लॉग इन

Chakrasana : करीना कपूर चक्रासन से कर रही हैं योगा डे सेलिब्रेशन की शुरुआत, जानते हैं इस जटिल पोज के फायदे

अगर आपकी पीठ में या रीढ़ की हड्डी में दर्द रहता है तो चक्रासन आपके लिए बेस्ट है। चक्रासन का रीढ़ की हड्डी पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। यह मुद्रा पूरे रीढ़ की हड्डी को तीव्र खिंचाव प्रदान करती है, लचीलापन बढ़ाती है और गति की सीमा बढ़ाती है।
चक्रासन छाती और कंधों को खोलने के लिए एक अच्छी मुद्रा है। चित्र- इंस्टाग्राम
संध्या सिंह Updated: 14 Jun 2024, 09:39 am IST
ऐप खोलें

योगा डे (Yoga day) आने वाला है और इसलिए सभी लोग इसकी तैयारी में जुट गए हैं। कई सिलेब्रिटी भी योगा डे के इस वीक को अभी से सेलिब्रेट करने लगे हैं। ऐसे में करीना कपूर खान ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर एक योगा पोज करते हुए तस्वीर शेयर की है। इस तस्वीर में करीना चक्रासन पोज करते हुए नजर आ रही हैं और बेहद खुबसूरत लग रही है। वैसे तो करीना अपनी फिटनेस ट्रेनिंग और योगा करते हुए तस्वीरें साझा करती रहती हैं। लेकिन उन्हें चक्रासन पोज सबसे ज्यादा पसंद है। करीना ने खुद कैप्शन में यह बताते हुए लिखा है कि “चूंकि मैं गर्मियों के लिए उड़ान भर रही हूं, इसलिए मेरा पसंदीदा योगा आसन है – चक्रासन।”

कब है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस और क्यों मनाया जाता है

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है। इसकी घोषणा 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा की गई थी और इसे पहली बार 2015 में मनाया गया। यह तिथि इसलिए चुनी गई क्योंकि यह summer solstice है, जो उत्तरी हेमिस्फीयर में वर्ष का सबसे लंबा दिन है, जिसका दुनिया के कई हिस्सों में विशेष महत्व है।

यह दिन योग के अभ्यास के कई लाभों के बारे में दुनिया भर में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। योग, एक प्राचीन शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक अभ्यास है जिसकी उत्पत्ति भारत में हुई थी, जो स्वास्थ्य और कल्याण के लिए अपने समग्र दृष्टिकोण के लिए जाना जाता है। इस उत्सव का उद्देश्य शारीरिक फिटनेस, मानसिक शांति और आध्यात्मिक विकास को बढ़ावा देने में योग की भूमिका को उजागर करना और अधिक लोगों को योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

जानते हैं इस योग को करने के स्टेप्स और फायदे भी। चित्र : अडोबी स्टॉक

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर होने वाली गतिविधियों में आम तौर पर ग्रुप योग सेशन, शैक्षिक वर्कशॉप और योग के स्वास्थ्य लाभों के बारे में चर्चाएं होती हैं। यह योग के अभ्यास के माध्यम से वैश्विक स्वास्थ्य, सद्भाव और शांति को बढ़ावा देने का दिन है।

क्यों इतना खास है चक्रासन, जानते हैं इसके फायदे (Health benefits of chakrasana)

1 रीढ़ की हड्डी का लचीलापन और ताकत बढ़ाता है

अगर आपकी पीठ में या रीढ़ की हड्डी में दर्द रहता है तो चक्रासन आपके लिए बेस्ट है। चक्रासन का रीढ़ की हड्डी पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। यह मुद्रा पूरे रीढ़ की हड्डी को तीव्र खिंचाव प्रदान करती है, लचीलापन बढ़ाती है और गति की सीमा बढ़ाती है। जैसे-जैसे रीढ़ पीछे की ओर झुकती है, यह लंबे समय तक बैठने और खराब पोश्चर को सही करने का काम करती है, जो अक्सर अकड़न और बेचैनी का कारण बनती है।

