Yoga poses for women : हेल्दी और फिट रहना है तो महिलाओं को जरूर करने चाहिए ये 5 योगासन

आप वर्किंग वीमेन हों या होममेकर आपका काम कभी न खत्म होने वाला उद्यम है। और तनाव इसका बायप्रोडक्ट है। तो जब इन दोनों से बचना मुश्किल है, तो क्यों न इससे मुकाबला करने के लिए खुद को तैयार कर लिया जाए। योग इसमें आपकी मदद कर सकता है।
meditation happy hormone ko badhati hai
माइंडफुलनेस और ध्यान लगाने वाले अभ्यास मूड को सकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं और सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाते हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 20 Jun 2024, 10:23 am IST
  • 134

महिलाएं अक्सर अपने काम और जिम्मेदारियों को पूरा करने में इतना उलझ जाती है कि उनके लिए सेल्फ केयर का कोई महत्व ही नहीं होता है। कई महिलाएं घरके कामों में व्यस्त रहती है कई महिलाएं ऑफिस के कामों। कुछ महिलाएं ऑफिस खत्म करने के बाद घऱ संभालती है। जिसके कारण वे अपने लिए कोई समय नही निकाल पाती है। एक महिला पूरे दिन में बहुत सारी भूमिकाएं निभाती है ऐसे खुद को प्राथमिकता दे पाना थोड़ा मुश्किल है, लेकिन अगर आप खुद को प्राथमिकता नहीं देंगी तो और कौन देगा।

अपने लिए कुछ करने के लिए दिन में एक घंटा या हफ़्ते में कुछ घंटे निकालना आपके स्वास्थ्य, तंदुरुस्ती और जीवन की समग्र गुणवत्ता के लिए चमत्कारी होगा। कई महिलाएं एक्सरसाइज के महत्व को नहीं समझती है। वे योगा या किसी भी तरह के व्यायाम को अपने जीवन में जगह तक नहीं देती है। लेकिन महिलाओं के स्व्स्थ्य रहने के लिए योगा करने की सबसे ज्यादा जरूरत होती है।


योग आपको अपने जीवन के हर पहलू को सफलतापूर्वक संतुलित करने में मदद करता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर जानिए क्यों महिलाओं के लिए जरूरी है नियमित योगाभ्यास (Yoga benefits for women)

21 जून को दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2024) मनाया जाता है। तन और मन को स्वस्थ रखने वाला एक ऐसा प्राचीन भारतीय अभ्यास जिसका महत्व अब पूरी दुनिया समझ रही है।

योग आपको अपने जीवन के हर पहलू को सफलतापूर्वक संतुलित करने में मदद करता है। योग आपको धैर्य और दृढ़ता विकसित करते हुए शांति की भावना प्राप्त करने में मदद करता है, ताकि आप अपने रास्ते में आने वाली हर चीज को सहन कर सकें। सबसे बढ़कर, योग आपके शारीरिक और मनोवैज्ञानिक मन और शरीर को लाभ पहुंचाता है, स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को प्राकृतिक, पूरे तरीके से रोकता और प्रबंधित करता है।

महिलाओं को जरूर करना चाहिए इन 5 योगासनों का अभ्यास (Yoga poses for women)

1 पैल्विक के लिए बद्ध कोणासन

बद्ध कोणासन (butterfly pose) महिलाओं को आंतरिक जांघों, कूल्हों और कमर में लचीलापन बढ़ाकर लाभ पहुंचाता है। यह रक्त संचार को बेहतर बनाता है, पीरियड संबंधी असुविधा को कम करता है और प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। ये आपके पॉश्चर को भी बेहतर करने में मदद करता है।

2 पूरे शरीर के स्वास्थ्य के लिए सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार महिलाओं को कई लाभ प्रदान करता है। यह शरीर में लचीलापन बढ़ाता है, मांसपेशियों को मजबूत करता है, हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है, और ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है। यह योगा आपके वजन को कम करने, हार्मोनल संतुलन और तनाव से राहत दिलाने में भी आपकी मदद कर सकता है। इससे आपका पीरियड चक्र भी सही रहता है, पाचन में सहायता करता है, और पूरे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को मदद मिलती है।

3 तनाव को कम करने के लिए हीलिंग वॉक

हीलिंग वॉक में हाथों को सिर के ऊपर उठाकर चलना और हथेलियों को बाहर की ओर रखना शामिल है। यह हल्का व्यायाम शरीर के भीतर आंतरिक संचार को बढ़ाने, मांसपेशियों के तनाव को कम करने और समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है। हीलिंग वॉक महिलाओं के तनाव कम करने, मानसिक स्पष्टता में सुधार लाने और मूड को बेहतर बनाने में मददगार है।

vajrasana urinary leakage par control kar sakte hain.
वज्रासन, जिसे थंडरबोल्ट पोज़ या डायमंड पोज़ के रूप में भी जाना जाता है।

4 कमर के लिए हनुमानासन

हनुमानासन कूल्हों, हैमस्ट्रिंग और कमर में लचीलापन बढ़ाकर महिलाओं को लाभ पहुंचाता है। यह पैरों और कोर को मजबूत करता है, संतुलन में सुधार करता है और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। यह मुद्रा पैल्विक स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है और मानसिक एकाग्रता को प्रोत्साहित करती है, जिससे शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है।

5 पाचन स्वास्थ्य के लिए वज्रासन

वज्रासन पाचन में सुधार और सूजन को कम करके महिलाओं को लाभ पहुंचाता है। यह ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है, पैल्विक की मांसपेशियों को मजबूत करता है और शरीर के पॉश्चर में मदद करता है। इसके अतिरिक्त, वज्रासन शरीक ते आराम को बढ़ाता है, तनाव को कम करता है और माइंडफुलनेस और ध्यान अभ्यास में सहायता करता है।

ये भी पढ़े- Stick Yoga : कोर मसल्स के लिए मलाइका अरोड़ा को पसंद है दंड योग, जानिए इसके फायदे

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख