बीच में ही छूट गया है वर्कआउट रुटीन, तो एक्सपर्ट से जानिए आप कैसे दोबारा कर सकती हैं फिटनेस जर्नी की शुरुआत

क्या आप भी अपने वर्कआउट रूटीन की दोबारा से शुरुआत करने के बारे में सोच रही हैं? लेकिन बस कर नहीं पा रही हैं। तो यह लेख आपके लिए है। जानिए एक्सपर्ट की मदद से आप भी कैसे कर सकती है इसकी शुरुआत।

यहां बताया गया है कि आप फिर से वर्कआउट कैसे शुरू कर सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 5 September 2022, 10:00 am IST
  • 111

बीते कुछ सालों नें हम सभी को अपनी सेहत के प्रति जागरूक कर दिया है। जीवन चलाने में अच्छी सेहत कितना मायने रखती है यह तो हम सभी जानते हैं। इसलिए कई लोगों नें जिम जाना शुरू कर दिया है। जब सेहत बनाने और हेल्दी लाइफस्टाइल मेंटेंन करने की बात आती है तो कंटिन्यूटी बहुत ज़रूरी है। यदि आप अपना वर्कआउट रेगुलर नहीं करेंगी या बीच में छोड़ देते हैं तो उससे सेहत पर काफी प्रभाव पड़ता है। साथ ही, दोबारा एक्सरसाइज़ शुरू करना भी काफी मुश्किल हो जाता है।

तो क्या आप भी उनही लोगों में से एक हैं जो पहले बहुत हेल्दी और फिट हुआ करते थे। मगर लेजिनेस या किसी बीमारी के बाद अब याद करते रहते हैं कि वे कितने फिट हुआ करते थे। क्या आपको फिर से वर्कआउट रूटीन स्टार्ट करना एक सपना लगता है? क्या आपका भी दोबारा जिम जाने और एक्सरसाइज़ करने का मन करता है, लेकिन बस कर नहीं पाते हैं?

आपकी इसी समस्या के बारे में बात करते हुए सेलेब्रिटी डाइटीशियन और Food Darzee के फाउंडर डॉ. सिद्धांत भार्गव नें अपने इंस्टा हैंडल पर एक वीडियो साझा किया।

यहां देखें डॉ. सिद्धांत का वीडियो:

आप कैसे कर सकती हैं फिर से अपने वर्कआउट रूटीन की शुरुआत
यदि डॉ. सिद्धांत की मानें तो – यदि आप ये सोच रही हैं कि जाकर सिर्फ जिम जॉइन कर लेने से आप दोबारा वर्कआउट करना शुरू कर देंगी तो ऐसा नहीं होने वाला है। यदि आप अचानक से भारी – भरी एक्सरसाइज़ करना शुरू करेंगी तो आपकी बॉडी में बहुत दर्द होगा जिसकी वजह से आप फिर से एक्सरसाइज़ करना छोड़ देंगी।

वर्कआउट करने की आदत डालें

इसलिए सबसे ज़रूरी है कि आप दोबारा एक्सरसाइज़ करने की आदत डालें। सबसे सिंपल एक्सरसाइज़ के साथ शुरू करें और बस रोज़ इन्हें ही करें। ताकि आपकी फिर से वर्कआउट करने कि आदत बनें। ऐसे में आप वॉकिंग, जॉगिंग, हल्के – फुल्के जंपिंग जैक से स्टार्ट कर सकती हैं।

डॉ. सिद्धांत कहते हैं ”भले ही आपको इस प्रक्रिया में एक – दो महीने ही क्यों न हो जाएं। फिर एक बार जब आप फॉर्म में आ जाएं। तब आप फिर से हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज़ कर सकती हैं।”

यह भी पढ़ें : दिल को स्वस्थ रखना चाहती हैं, तो फैंसी जिम एक्सरसाइज की बजाए रस्सी कूदें, जानिए क्यों बेहतर है यह 

  • 111
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory