और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस : ये 5 आसन उनके लिए जो हमेशा जल्‍दी में रहती हैं

Published on:17 June 2021, 09:00am IST
अगर आप रिलैक्स होना चाहती है और शरीर की प्रत्येक मांसपेशी को आराम देना चाहती हैं, तो इन योगासनों को अभी से शुरू कीजिए, क्योंकि ये आपकी अनिद्रा, तनाव और एकग्रता के स्तर में सुधार लाते हैं।
अंबिका किमोठी
  • 93 Likes
ये आसन उनके लिए जो हमेशा जल्‍दी में रहती हैं। चित्र-शटरस्टॉक.
ये आसन उनके लिए जो हमेशा जल्‍दी में रहती हैं। चित्र-शटरस्टॉक.

बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो योगाभ्यास करना तो चाहते हैं,लेकिन उनकी सबसे बड़ी समस्या होती है समय की कमी। पर यकीन कीजिए योग में उन सभी के लिए कुछ न कुछ है, जो अपने जीवन को बेहतर बनाना चाहते हैं। अगर लॉकडाउन के बाद आपका ऑफिस खुल गया है और आपको एक्सरसाइज करने का समय नहीं मिल पा रहा है, तो हम आपके लिए लाए हैं ऐसे पांच योगासन जो बहुत कम समय में आपका मेंटल स्ट्रैस कम करने में आपकी मदद करेंगे।

तो शुरू करते हैं हमेशा जल्दी में रहने वालों के लिए 5 योगासन

1. पद्मासन

इस सरल योगासन को कुछ मिनटों के लिए एक खाली बैठक कक्ष में या आप अपने कार्यस्थल के बगल के लॉन में कर सकती हैं। ये आसन आपके कूल्हे, टखने से लेकर आपके मस्तिष्क को
खोलने में मदद करता है।

आपके मस्तिष्क को खोलने में मदद करता है। चित्र-शटरस्टॉक.
आपके मस्तिष्क को
खोलने में मदद करता है। चित्र-शटरस्टॉक.

योगासन करने का तरीका

  • योग मैट पर पैरों को सामने की ओर फैलाकर बैठ जाएं।
  • अपनी कमर और गर्दन को सीधा रखें।
  • अब दाएं पैर को मोड़ कर उसकी एड़ी को बाईं जांघ पर रखें।
  • इस प्रक्रिया को दूसरे पैर के साथ भी दोहराएं।
  • हाथ को जांघ पर ऱखें और शांत मन से ध्यान करें।

2. ताड़ासन

ये सबसे आसान योगासन है- ये आपके पेट, पीठ, पैरों और कोर की खराब मुद्रा को ठीक करने के लिए काम आता है। ये आपके रक्त परिसंचरण में सुधार करने के साथ-साथ आपको तनाव से भी छुटकारा दिलाता है। इस आसान को अपने ऑफिस के पार्क में भी आप कर सकती हैं।

ताड़ासन करने का सही तरीका। चित्र-शटरस्टॉक.
ताड़ासन करने का सही तरीका। चित्र-शटरस्टॉक.

योगासन को करने का तरीका

  • पैर और कमर को सीधा करके योग मैट पर खड़ी हो जाएं।
  • इस दौरान एड़ियों को एक-दूसरे से मिला कर रखें।
  • अपनी दोनों हथेलियों को आपस में फंसाकर ऊपर उठाएं।
  • हथेलियों की दिशा आकाश की तरफ होनी चाहिए।
  • और आपका चेहरा सामने की तरफ होना चाहिए।

3. उत्तानासन

ये योग मुद्रा कुछ ही मिनटों में ज्यादा लाभ देती है और इसे कम जगह में किया जा सकता हैं। उदाहरण के लिए आपका ऑफिस वाशरूम। यह कुछ ही मिनटों में आपके लीवर, किडनी और पाचन तंत्र को उत्तेजित करने, पिंडलियों और कूल्हों को स्ट्रेच करने के साथ-साथ थकान और सिरदर्द से राहत दिलाने में काफी मददगार है।

योगासन करने का तरीका

  • योग मैट पर सीधे खड़े हो जाएं और दोनों हाथ हिप्स पर रखें।
  • सांस को भीतर खींचते हुए, कमर को मोड़ते हुए आगे की तरफ झुकें।
  • अपने हाथों से टखने को पीछे की ओर से पकड़ें।
  • आपका सीना पैर के ऊपर छूता रहेगा।
  • सिर को नीचे की तरफ झुकाएं और टांगों के बीच से झांककर देखते रहें।

4. बद्ध कोणासन

इस योग आसन को आप अपने कार्यालय के बाहर बेंच में भी कर सकती हैं। यह आपके पेट के अंगों, मूत्राशय, गुर्दे, हृदय और परिसंचरण के लिए बहुत अच्छा है। इसके साथ ही ये आपके मानसिक स्वास्थ्य और ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है।

मानसिक स्वास्थ्य और ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है। चित्र: शटरस्टॉक
मानसिक स्वास्थ्य और ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है। चित्र: शटरस्टॉक

योगासन करने का तरीका

  • कमर सीधी करके योग मैट पर बैठ जाएं।
  • अपनी टांगों को खोलकर बाहर की तरफ फैलाएं।
  • घुटनों को मोड़ें और दोनों एड़ियों को अपने पेट के नीचे की तरफ ले आएं।
  • दोनों एड़ियां एक-दूसरे को छूती रहेंगी।
  • इसके बाद घुटनों को दोनों तरफ नीचे की ओर ले जाएं।

5. शवासन

इस आसन को रात में अपने बिस्तर पर रिलैक्स होने के लिए कर सकती हैं। ये शरीर की प्रत्येक मांसपेशी को आराम देता है। शवासन अनिद्रा, तनाव और एकग्रता के स्तर में सुधार लाता है।

शवासन अनिद्रा, तनाव और एकग्रता के स्तर में सुधार लाता है। चित्र : शटरस्टॉक
शवासन अनिद्रा, तनाव और एकग्रता के स्तर में सुधार लाता है। चित्र : शटरस्टॉक

योगासन करने का तरीका

  • योग मैट पर पीठ के बल लेट जाएं।
  • ये सुनिश्चित करें कि आसन करने के दौरान कोई भी आपको डिस्टर्ब न करे।
  • अपनी आंखें बंद कर लें।
  • दोनों टांगों को अलग-अलग कर लें।
  • इस बात का ध्यान रखें कि आप पूरी तरह से रिलैक्स हों।
  • जब आपका शरीर पूरी तरह से रिलैक्स हो जाए तो आराम से उठ जाएं।

तो लेडीज, अब तो आप फिट होने के लिए समय की कमी का बहाना नहीं बनाएंगी न। हैप्पी योगा। स्वस्थ रहें , फिट रहें।

इसे भी पढ़ें-अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस : नियमित योग-प्राणायाम बच्‍चों को कोविड-19 की तीसरी लहर से बचाने में हो सकता है मददगार

अंबिका किमोठी अंबिका किमोठी

योगा, डांस और लेखनी, यही सफर के साथी हैं। अपनी रचनात्‍मकता में देखूं कि ये दुनिया और कितनी प्‍यारी हो सकती है।