और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

क्या वाकई सोते-सोते वजन कम किया जा सकता है? क्या है नींद और आपके वजन का संबंध

Published on:21 September 2021, 09:30am IST
घंटों व्यायाम और सख्त डाइट फॉलो करने के बाद भी अगर आप वेट लॉस नहीं कर पा रहीं हैं, तो अब सोते-सोते अपना वज़न कम कीजिए। हम बता रहे हैं कैसे।
अदिति तिवारी
  • 100 Likes
ye bilkul normal hai
यह एक सामान्य आदत है। चित्र: शटरस्टॉक

बढ़ता वजन कई बीमारियों का घर होता है। ज्यादा वजन हाई ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर, हृदय संबंधी रोग, घुटनों में दर्द,आदि का कारण होता है। देश-दुनिया में कई लोग अपने वजन को कम करने के लिए कई उपाय करते हैं। आप भी इसके लिए मेहनत करते होंगे, लेकिन क्या फैट आपके शरीर से जाने का नाम नहीं लेता? तो इसके लिए आपकी नींद जिम्मेदार हो सकती है। जी हां, कई अध्ययनों के मुताबिक एक अच्छी और गहरी नींद आपका वजन कम कर सकती है। 

अच्छी नींद है वेट लॉस का कारण 

यह प्रमाणित है कि यदि आप 7 से 8 घंटों की अच्छी और बिना किसी अवरोध के गहरी नींद लेते हैं, तो आपका वजन घटने लगेगा। अच्छी नींद आपका मेटाबॉलिज्म मजबूत करती है। जिससे ज्यादा फैट आपके शरीर में नहीं रहता। 

yah pramanit hai ki 7-8 ghante ki achi nind vajan ghatane mein madad karti hai
यह प्रमाणित है कि 7 से 8 घंटों की अच्छी नींद वजन घटाने में मदद करती है। चित्र-शटरस्टॉक

बेहतर मेटाबॉलिज्म ज्यादा कैलरी बर्न करने में मदद करता है। कम और पूरी नींद न लेने पर शरीर में कॉर्टिसोल (cortisol) नामक स्ट्रेस हॉर्मोन (stress hormone) रिलीज होता है। यह भूख बढ़ाता है और नींद की कमी से फूड क्रेविंग (food craving) भी होती है। आप अपनी क्रेविंग को कंट्रोल नहीं कर पाते और ज्यादा कैलरी खाने के कारण आपका वजन बढ़ने लगता है। 

वेट लॉस के लिए सोते समय इन बातों का रखें ध्यान 

1. सोने से पहले ध्यान देने योग्य बातें 

  • कैमोमाइल टी का करें सेवन: 

सोने से पहले एक प्याली गरम कैमोमाइल टी का सेवन करने से अच्छी नींद आती है। कैमोमाइल टी से शरीर में ग्लाइसिन का स्तर बढ़ता है, जिससे नींद आने लगती है। तो इसे जरूर पीयें और देखे कि कैसे सोते-सोते वजन कम होने लगता है। 

  •  मोबाइल को रखें दूर: 

बहुत सारे शोध में यह पाया गया है कि सोने से पहले मोबाइल या अन्य गैजेट्स का इस्तेमाल करना हानिकारक है। इससे निकलने वाले ब्लू लाइट (blue light) आपके स्लीप हॉर्मोन मेलाटोनिन के स्तर को कम करती है। मेलाटोनिन के कम होते ही भूख बढ़ जाती है और एक्स्ट्रा कैलरी से वजन तेजी से ऊपर भागता है। इसलिए सोने से पहले देर रात तक मोबाइल का इस्तेमाल न करें। 

mobile se nikalne waali nili roshni nind ko disturb karti hai
मोबाइल से निकलने वाली नीली रोशनी आपकी नींद को डिस्‍टर्ब करती है। चित्र: शटरस्टॉक
  • अंधेरे में सोएं: 

यह रिसर्च द्वारा प्रमाणित है कि स्लीप हॉर्मोन मेलाटोनिन शरीर में ब्राउन फैट (brown fat) उत्पन्न करता है, जो एक्स्ट्रा कैलरी बर्न करती है। अगर आप अंधेरे में सोते है तो शरीर ज्यादा मेलाटोनिन का संचार करेगा। इससे वजन घटाने में मदद मिलेगी। अतः रात को नाइट बल्ब या लैम्प जलाने के बजाय अंधेरा करके सोएं।     

  • कमरे में मिन्ट की खुशबू फैलाएं: 

सोने से पहले अपने कमरे में मिंट की खुशबू वाला स्प्रे करें या तकिये पर मिंट ऑइल लगाकर सोएं। जर्नल ऑफ न्यूरोलॉजी एण्ड ऑर्थोपीडिक मेडिसिन की स्टडी के अनुसार मिंट की खुशबू वजन कम करने में मदद करती है। दिन में 2 घंटे इसकी खुशबू लेने से आपका वजन घटने लगेगा। 

peeth ke bal pair falakar sona sabse behtareen position hai
पीठ के बल पैर फैलाकर सोना सबसे बेहतरीन पोजीशन है। चित्र : शटरस्टॉक

2. सोते समय ध्यान रखने योग्य बातें 

  • सही पोजिशन में सोएं: 

पीठ के बल पैर फैलाकर सोना सबसे बेहतरीन पोजीशन है। इसलिए पैर मोड़कर या पेट के बल सिकुड़कर सोना बंद करें। आप चाहें तो पैर खोलकर बाईं या दाईं ओर करवट लेकर सो सकते है। 

  • कमरा ठंडा रखें: 

सोते-सोते वजन घटाना है तो अपने कमरे को ठंडा रखें । डाइबेटिक जर्नल के अनुसार यदि आपका कमरा ठंडा रहता है, तो आपका शरीर खुद को गरम रखने के लिए फैट का इस्तेमाल करता है। इस पकार सोते समय आपका एक्स्ट्रा फैट बर्न होता है और वजन तेजी से घटता है। 

तो लेडीज, अब तो आपको वजन घटाना आसान लग रहा होगा? तो जल्दी से अपने सोने का रुटीन और पोजीशन ठीक करें और वेट लॉस के लिए तैयार हो जाएं। 

यह भी पढ़ें: इन आसनों के साथ मिलाकर करें कपालभाति प्राणायाम, वेट लॉस के साथ बढ़ेगी इम्युनिटी

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !