Yoga for migraine : इन 4 योगासनों के अभ्यास से आप पा सकती हैं माइग्रेन से राहत

यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है या अभी-अभी आपको माइग्रेन डिटेक्ट हुआ है, तो परेशानी की कोई बात नहीं है। डॉक्टर के बताए नियमों का पालन करें और समय पर दवाइयां लें। साथ ही कुछ खास योगासनों का अभ्यास करें।
migraines se nijat paane me madad krenge ye 4 yogasan
यहां हैं माइग्रेन के लिए 4 प्रभावी योगासन। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated: 18 Oct 2023, 10:09 am IST
  • 111

माइग्रेन की समस्या मस्तिष्क से जुड़ी एक परेशानी है, जिसमें अचानक से बहुत तेज सिर दर्द का सामना करना पड़ सकता है। यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है या अभी-अभी आपको माइग्रेन डिटेक्ट हुआ है, तो परेशानी की कोई बात नहीं है। डॉक्टर के बताए नियमों का पालन करें और समय पर दवाइयां लें। साथ ही कुछ खास योगासन भी हैं, जो माइग्रेन में होने वाले सिर दर्द को कम कर आपकी स्थिति में सुधार कर सकती हैं।

नेशनल हेडाचे फाउंडेशन भी योग और शारीरिक गतिविधियों को माइग्रेन की स्थिति में फायदेमंद मानता है। माइग्रेन सिरदर्द खासकर तनाव की स्थिति में उत्पन्न होता है, और योग तनाव को कम करने का एक प्रभावी तरीका है।

आज हेल्थ शॉट्स लेकर आया है ऐसे चार खास योगासन (Yoga for migraine), जो माइग्रेन सिर दर्द से राहत पाने में आपकी मदद करेंगे। साथ ही धीरे-धीरे यह आपकी स्थिति में भी सुधार करेंगे।

migrane ke dard ka karan hai der tak sona
माइग्रेन का कारण हो सकता है देर तक सोना। चित्र : शटरस्टॉक

यहां हैं माइग्रेन के लिए 4 प्रभावी योगासन

1. पद्मासन (lotus pose)

लोटस पोज दिमाग को शांत रखता है और सिर दर्द को काम करता है।

जानें क्या है इसे करने का सही तरीका

पैरों को सामने की ओर फैलाकर बैठ जाएं, इस दौरान रीढ़ की हड्डियों को जितना हो सके उतना सीधा रखने का प्रयास करें।
दाहिने घुटने को मोड़े और बाएं जांघ पर रख दें। इस दौरान एड़ी पेट के पास रखें और पांव का तलवा ऊपर की ओर।
अब यही प्रक्रिया दूसरे पैर के साथ भी दोहराएं।
फिर दोनों पैरों को मोड़ें, अब हाथों को मुद्रा स्थिति में दोनों घुटनो पर रखें।
इस मुद्रा में अपनी सिर और रीड की हड्डियों को पूरी तरह से सीधा रखें।
अब इस मुद्रा में गहरी सांस लें और फिर सांस छोड़ें।

यह भी पढ़ें : वर्कआउट में शामिल करें 5 ऐसी एक्सरसाइज जो आपके हिप्स को टोन करती हैं

2. अधोमुखश्वानासन (downward facing dog)

डाउनलोड फेसिंग डॉग पोज ब्रेन में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देता है। जिससे कि मस्तिष्क एक्टिव रहती है, साथ ही साथ माइग्रेन के सिर दर्द से भी राहत मिलती है।

इस तरह करें

अधोमुखश्वानासन की स्थिति के लिए योगा मैट पर अपनी हथेली एवं घुटनों के बल टेबल टॉप पोजीशन में आ जाएं।
अब धीरे-धीरे कमर को ऊपर की ओर उठाने की कोशिश करें।
इस दौरान अपनी कोहनी और घुटनों से जमीन पर मजबूती से पकड़ बनाये रखें।
अब कमर के हिस्से को उठाएं और देखें कि आपके शरीर से उल्टा “v” आकार बन रहा हो।
अब हथेलियों से जमीन पर पकड़ बनाते हुए गर्दन को स्ट्रेच करें।
कुछ सेकंड तक इस मुद्रा में बनी रहें, फिर घुटनों को आराम दें और सामान्य स्थिति में वापस आ जाएं।

migraine par kaise karein control
जानते हैं वो 4 योग क्रियाएं, जिनके माध्यम से सिर दर्द को अलविदा कह सकते हैं। चित्र : अडोबी स्टाॅक

3. शिशु आसान (Child pose)

चाइल्ड पोज आपके नर्वस सिस्टम को आराम पहुंचता है और इसे शांत रखता है। साथ ही आपके माइग्रेन के सिर दर्द को भी कम करने में मदद करता है।

योग को करने के लिए स्टेप्स

इसे करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल योगा मैट पर लेट जाएं।
इस दौरान दोनों हाथ और पैर को बिल्कुल सीधा रखें।
कुछ देर तक लेती रहें और रिलैक्स करें। फिर धीरे धीरे उठकर बैठें और इस दौरान अपने पैर को सीधा रखें।
अब कमर के पास से आगे की ओर झुकें और सिर को घुटनों पर रखें।
वहीं अपने दोनों हाथों से दोनों पैरों को पकड़ने की कोशिश करें।
इस मुद्रा में लगभग 20 से 30 सेकंड तक बनी रहें।
समय पूरा होने पर सिर उपर उठा लें और बैठ जाएं।
इन अभ्यास को कम से कम 3 से 4 बार जरूर दोहराएं।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें
Savasana yog session ke baad kiya jaata hai
शवासन योग सेशन के बाद किया जाता है। चित्र: शटरस्टॉक

4. शवासन (Corpse pose)

यह मुद्रा शरीर को डीप मेडिटेशन के स्टेट में ले जाती है और समग्र शरीर को पुनर्जीवित करती है। साथ ही इसे करना भी बेहद आसान है। यह आपके मस्तिष्क को एक्टिव करने के साथ ही आपके समग्र शरीर को आराम पहुंचाता है।

इस योग को कैसे करें

इस योग की शुरुआत करने के लिए योगा मैट पर पीठ के बल लेट जाएं।
इस दौरान अपने दोनों हाथ और पैर समेत पूरे शरीर को पूरी तरह ढीला छोड़ दें।
योगासन की मुद्रा में ध्यान रखें की आपके दोनों पैर एक दूसरे से अलग हों।
वहीं दोनों हाथों को शरीर से थोड़ी दूरी पर रखें और हाथों को सीधा रखें।
इस रिलैक्सिंग मुद्रा में अपनी आंख को बंद कर लें।
1 से 2 मिनट तक इस मुद्रा में बनी रहें फिर अपने हाथ पैर और शरीर को हिलाएं और समय रूप से बैठ जाएं।

यह भी पढ़ें : वजन कंट्रोल करने के अलावा ये 7 फायदे भी देती है हर रोज़ एक्सरसाइज करने की आदत

  • 111
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख