नई एक्सरसाइज की शुरुआत या ओवर एक्सरसाइज भी दे सकती है मसल्स क्रैंपस, यहां हैं इससे डील करने के उपाय

ओवर एक्सरसाइज शरीर को थकान से भरा और कमज़ोर बना देती है। इससे मसल्स क्रैंपस बढ़ने लगते हैं। अगर आप अपने वर्कआउट रूटीन को नियमित रखना चाहती हैंए तो इन टिप्स का फॉलो करके मसल्स क्रैंपस से मुक्ति पा सकती हैं।
Muscle cramps ke liye yeh tips follow karein
इन टिप्स को फॉलो करके मसल्स क्रैंपस से मुक्ति पा सकती हैं। चित्र-अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 17 Oct 2023, 17:06 pm IST
  • 141

घंटों लगातार एक्सरसाइज़ करने के बाद जहां वेटलॉस (weight loss) में मदद मिलती हैं, तो वहीं मसल्स क्रैप्स (Muscle cramps) की समस्या भी बढ़ने लगती है। काफ मसल्स (Calf muscles) से लेकर बाजूओं और पैरों में होने वाली ऐंठन शरीर को थकान से भरा और कमज़ोर बना देती है। अधिकतर लोग होने वाली ऐंठन  से डरकर एक्सरसाइज़ करना या तो बंद कर देते हैं या फिर पूरा समय नहीं देते हैं। इससे आपका वर्कआउट रूटीन डिस्टर्ब होने लगता है। अगर आप अपने वर्कआउट रूटीन को नियमित रखना चाहती हैं, तो इन टिप्स का फॉलो करके मसल्स क्रैंपस से मुक्ति पा सकती हैं (how to stop muscle cramps fast)

जानते हैं मासंपेशियों में होने वाली ऐंठन से बचने के कुछ उपाय।

1. वॉटर इनटेक बढ़ाएं

बहुत से लोग दिनभर में पानी कम मात्रा में पीते हैं। शरीर में पानी की कमी के चलते भी लगातार एक्सरसाइज़ करने से मसल्स में ऐंठन महसूस होने लगती है। ऐसे में डिहाइड्रेशन (Dehydration) की स्थिति से शरीर को बचाने के लिए दिनभर में 7 से 8 गिलास पानी पीएं। इससे बॉडी अपनी फंक्शन उचित तरीके से करती है। दरअसल, एक्सरसाइज़ के दौरान बॉडी में स्वैटिंग होने लगती है, जिससे शरीर में पानी का स्तर कम होने लगता है। जो मांसपेशियों और टिशूज की फंक्शनिंग को प्रभावित करता है।

Jyada paani peeyein
अधिक से अधिक पानी पीना आपके लिए आवश्यक है। इससे शरीर डिटॉक्स होता है। चित्र: शटरस्टॉक

2. कोल्ड पैक्स लगाएं

देर तक एक्सरसाइज़ करने के बाद शरीर में अकड़ान महसूस होने लगती है। मांसपेशियों में बार बार होने वाली दर्द और ऐंठन को कम करने के लिए कोल्ड पैक्स का प्रयोग करना फायदेमंद साबित होता हैं। इसके अलावा हॉट बाथ (Hot bath) भी शरीर की थकान को दूर करने में सहायक साबित होता है। वहीं कोल्ड पैक के अलावा आप कपड़ें में लपेटकर बर्फ से दर्द वाली जगह पर सिकाई कर सकते है। इससे जल्द राहत मिलने लगती है।

3. इलेक्ट्रोलाइट्स का रखें ख्याल

शरीर में सोडियम और पोटेशियम जैसे मिनरल्स से इलेक्ट्रोलाइट्स (electrolytes) की कमी पूरी होती है। इससे मांइड रिलैक्स और मसल्स को भी आराम मिलने लगता है। बॉडी में इलेक्ट्रोलाइट की कमी ऐंठन का कारण साबित होता है। शरीर को हेल्दी रखने के लिए मैग्नीशियम और कैल्शियम की भी अवश्यकता होती हैं। शरीर को स्वस्थ रखने और किसी प्रकार के दर्द से खुद को बचाने के लिए व्यायाम के कुछ देर बाद इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक का सेवन कर सकते हैं। इन पोषक तत्वों को डेली डाइट में शमिल करके शरीर को मज़बूत बनाया जा सकता है।

4. स्ट्रेचिंग और रिलैक्सिंग एक्सरसाइज़ ज़रूर करें

रूटीन वर्कआउट करने से पहले कुछ देर स्ट्रेचिंग (stretching) और रिलैक्सिंग एक्सरसाइज़( relaxing exercise) अवश्य करें। एक्सपर्ट के मुताबिक वे लोग जो वर्कआउट से पहले स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़ करते हैं। उन लोगों में मसल्स पेन की शिकायत नहीं रहती है। एनसीबीआई के एक रिसर्च के मुताबिक 72 रनर्स को 2 ग्रुप्स में बांट दिया गया। एक ग्रुप को स्ट्रेचिंग (stretching) और रिलैक्सिंग एक्सरसाइज़ ( relaxing exercise) करने को कहा गया। जब कि दूसरे को सीधा वर्कआउट ही करना था। दोनों में से स्ट्रेचिंगएक्सरसाइज़ करने वाले लोगों में दर्द की संभावना न के बराबर रही।

stretching exercise apki muscles ko relax karti hai
स्ट्रेचिंग और रिलैक्सिंग एक्सरसाइज़ शरीर को रिलैक्स करती है। चित्र: शटरस्टॉक

5. पौष्टिक आहार लें

वर्कआउट के बाद शरीर को मज़बूत रखने के लिए अपनी डाइट में हेल्दी फूड एड करें। शरीर को एनर्जी प्राप्त करने के लिए डाइट में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट (carbohydrates) और हेल्दी फैट्स का सेवन करें। इससे मांसपेशियों में मज़बूती आने लगती है। इसके अलावा बार बार होने वाले क्रैंपस (cramps) से राहत मिल जाती है। इसके अलावा मील को स्किप करने से भी बचें।

6. विटामिन ई को करें डाइट में सम्मिलित

स्किन और बालों को पोषण प्रदान करने के अलावा विटामिन ई शरीर को मज़बूत भी बनाता है। इसके नियमित सेवन से शरीर हाई ब्लड प्रेशर (high blood pressure), हाई संबधी समस्याओं और अर्थराइटिस (arthritis) व टांगों में होने वाली ऐंठन से राहत पहुंचाता है। डॉक्टर की सलाह के बाद आप विटामिन सप्लीमेंटस को अपने रूटीन में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा सीताफल, ब्रोकली, टोफू और सूरजमुखी के बीज भी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इसस हमारे शरीर में विटामिन ई की कमी पूरी हो जाती है।

ये भी पढ़ें- लॉन्ग सिटिंग जॉब में हैं, तो अपने कूल्हे, घुटने और टखने की एक्सरसाइज पर ध्यान देना है जरूरी, जानिए क्यों और कैसे

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख