वैलनेस
स्टोर

जानिए क्‍या है एनिमल फ्लो वर्कआउट और क्‍यों सेलिब्रिटीज हो रहे हैं इसके दीवाने

Published on:25 January 2021, 13:06pm IST
एनिमल फ्लो वर्कआउट के लिए उपकरणों की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन जब फिटनेस और स्टैमिना की बात आती है तो यह अत्यंत प्रभावी है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
एनिमल फ्लाे वर्कआउट आपको लचीलापन और ताकत बढ़ाने में मदद करता है। चित्र: इंस्‍टाग्राम/ आशका गरोडिया

हम सभी जानते हैं कि फिटनेस कितनी महत्वपूर्ण है। नियमित वर्कआउट शेड्यूल होने से आप शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं। यह आपकी मनोदशा को विनियमित करते हुए आपके आत्मविश्वास को भी बढ़ाता है। इसलिए हम सभी जिम जाना चाहते हैं, लेकिन बड़ी मुश्किल से इसका पालन कर पाते हैं।

यदि 2021 में आपका उद्देश्य रोज़ एक्सरसाइज़ करना है, तो आपको नए और आकर्षक एक्सरसाइज़स आज़माने की आवश्यकता है। जो आपको अपने फिटनेस लक्ष्यों के करीब ले जाएंगे। ऐसे में हमारी सलाह यही है कि आप एनिमल फ्लो एक्सरसाइज़ का सहारा लें|

हाल ही में, वरुण धवन, दृष्टि धामी, और आशका गोराडि़या जैसी हस्तियों को एनिमल फ्लो मूव्स करते हुए देखा गया। इसने कई लोगों का इंटरेस्ट जगाया और तब से लोग इसके बारे में जानना चाहते हैं।

तो, एनिमल फ्लो वर्कआउट क्या है?

इसके नाम से पता चलता है कि एनिमल फ्लो वो एक्सरसाइज़ है जिसमे हम अलग-अलग जानवरों की नक़ल कर उनके जैसे पोज़ बनाने की कोशिश करते हैं। प्रसिद्ध फिटनेस ट्रेनर माइक फिच द्वारा आविष्कार किया गया यह वर्कआउट शरीर के वजन को सेट करता है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Aashka Goradia Goble (@aashkagoradia)

ये शारीरिक मुद्राएं ज़मीन पर बैठ कर की जा सकती है और इसे करने में किसी तरह के उपकरण की आवश्यकता नहीं होती। ये जिमनास्टिक और योग का मिश्रित रूप है।

शरीर के लिए कैसे फायदेमंद हो सकता है एनिमल फ्लो वर्कआउट ?

एनिमल फ्लो में ऐसे व्यायाम होते हैं जिन्‍हें करना मज़ेदार है। साथ ही आपके शरीर की पूरी शारीरिक और मानसिक कसरत करवाते है। यह ताकत बढ़ाने, लचीलेपन में सुधार करने, आपको बेहतर गतिशीलता और सहायता देने तथा सांस लेने में मदद करता है। समय के साथ, इसके कई लाभ हो सकते हैं जैसे:

1. चोटों के जोखिम को कम करना

एनिमल फ्लो वर्कआउट, कसरत से पहले किया जाए तो यह मांसपेशियों और जोड़ों को चोट लगने से बचाने में आपकी मदद कर सकता है।

2. लचीलापन बढ़ाता है

यह आपको ऐसे व्यायाम करने में मदद करता है, जिनमें सापेक्ष सहजता (रिलेटिविटी ईज) के साथ लचीलेपन की आवश्यकता होती है। ये आपके शरीर को कई प्रकार की गतिविधियों के लिए गतिशीलता प्रदान कर सकता है। ये आपकी वर्कआउट क्वालिटी को भी बढ़ाता है।

3. अपनी श्वास पर नियंत्रण बनाए रखता है

यह आपकी श्वास को विनियमित करने में आपकी सहायता करेगा और इससे आपके वर्कआउट सेशन को भी लाभ होगा।

इससे आप श्‍वास पर बे‍हतर नियंत्रण सीख जाती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
इससे आप श्‍वास पर बे‍हतर नियंत्रण सीख जाती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. अपने शरीर की गतिविधियों पर नियंत्रण में सुधार करें

एनिमल फ्लो आपको अपने शरीर को बेहतर ढंग से समझने और अपके मूवमेंट्स को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह सुनिश्चित करेगा कि आप उन अभ्यासों से अधिकतम लाभ उठा सकें।

5. इससे स्टैमिना बढ़ेगा

मूवमेंट्स जो एनिमल फ्लो का एक हिस्सा हैं, ताकत का निर्माण करती हैं और श्वास को नियंत्रित करती हैं। आखिरकार, यह आपको बिना थकान महसूस कराये जिम में लंबे समय तक रहने में मदद करता है।

कौन कर सकता है एनिमल फ्लो वर्कआउट?

ये एक्सरसाइज़ बिना मैट या बिना किसी उपकरण के की जा सकती है! ये लो इंटेंसिटी और आसान है।

तो, आप इसे अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकती हैं। भले ही आप अपनी फिटनेस यात्रा में कहीं भी हों। इसलिए एनिमल फ्लो वर्कआउट से डरें नही और ज़रूर ट्राई करें।

यह भी पढ़ें – जब आप वर्काउट करती हैं और पर्याप्त पानी नहीं पीती, तो आपके स्वास्थ्य पर पड़ते हैं ये 6 प्रभाव

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।