डियर लेडीज, इन 3 प्रभावी योगासन के साथ बेली फैट को हमेशा के लिए कहें अलविदा

Published on: 13 July 2022, 08:00 am IST

क्या आप भी बेली फैट से परेशान है? और इससे छुटकारा पाना चाहती है? तो आज से शुरू करें यह तीन इफेक्टिव योगासन और अपने एक्स्ट्रा बैली फैट को हमेशा के लिए कहें बाय-बाय।

belly fat kam karne ke tips
हम बता रहे हैं एक्सरसाइज के साथ बेली फैट कम करने के टिप्स। चित्र : शटरस्टॉक

हम में से सभी ने कभी न कभी फैटी डाइट की एक लंबी लिस्ट और कठिन एक्सरसाइज के साथ वजन कम करने का लक्ष्य जरूर बनाया होगा। हालांकि, बदलते वातावरण और गलत खान-पान के कारण एक सबसे बड़ी समस्या देखने को मिल रही है जो है बेली फैट। वहीं आप चाहे जितने भी फिटनेस व्लॉग देखें फिटनेस आर्टिकलस पढ़े बेली फैट आसानी से पीछा छोड़ने वालों में से नहीं है। यदि आप भी बेली फैट से परेशान है, तो ऐसे में योग की मदद ले सकती हैं।

बेली फैट को कम करना आसान नहीं है, इसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। परंतु चिंता न करें हम लेकर आए हैं योग के कुछ ऐसे आसन जो बाकी तकनीको की तुलना में आपके बेली फैट को कम समय में प्रभावी तरीके से रिड्यूस करने में मदद करेंगे। सात्विक योगा नामक अपने इंस्टाग्राम पेज पर राधिका गुप्ता ने 3 योगासन के नाम बताएं। वहीं नियमित रूप से यदि दिन में दो बार इन आसनों का अभ्यास किया जाए तो पेट के निचले हिस्से के जिद्दी फैट को आराम से कम कर सकती हैं।

राधिका गुप्ता ने अपने वीडियो में कहा कि “यह आसन योग की दुनिया के कुछ महत्वपूर्ण और प्रभावी आसन है। किसी विशेष मुद्दे पर यह योगासन काफी ज्यादा फायदेमंद हो सकते हैं।”

Boat pose ya naukasan asthma ke liye sabse aham hai
नौकासन बेली फैट कम करने में करेगा आपकी मदद. चित्र: शटरस्टॉक

1. नौकासन – बोट पोज़

हिंदी में नौका का मतलब बोट होता है और आसन का मतलब मुद्रा। इस योगासन में आपका बॉडी शेप वोट जैसा होना चाहिए। नवासना बेली फैट कम करने वाले प्रभावी एक्सरसाइजेज में से एक है। इसके साथ ही यह मांसपेशियों को मजबूत बनाता है, ब्लड सर्कुलेशन को इंप्रूव करता है और पाचन क्रिया को भी संतुलित रखने में मददगार होता है।

इस तरह करे नौकासन

सबसे पहले अपनी पीठ के बल लेट जाएं।

गहरी सांस लें, फिर सांस को धीरे धीरे छोड़ते हुए चेस्ट और शोल्डर को आगे की ओर उठाएं। उसके बाद अपनी पैरों को भी ऊपर की ओर उठाएं।

अब अपने दोनों हाथों को पैरों की ओर सीधा फैलाएं।

केवल आपकि बटक्स जमीन पर होनी चाहिए। फिर पूरी शरीर एक नाव के आकार की बन जाएगी। अब इसी मुद्रा में गहरी सांस लें और फिर धीरे धीरे सांस को छोड़ें। सांस वाली की प्रक्रिया कम से कम 5 बार करें।

यदि आपका शरीर कांपने लगता है फिर भी अपने पेट को स्थिर रखने का प्रयास करें।

अब नॉर्मल पोजीशन में आ जाएं और ऐसा कम से कम 3 बार दोहराएं।

plank and elbow pose
यहां जाने किस तरह करना है फलाकासन। चित्र शटरस्टॉक।

2. फलाकासन – प्लैंक टू एल्बो

यदि आप बेली फैट से परेशान है तो फलाकासन आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित होगा। यह न केवल आपके कोर को एक्टिवेट करता है, बल्कि आपके मसल्स को भी सक्रिय रखता है।

यहां जाने किस तरह करना है फलाकासन

अब अपने दोनों हाथ और पैर पर आ जाएं। इस बात का ध्यान रहे कि आपका कंधा और आपकी कलाई बिल्कुल सीधी होनी चाहिए। इसके साथ ही कूल्हे और घुटनों को भी संरेखित रखने का प्रयास करें।

अपने दाहिने पैर को पीछे की ओर खींचे। फिर अपने बाएं पैर के साथ भी ऐसा ही करें।

इस पोजीशन में आने के बाद अपनी हथेलियों और पांव की उंगलियों की मदद से खुद को पूरी तरह बैलेंस रखने का प्रयास करें।

अब सामान्य रूप से सांस लेते हुए अपने पेट के मसल्स को मूव करने के लिए दाहिने पैर को पेट की ओर लाएं। ऐसा ही अपने बाएं पैर के साथ भी करें। उसके बाद नॉर्मल प्लैंक की मुद्रा में वापस आ जाए।

इस प्रतिक्रिया को अपने दोनों पैरों से कम से कम 6-6 बार दोहराने का प्रयास करें।

cycling pose
साइकिलिंग पोज़ आपके बेली फैट के लिए रहेगा काफी फायदेमंद। चित्र शटरस्टॉक।

3. द्विचरिकासन – साइकिलिंग पोज

यह आसन न केवल शरीर का वजन घटाने बल्कि बॉडी स्टैमिना और उसकी फ्लैक्सिबिलिटी को बढ़ाने में भी मदद करता है। यदि आप अपने बेली फैट के साथ थाइज और काल्फ के एक्स्ट्रा फैट को भी कम करना चाहती हैं, तो यह योगासन आपके लिए बिल्कुल उचित रहेगा।

इस तरह करें द्विचरिकासन

पीठ के बल अपने हाथ और पैर को बिल्कुल सीधा करके लेट जाएं।

अपने दोनों पैरों को मोर करके शरीर की ओर उठाएं।

इसके बाद दोनों पैरों से जिस तरह साइकल चलाते हैं उस तरह पैरों को सर्कुलर मोशन में गोल घुमाएं।

अब सीधे पोजीशन में आ जाएं। स्पीड को अपने अनुसार एडजस्ट कर सकती हैं।

इन आसन को करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखें

राधिका गुप्ता के अनुसार इन योगासन को करने से पहले कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। चलिए जानते हैं इसके बारे में।

1. खाने के कम से कम 3 घंटे बाद ही इन योगासनों का अभ्यास करें।

2. अपने पेट के बचाव के लिए पेट को पुल करने की कोशिश करें।

3. पीठ के बल लेटते वक्त उसे पूरी तरह सीधा रखें, अन्यथा बैक पेन जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

4. बेहतर परिणाम के लिए कम से कम दिन में दो बार इन अभ्यासों को दोहराएं।

राधिका गुप्ता कहती हैं कि “जब आप अपने बेली फैट के लिए आसन करती हैं, तो यह फैट कम करने से लेकर डाइजेस्टिव सिस्टम और आपके मूड को भी संतुलित रहता है”।

यह भी पढ़ें : संपूर्ण व्यायाम है सूर्य नमस्कार, सुबह नहीं मिला समय तो शाम को करें अभ्यास 

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें