थोड़ा हिलिए-डुलिए, क्योंकि आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए जरूरी है फिजिकली एक्टिव रहना

डियर लेडीज, जब आप शारीरिक रूप से सक्रिय रहती हैं, तब न केवल आप वेट लॉस करने में सक्षम होती हैं, बल्कि ये आपको एक हेल्दी पाचन और स्लीप देने में भी मददगार होता है।
आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए जरूरी है फिजिकली एक्टिव रहना। चित्र:शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published on: 14 August 2022, 11:00 am IST
ऐप खोलें

शारीरिक रूप से सक्रिय रहना और रेगुलर एक्सरसाइज करना करना आपके लिए कई स्वास्थ्य जोखिमों को कम कर देता है। यह न केवल आपके शरीर पर अतिरिक्त फैट के जमा होने को रोकता है, बल्कि आपको डिप्रेशन और एंग्जाइटी जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से भी बचाए रखता है। आइए जानें क्यों जरूरी है आपके लिए नियमित एक्सरसाइज करना और फिजिकली एक्टिव रहना (benefits of physical activity)।

फिजिकली एक्टिव रहने का मतलब मैराथन दौड़ना या हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज करना नहीं है। बल्कि फिजिकली एक्टिव रहने का मतलब है अपने शरीर को हर दिन उन गतिविधियों में शामिल करना, जिससे मांसपेशियों को खुलने का पर्याप्त अवसर मिले। अपने रोजमर्रा की चीजों में बदलाव लाकर भी आप खुद को शारीरिक रूप से सक्रिय रख सकती हैं।

यहां जानें फिजिकली एक्टिव रहना क्यों है जरुरी (benefits of physical activity)

1. वजन को नियंत्रित रखें

नियमित रूप से एक्सरसाइज करने से आपका वजन नियंत्रित रहता है। पब मेड सेंट्रल द्वारा एक्सरसाइज को लेकर किए गए अध्ययन के अनुसार जब व्यक्ति किसी तरह के फिजिकल एक्टिविटी में भाग लेते हैं, उनका शरीर कैलोरी बर्न करता है, जिसके कारण शरीर पर एक्स्ट्रा फैट जमा नहीं हो पाते।

जानिए वजन कम करने में कैसे मददगार है एक्सरसाइज। चित्र शटरस्टॉक।

हालांकि, फिजिकल एक्टिविटी में भाग लेने का मतलब केवल जिम जाना और एक्सरसाइज करना ही नहीं है। ऑफिस या फिर कहीं घूमने गए हो तो एलिवेटर की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करें, इसके साथ ही छोटी दूरी तय करने के लिए वॉक करें। ऐसी छोटी-छोटी शारीरिक गतिविधियों में भाग लेकर भी खुद को संतुलित रखा जा सकता है।

2. स्वास्थ्य जोखिमों की संभावना को कम करें

फिजिकली इनएक्टिव रहना कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। वहीं हार्ट डिजीज और हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्याएं, शारीरिक रूप से स्थाई रहने के कारण दिन प्रतिदिन बढ़ती जाती हैं।

इसके साथ ही नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित एक डेटा की माने तो शारीरिक गतिविधियों में भाग लेने से ब्लड फ्लो स्मूथ रहता है। इस कारण कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होने की संभावना कम हो जाती है। इन स्वास्थ्य समस्याओं में शामिल है –

स्ट्रोक

मेटाबॉलिक सिंड्रोम

एंग्जाइटी

अर्थराइटिस

कुछ प्रकार के कैंसर

डिप्रेशन

हाई ब्लड प्रेशर

डायबिटीज

नींद अच्छी आती है। चित्र : शटरस्टॉक

3. हेल्दी स्लीप में मददगार

शारीरिक सक्रियता को बनाए रखने से रात को एक अच्छी और पर्याप्त नींद प्राप्त करने में मदद मिलती है। द नेशनल स्लीप फाउंडेशन द्वारा बताया गया कि फिजिकल एक्टिविटी रात की एक अच्छी नींद के लिए बहुत जरूरी है।

स्टडी की माने तो इनसोम्निया की समस्या में एरोबिक एक्सरसाइज काफी ज्यादा फायदेमंद होती है। यदि कोई व्यक्ति इनसोम्निया से पीड़ित है, तो ऐसे में नियमित रूप से एरोबिक एक्सरसाइज करने से उनकी नींद की क्वालिटी काफी ज्यादा बेहतर हो सकती है। वहीं आपकी नींद मेंटल हेल्थ को बनाए रखने के लिए भी बहुत जरूरी है।

4 मेंटल हेल्थ को दुरुस्त रखता है

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉरमेशन द्वारा एक्सरसाइज और डिप्रेशन के कनेक्शन को लेकर किए गए एक अध्ययन में देखने को मिला कि फिजिकल एक्टिविटी मेंटल हेल्थ के लिए फायदेमंद हो सकती है।

एक्सरसाइज पूरे शरीर के सिस्टम को संतुलित रखता है, इसलिए इसका प्रभाव आपके मेंटल हेल्थ पर सकारात्मक होता है। वही रिसर्च में बताया गया कि बढ़ती उम्र के साथ यदि डिप्रेशन के मरीज एक्सरसाइज करते हैं तो यह उनके लिए फायदेमंद होने से ज्यादा नुकसानदेह हो सकता है। वहीं कई सारी स्टडी में पाया गया कि मेजर डिप्रेशन से गुजर रहे पेशेंट को फिजिकल एक्टिविटी पर ध्यान देने की सलाह दी जाती है।

मानसिक तनाव को काम करे. चित्र:शटरस्टॉक

1. एक्सरसाइज निगेटिव थॉट्स को ब्लॉक करने के साथ ही आपको बेफिजूल की चिंताओं से डिस्ट्रिक्ट रखता है।

2. इसके साथ ही जिमिंग करना और नियमित रूप से पार्क एवं योगा सेशन जाना आपको सोशली लोगों से ज्यादा कनेक्ट करता है। जिस वजह से आप थोड़ा हल्का महसूस कर सकती हैं।

3. यदि आप शारीरिक रूप से स्वस्थ रहती हैं, तो यह आपके मूड को शांत और अच्छा रखता है। इसके साथ ही आपकी अच्छी नींद के लिए भी बहुत ज्यादा जरूरी है।

4. इसके साथ ही एक्सरसाइज आपके ब्रेन के केमिकल्स में भी बदलाव लाता है, जैसे कि स्ट्रेस हार्मोस को नियंत्रित रखता है।

याद रखें

लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का प्रयोग करना, छोटी दूरी तय करने के लिए पैदल चलना या शाम को कुछ देर प्राकृतिक के बीच सैर पर निकल जाना। ऐसी छोटी-छोटी गतिविधियों में भाग लेते हुए आप खुद को फिजिकली एक्टिव रखने के साथ ही अपने आप को कई तरह की परेशानियों से भी दूर रख सकती हैं।

यह भी पढ़ें : आपकी शुगर क्रेविंग्स को हेल्दी तरीके से दूर करने के लिए ट्राई करें कमल गट्टे का हलवा

लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी- नई दिल्ली में जर्नलिज़्म की छात्रा अंजलि फूड, ब्लॉगिंग, ट्रैवल और आध्यात्मिक किताबों में रुचि रखती हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story