बॉडी के एक्स्ट्रा पाउंड्स कम करना है, तो ये 6 टिप्स आ सकते हैं आपके काम

बहुत से ऐसे लोग है, जो वज़न कम करने के लिए मील स्किप कर देते हैं। इससे आप थकान और कमज़ोरी का भी शिकार होने लगती है। जानते हैं ऐसे कितने तरीके हैं, जिनकी मदद से कैलोरीज़ को बर्न किया जा सकता है।
Healthy diet ke sath exercise bhi zaruri hai
जानते हैं एनर्जी को रिस्टोर करने के लिए पोस्ट वर्कआउट मील्स अवश्य लें । चित्र: शटरस्टाॅक
ज्योति सोही Published: 4 Sep 2023, 08:00 am IST
  • 141

इसमें कोई दोराय नहीं कि वजन को कम करना एक मुश्किल टास्क है। मगर उसे कम करने के लिए हेल्दी तरीकों को अपनाना बेहद ज़रूरी है। बहुत से ऐसे लोग है, जो वज़न कम करने के लिए दिनभर में एक से दो मील स्किप कर देते हैं। इससे वज़न कम होने के साथ साथ आप थकान और कमज़ोरी का भी शिकार होने लगती है। जानते हैं टोनिंग व्यायाम से लेकर हेल्दी डाइट तक ऐसे कितने तरीके हैं, जिनकी मदद से शरीर की अतिरिक्त कैलोरीज़ को बर्न किया जा सकता है (How to burn flabby skin fat)

बॉडी को फैट फ्री रखने के लिए इन बातों का रखें ख्याल

1 छोटी मील्स लें

एक वक्त में ज्यादा खाना खाने की अपेक्षा दिनभर में छोटी मील्स लें। इससे शरीर में अतिरिक्त कैलोरीज़ जमा होने की समस्या हल हो जाती है। दूसरी ओर अगर आप लंबे वक्त तक खाली पेट रहती हैं। तब भी वेटगेन भी संभावना बढ़ने लगती है। एक्सपर्ट के मुताबिक दिनभर में 7 से 8 स्मॉल मील्स (small meals) लें। इससे आपको दिनभर में सभी पोषक तत्वों की भी प्राप्ति आसानी से हो सकती है।

oatmeal ke ye cookies jarur try kREIN
ओटमील कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

2 ब्रेकफास्ट स्किप न करें

सुबह का नाश्ता आपको दिनभर संतुष्ट रखने में मदद करता है। ऐसे में बॉडी में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए हेल्दी ब्रेकफास्ट (Healthy breakfast) लेना ज़रूरी है। इससे आपका शरीर स्वस्थ और बीमारियों से दूर रहता है। रात के खाने में आप कुछ हल्का खा सकते हैं। चाहें तो डिनर में फ्लूइड डाइट लें। इससे अतिरिक्त कैलोरीज़ से शरीर बचा रहता है।

3 कोर मसल्स को करें टोंड

फ्लैबी स्किन फैट से मुक्ति पाने के लिए कोर मसल्स को टोंड रखने वाली एक्सरसाइज़ को अपने रूटीन का हिस्सा बनाएं। इससे मसल्स मज़बूत (strong muscles) होंगे और आपका बैली फैट (Belly fat) भी कम होने लगेगा। अपने आप को स्लिम करने के लिए दिन की शुरूआत वर्कआउट से करें। इसके अलावा कुछ वक्त वॉक के लिए भी निकालें।

4 मलासन वॉक करें (malasana walk)

सबसे पहले मैट पर सीधे खड़े हो जाएं और अब घुटनों को मोड़ते हुए पैरों के भार ज़मीन पर बैठें। इस दौरान आपके हिप्स ज़मीन को टच नहीं होन चाहिए।
इसके बाद गहरी सांस लें और दोनों हाथों को नमस्कार की मुद्रा में रखें। धीरे धीरे सांस छोड़ें। इस प्रक्रिया अलावा अब इसी पोज़ में चलने का प्रयास करें।
दोनों पैरों को आगे की ओर बढ़ाएं और वॉक (walk) करें। इस पोज़ में 1 मिनट की वॉक (walk) करने के बाद नॉर्मल पोजिशन में आ जाएं।
इससे न केवल फैट्स रिडयूज़ होंगे बल्कि आपके मसल्स मज़बूत (strong muscles) होने लगते हैं।

malaasan ko routine mei karein shaamil
मलासन से होते है फैट्स रिडयूज़। चित्र शटरस्टॉक।

5 उत्कट कोणासन भी है फायदेमंद (Goddess pose)

इस योगासन को करने के लिए मैट पर खड़े हो और पीठ सीधी रखें। अब दोनों पैरों के मध्य गैप मेंटेन कर लें। घुटनों को मोड़ लें और टांगों में गैप मेंटेन रखें।
उसके बाद पैरों के पंजों को बाहर की ओर निकालकर एड़िया अंदर की ओर करें। इसके बाद दोनों बाजूओं को कोहनी से मोड़कर हथेलियों को
आसमान की ओर रख ले। इस योग को करने के लिए कमर को सीधा रखें। 25 से 30 सेकण्ड तक इस पोज़ में रहने के बाद बॉडी को नॉर्मल पोज़िशन में ले आएं। इस योग को करने से पेल्विक मसल्स मज़बूत बनती हैं।

6. फोरआर्म प्लैंक एक्सरसाइज़ (Forearm plank exercise)

कोर मसल्स को मज़बूत बनाने और स्ट्रेंथ बढ़ाने के लिए प्लैंक को अपने वर्कआउट रूटीन का हिस्सा बनाएं। इससे शरीर में लचीलापन बना रहता है।
इसके लिए मैट पर पेट के बल लेटकर दोनों हाथों को चेस्ट के पास रखकर उपर की ओर शरीर को उठाएं। पैरों के मध्य दूरी बनाकर रखें।
टोज़ं के बल पर शरीर के निचले भाग को उपर उठाएं। इसे करते वक्त सिर को आगे की ओर रखें। अपने सार्म्थय के हिसाब से प्लैंक करें। उसके बाद सामान्य मुद्रा में आ जाएं।

ये भी पढ़ें- Mobility Exercises : जानिए क्यों जरूरी है फिटनेस रुटीन में मोबिलिटी एक्सरसाइज शामिल करना

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख