जी लेवल बना रहता है और ब्लड प्रेशर रेगुलेट होता है। इससे शरीर में कब्ज, सिरदर्द और किडनी स्टोन की समस्या नहीं रहती है। साथ ही वेटलॉस में मदद मिल जाती है। पानी पीने से शरीर हाइड्रेट रहता है।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

2. लो कैलोरी इनटेक

अगर आप खाना खाने से पहले पानी पीते हैं, तो उससे आपका पेट भरा रहता है, जिससे आप ज्यादा खाने से बच पाते हैं। साथ ही आपका शरीर निर्जलीकरण की समस्या से भी दूर रहता है। इसके अलावा फ्रूट जूस, सोडा और अन्य तरल पदार्थों से भी वॉटर को रिप्लेस करके मोटापे से राहत मिलती है। इसके अलावा वेटलॉस के लिए नियमित एक्सरसाइज़, लो कैलोरी फूड और हेल्दी लाइफस्टाइल फॉलो करना ज़रूरी है।

3. स्किन को रखे हेल्दी

सुबह उठकर खाली पेट पानी पीने से त्वचा की नमी बरकरार रहती है। इससे स्किन पर होने वाली मुहांसों से मुक्ति मिल जाती है और झुर्रियों की समस्या भी हल हो जाती है। इससे शरीर में कोलेजन का स्तर बढ़ने लगता है, जो त्वचा के लचीलेपन को बढ़ाता है। समय से पहले त्वचा पर दिखने वाली झुर्रियों से राहत मिलने लगती है और चेहरे पर नेचुरल ग्लो बना रहता है।

Japanese water therapy ke fayde
गुनगुना पानी न सिर्फ पाचन तंत्र को बेहतर बनाता है, बल्कि वेट लॉस में भी मदद करता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

4. मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है

पानी पीने से पाचनतंत्र को मज़बूती मिलती है। इससे पेट में जमा टॉक्सिन रिलीज़ हो जाते हैं। कब्ज, ब्लोटिंग, ऐंठन और गैस संबधी समस्याएं हल होने लगती है। खाना आसानी से डाइजेस्ट हो जाता है और बार बार लगने वाली भूख से भी बचा जा सकता है। पानी पीने से पेट देर तक भरा रहता है।

ये भी पढ़ें- Fitness Resolution 2024: बिना जिम जाए वेट लॉस करना है, तो इन 5 कामों को करें डेली रुटीन में शामिल

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख