योगाभ्यास करते समय इन 4 चेतावनी संकेतों को नज़रअंदाज़ करना हो सकता है खतरनाक

Published on: 3 December 2021, 08:00 am IST

योग एक स्वस्थ दैनिक अभ्यास है, लेकिन इसके अभ्यास के दौरान अगर आपको कुछ परेशानियां आ रहीं हैं, तो आपको उन पर तुरंत ध्यान देना चाहिए।

yoga me galtiyan
योग करते समय दर्द से बचना ज़रूरी है। चित्र : शटरस्टॉक

एक शांत और तरोताजा दिमाग, वेल स्ट्रेच्ड शरीर और थोड़ा सा पसीना इस बात का संकेत हो सकता है कि आपका योग सत्र बेहतर रहा है। मगर इसके अलावा भी कुछ और संकेत हो सकते हैं, जो आपका शरीर आपको दे रहा है। इनमें थकान, शरीर के किसी विशेष हिस्से में दर्द और कई अन्य संकेत शामिल हैं। जिनका सीधा सा अर्थ है कि आपकी कुछ गलतियां कर रहीं हैं। 

कभी-कभी, हम अपने आप को बहुज ज्यादा फिटनेस वर्कआउट में शामिल कर लेते हैं। जिससे हमारी मांसपेशियों थककर चूर हो जाती हैं। नतीजतन, आधुनिक योग संस्कृति के कई पहलू वास्तव में हानिकारक हो सकते हैं।

यह ज़रूरी है कि योग का अभ्यास सावधानीपूर्वक और किसी विशेषज्ञ के मार्गदर्शन में किया जाना चाहिए। आप शवासन की मुद्रा जैसे बेहद साधारण आसन के साथ भी गलत हो सकते हैं। सर्व योग में योग प्रशिक्षक राधिका अरोड़ा ने इंस्टाग्राम रील के माध्यम से कुछ संकेतों के बारे में इशारा किया है।

”अरोड़ा ने रील को कैप्शन दिया, हम अक्सर वर्कआउट करने के बाद अपने शरीर के किसी हिस्से में दर्द महसूस करते हैं, लेकिन हमें कब चिंता करनी चाहिए?  यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपको यह समझने में मदद करेंगे कि आपको कब मदद लेनी चाहिए।

योग का अभ्यास करते समय आपको इन जरूरी चीजों का ध्यान रखना चाहिए 

गलत योग मुद्रा ( Wrong postures )

सीधे शब्दों में कहें, एक मुद्रा का फोकस शरीर की एकरूपता के बारे में है। सही मुद्रा अद्भुत काम कर सकती है, लेकिन गलत मुद्रा आपको नकारात्मक परिणाम दे सकती है। सांस लेने की लय और शरीर की गति को बनाए रखना आवश्यक है। प्राणायाम और आसनों का सही अभ्यास सेहत और दिमाग के लिए फायदेमंद हो सकता है।

शरीर की क्षमता से ज्यादा योग करना 

कुछ ऐसे संकेत हैं जिन्हें योग का अभ्यास करते समय अनदेखा नहीं करना चाहिए। वांछित परिणाम प्राप्त करने के लिए बहुत अधिक थकावट न केवल नकारात्मक परिणाम दे सकती है, बल्कि थकान भी पैदा कर सकती है। अपने आप को बहुत ज्यादा थकाने की कोशिश न करें।  

शरीर के विभिन्न हिस्सों में दर्द

आध्यात्मिक से लेकर अधिक शारीरिक अभ्यास तक योग की जरूरत होती है। मगर योग दद्र का कारण नहीं बनना चाहिए। यदि आप योग आसनों को सही और उचित मार्गदर्शन में करते हैं, तो आप दर्द से बच सकते हैं। ऐसे दर्द पर नज़र रखें और अपनी योग दिनचर्या को अपने शरीर और क्षमता के अनुसार बदलें। 

यदि आप योग आसनों को सही और उचित मार्गदर्शन में करते हैं, तो आप दर्द से बच सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

योग सत्र के बाद सांस फूलना

अपनी सांसों से जुड़ना सही योग करने का एक जरूरी हिस्सा है। कठोर योग और कठिन आसन कभी-कभी आपको सांस की तकलीफ का अनुभव करा सकते हैं। लेकिन यह एक खतरनाक संकेत हो सकता है कि आपके शरीर को रुकने की जरूरत है।

तो लेडीज, योग की सच्ची शक्ति का अनुभव करने के लिए इन संकेतों को नज़रअंदाज़ न करें!

यह भी पढ़े : सेलेब्रिटी न्यूट्रीशनइस्ट रुजुता दिवेकर से जानिए 3 स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज जो आपकी पीठ के लिए हैं फायदेमंद

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें