वेट लॉस करना है, तो डाइटिंग और एक्सरसाइज से पहले दूर कर लें ये 4 मिथ्स

त्योहारों का मौसम या घर में कोई फंक्शन आते ही ज्यादातर लड़कियां वेट लॉस के लिए क्विक और ईजी टिप्स ढूंढने लगती हैं। और फिर वे इस तरह के मिथ्स को सच मान बैठती हैं।

healthy weight maintain krne ke liye heldi diet rakhna jruri hai
हेल्दी वेट मेंटेन रखने के साथ हेल्दी डाइट लेना बेहद जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published on: 9 October 2022, 15:30 pm IST
  • 147

वेट लॉस आज कल सबसे ज्यादा ट्रेंड कर रहा है। फास्टिंग, एक्सरसाइज, डाइटिंग इत्यादि लोगो की दिनचर्या का एक अहम हिस्सा बन गया है। क्योंकि खराब लाइफस्टाइल, गलत खानपान के साथ ही शारीरिक रूप से इनएक्टिव रहने के कारण ज्यादातर लोग मोटापे का शिकार हो चुके हैं। अगर आप भी इन दिनों वेट लॉस की कोशिश कर रहीं हैं, तो जरूरी है कि वेट लॉस से जुड़े कुछ मिथ्स को दूर कर लें।

वहीं यह बच्चों से लेकर यंगस्टर्स तक को अपना शिकार बनाता जा रहा है। ऐसे में लोग वजन कम करने को लेकर खुद से तरह तरह के एक्सपेरिमेंट कर रहे हैं और यही बातें बाद में लोगो के अंदर एक अवधारणा के रूप में रह जाती है। लोग गलत सही तरीके अपनाना शुरू कर देते हैं। ऐसे में वजन कम होने की जगह कई अन्य स्वास्थ्य जोखिमों का खतरा बढ़ जाता है।

मील स्किप करना, खाने में जरूरत से ज्यादा प्रोटीन लेना, फैट और कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों से दूरी बना लेना यह सभी चीजें शरीर को कमजोर बना देती हैं। वजन कम करना हो या वजन बढ़ाना हो बिना पूरी जानकारी लिए कुछ भी करना सेहत को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकता है। तो चलिए जानते हैं ऐसी ही 4 वेट गेन मिथ के बारे में।

Weight loss karna hai toh apna bhojan mindfully chune
वेट लॉस करना है तो अपना भोजन बुद्धिमानी से चुनें। चित्र: शटरस्टॉक्स

यहां जाने बढ़ते वजन को लेकर लोगों द्वारा बनाए गए 4 मिथ

मिथ 1 – फैट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन बॉडी फैट को बढ़ाता है

हमें हमेशा से लो फैट डाइट लेने की सलाह दी जाती है। क्योंकि यह अवधारणा सालो से चली आ रही है की फैट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन शरीर में फैट बढ़ने का कारण होता है। परंतु आपको बता दें की ज्यादातर लो फैट डाइट में साल्ट, स्टार्ची और शुगरी कार्बोहायड्रेट मौजूद होते हैं जो शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ा देता है और वजन बढ़ने का कारन बन सकता है।

मिथ 2 – मील स्किप करने से वजन कम होता है

मील स्किप करने से वजन कम होने की जगह बढ़ भी सकता है। यदि आप एक समय का खाना स्किप कर देती हैं, तो कुछ समय बाद आपकी भूख और ज्यादा तेजी से बढ़ती है, जिस वजह से आप एक बार मे अधिक भोजन करती है, जो वजन बढ़ने का कारण बन सकता है।

इसके साथ ही यह शरीर मे जरूरी पोषक तत्वों की कमी का कारण बन जाता है और आप कमजोरी महसूस कर सकती हैं। सभी डायटीशियन पूरे दिन में छोटे छोटे मील लेने की सलाह देते हैं।

skipping meal ke nuksan
भोजन कभी न छोड़ें! चित्र : शटरस्टॉक

मिथ 3 – बढ़ते वजन को नियंत्रित रखती है लो कार्ब डाइट

कार्बोहाइड्रेट आपकी सेहत को बनाये रखने के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है। ऐसे में शरीर मे कार्ब्ज की एक उचित मात्रा होना जरूरी है। हालांकि, हाई प्रोसेस्ड फ़ूड में मौजूद कार्बोहाइड्रेट कई स्वास्थ्य जोखिमो का कारण बन सकते हैं। परंतु दूसरी ओर हरि पत्तेदार सब्जियों, फल, अनाज और बीन्स में मौजूद कार्ब्ज शरीर के लिए जरूरी होते हैं। तो ऐसे में यह आपके ऊपर निर्भर करता है की आप कार्ब्ज का स्रोत क्या रखते हैं।

मिथ 4 – आर्टिफिशियल स्वीटर्न्स से वजन कम होता है

बहुत से लोग वेट लॉस के दौरान शुगर से दूरी बनाने के लिए आर्टिफिशियल स्वीटर्न्स से नजदीकियां बढ़ा लेते हैं। परंतु आपकी जानकारी के लिए बता दें की खाना खाने से पहले आर्टिफिशियल स्वीटर्न्स का सेवन आपके भूख को काफी ज्यादा बढ़ा देता है और आप अधिक मात्रा में कैलरी लेती है। जो की कही न कही आपके बढ़ते वजन का कारण बन सकता है। हालांकि, हम यह नही कह रहे कि आप शुगर का सेवन करें परंतु वजन कम करने के लिए आर्टिफिशियल स्वीटर्न्स को बिकल्प बनाना भी सही नही रहेगा।

यह भी पढ़ें:  बढ़ता वायु प्रदूषण बन सकता है बच्चों की ग्रोथ में रुकावट, यहां जानें बचाव के जरूरी उपाय

  • 147
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory