और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

तनाव के साथ ही सूजन और दर्द को कम करने में भी मददगार है लेग-अप-द-वॉल पोज, जानिए इसे कैसे करना है

Published on:24 February 2021, 09:00am IST
लेग-अप-द-वॉल पोज (leg-up-the-wall pose) दर्द और सूजन को राहत देने के साथ-साथ तनाव के स्तर को कम करने के लिए एक बेहतरीन योगासन है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 79 Likes
जानिए यह सरल सा आसन कैसे आपके शारीरिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। चित्र-शटरस्टॉक।

योग आध्यात्मिक और भौतिक अभ्यासों का एक विस्तृत अभ्‍यास है। जो शरीर, मन और आत्मा को एकीकृत करता है। इस अभ्यास की विशेष बात यह है कि इसे कोई भी व्यक्ति कर सकता है, उनकी आयु या वजन की परवाह किए बिना, और न्यूनतम सावधानियों के साथ। भले ही आप किसी तरह की शारीरिक समस्‍या का सामना कर रहीं हों। 

सौभाग्य से, योग सभी के लिए है। योग ने सदियों से अपने अभ्‍यर्थियों को अपनी मांसपेशियों, जोड़ों और अंगों के स्वास्थ्य में सुधारने करने और उसे बनाए रखने में मदद की है। यह लचीलापन, शक्ति, सहनशक्ति और गतिशीलता के लिए बहुत अच्छा है, साथ ही मन को शांत और केंद्रित रखता है।

विपरीत करणी या लेग-अप-द-वॉल पोज़ कई योगा पोज़ में से एक है। जिसका आप हर दिन कम से कम 10 मिनट तक अभ्यास करने पर विचार कर सकती हैं। विपरीत का अर्थ है “उलटा,” और करणी का अर्थ है “कार्रवाई में”। यह आसन कई लाभ प्रदान करता है जैसे:

यह भी पढ़ें: विशेषज्ञों के अनुसार 40 के बाद तेजी से बढ़ता है वजन, जानिए इससे कैसे बचना है 

योग आपके शरीर में फ्लेक्सिबीलिटी को बढ़ावा देता है। चित्र-शटरस्टॉक।
  • तंत्रिका तंत्र को शांत करना
  • तनाव और चिंता के स्तर को कम करने में मदद करना
  • परिसंचरण में वृद्धि
  • शिरापरक जल निकासी को बढ़ाना
  • टांगों, पैरों और कूल्हों की थकान या तनाव से राहत
  • टखनों और पैरों में सूजन और दर्द को कम करना
  • हैमस्ट्रिंग और पीठ के निचले हिस्से में खिंचाव, उन क्षेत्रों में तनाव से राहत
  • पाचन में सुधार की सुविधा
  • पूरे शरीर में संतुलन को बढ़ावा देना

तो, आप इस आसन का अभ्यास कैसे कर सकते हैं?

वैसे इस पोज़ को करना बेहद आसान है। यहां हम आपको बता रहे हैं कि इसे कैसे करना है:

  1. अपने कूल्हों के नीचे एक तकिया या कंबल को मोड़कर रखें और दीवार के खिलाफ अपने दाहिने पक्ष की ओर बैठें, अपने घुटनो को मोड़ते हुए, पैरों को अपने कूल्हों की ओर खींचें।
  2. जैसे ही आप अपनी पीठ के बल लेटें, अपने पैरों को दीवार के खिलाफ घुमाएं। अपने कूल्हों को दीवार के सामने या थोड़ा दूर रखें। अपनी बाहों को आरामदायक स्थिति में रखें।
  3. इस स्थिति में 20 मिनट तक रहें और फिर धीरे से खुद को दीवार से दूर धकेलते हुए मुद्रा से बाहर आएं।
  4. कुछ क्षणों के लिए अपनी पीठ को आराम दें, और अपने घुटनों को अपनी छाती की ओर खींचें और अपनी दाईं ओर रोल करें।
  5. धीरे-धीरे एक सीधी मुद्रा में जाने से पहले, कुछ क्षण के लिए आराम करें
बोन हेल्‍थ के लिए कैल्शियम अपरिहार्य है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपके हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में भी मदद करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कुछ ऐसे मामले भी हो सकते हैं, जहां आप अपनी टांगों और पैरों में झुनझुनी या सनसनी महसूस कर सकती हैं, खासकर अगर आप विस्तारित अवधि के लिए इस मुद्रा को होल्ड करती हैं। ऐसी स्थिति में याद रखें कि मुद्रा में लौटने से पहले अपने घुटनों को अपनी छाती की ओर मोड़ें। परिसंचरण को उत्तेजित करने के लिए आप अपने पैरों को हिला भी सकते हैं। इसके अतिरिक्त, यदि आपके पास ग्लूकोमा, उच्च रक्तचाप या हर्निया जैसी चिकित्सीय स्थितियां हैं, तो इस मुद्रा को करने से बचें।

यह एक अकेला आसन आपको मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने में मदद कर सकता है। आप अपना दिन इसके साथ शुरू कर सकती हैं, या एक व्यस्त लंबे दिन के बाद इसे आज़मा सकती हैं।

यह भी पढ़ें: वजन घटाने के लिए डाइटिंग करना हो सकता है नुकसानदेह, हम बता रहे हैं इसके 6 वैज्ञानिक कारण

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।