2 छाती और कंधों को खोलता है

चक्रासन छाती और कंधों को खोलने के लिए एक अच्छी मुद्रा है, जो क्षेत्र तनाव और गतिहीन जीवन शैली के कारण तंग और संकुचित हो जाते हैं। इस मुद्रा का गहरा बैकबेंड चेस्ट कैविटी का विस्तार करता है, फेफड़ों की क्षमता में सुधार करता है और बेहतर श्वास को बढ़ावा देता है। यह बढ़ी हुई श्वसन क्रिया ऑक्सीजन के सेवन को बढ़ा सकती है, ऊर्जा के स्तर को बढ़ा सकती है और आपकी शक्ति में सुधार कर सकती है।

3 कोर और पेट की मांसपेशियों को मजबूत करता है

चक्रासन का एक और महत्वपूर्ण लाभ कोर की मांसपेशियों को सक्रिय और मजबूत करने की क्षमता है। व्हील पोज़ में रहते हुए, पेट की मांसपेशियां शरीर को सहारा देने और संतुलन बनाए रखने में सक्रिय रूप से शामिल होती हैं। यह जुड़ाव पेट के क्षेत्र को टोन और दृढ़ करने में मदद करता है, जिससे एक मजबूत और अधिक स्थिर कोर बनता है।

4 थकान को कम करता है

चक्रासन ऊर्जा देने वाले प्रभावों के लिए जाना जाता है। तीव्र बैकबेंड एड्रेनल ग्लैंड को उत्तेजित करता है, जो एड्रेनालाईन और अन्य हार्मोन के उत्पादन के लिए जिम्मेदार हैं जो शरीर की तनाव प्रतिक्रिया को नियंत्रित करते हैं। यह उत्तेजना ऊर्जा के स्तर में प्राकृतिक वृद्धि कर सकती है, जिससे अभ्यासकर्ता अधिक एक्टिव और सतर्क महसूस करते हैं।

इस योगासन को करने से पीठ में जमा फैट्स बर्न होने लगते हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक

5 भावनात्मक संतुलन बढ़ाता है

शारीरिक लाभों के अलावा, चक्रासन मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य पर भी गहरा प्रभाव डालता है। यह मुद्रा गहरी, सचेत सांस लेने को प्रोत्साहित करती है, जो मन को शांत कर सकती है और तनाव और चिंता को कम कर सकती है। मुद्रा को करने के लिए भी ध्यान और एकाग्रता की आवश्यकता होती है, जो मानसिक स्पष्टता और प्रेजेंस को बढ़ाती है।

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

कैसे किया जाता है चक्रासन

  1. योगा मैट पर आराम से लेटकर शुरुआत करें। अपने घुटनों को मोड़ें और पैरों को मैट पर टिकाकर रखें।
  2. अब अपने हाथों को अपने कंधों के पीछे ले जाएं। अपनी उंगलियों को फैलाते हुए उन्हें अपने कानों के पास रखें।
  3. धीरे-धीरे अपने पैरों से सहारा लेते हुए अपने निचले शरीर को ऊपर उठाएं। इसे धीरे-धीरे करें, कोशिश करें कि झटका न दें।
  4. अब अपने पैरों और हथेलियों को दबाएं और अपने शरीर को ऊपर की ओर उठाएं, ऊपर की ओर एक धनुष बनाएं।
  5. धीरे-धीरे सांस लें और अपनी पीठ को ज़मीन पर टिकाने से पहले उसी स्थिति में रहने की कोशिश करें।
  6. अगले राउंड के लिए जाने से पहले कुछ मिनट के लिए मैट पर लेटे रहें। तुरंत उठने की कोशिश न करें।

ये भी पढ़े- उबले चावलों से करें DIY केराटिन हेयर ट्रीटमेंट, यहां है बनाने और लगाने का स्टेप बाय स्टेप तरीका

संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख