क्या वज़न कम करने में मदद कर सकती है डार्क चॉकलेट? जानिए एक दिन में कितनी मात्रा है हेल्दी

पीरियड्स के दौरान या मूड स्विंग होने पर जब भी शुगर क्रेविंग्स होती हैं हमें सबसे पहले चॉक्लेट याद आती है खासकर डार्क चॉक्लेट। तो क्या इसे खाने से हमारे वज़न बढ़ सकता है?

स्ट्रेस बस्टर भी है डार्क चॉकलेट, चित्र:शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 12 November 2022, 17:00 pm IST
  • 123

शुगर क्रेविंग्स! जब यह शब्द आपके दिमाग में आता है तो सबसे पहले आपके मन में किस चीज़ का ख्याल आता है? हम बताते हैं चॉक्लेट्स? जी हां… पीरियड्स के दौरान या मूड स्विंग होने पर जब भी शुगर क्रेविंग्स होती हैं हमें सबसे पहले चॉक्लेट याद आती है खासकर डार्क चॉक्लेट (dark chocolate)। यह तुरंत हमारे मूड को सही कर देती हैं और हमें अच्छा महसूस कराती हैं।

लेकिन, हम डाइट पर हैं तो क्या चॉक्लेट खाना सही है (is eating chocolate healthy) ? क्या इसे खाने से हमारे वज़न बढ़ सकता है (chocolate and weight gain)? या इससे हमें वज़न कम करने में मदद मिल सकती है? यदि आपके मन में भी चॉक्लेट खाने से पहले ऐसे ही सवाल उठ रहे हैं तो क्या ऐसा करना सही है? चलिये पता करते हैं और साथ ही, यह भी जानने की कोशिश करते हैं कि एक दिन में कितनी चॉक्लेट खाना सही है?

क्या आप जानती हैं डार्क चॉक्लेट खाने के हैं कई फायदे

हाई बीपी के मरीजों के लिए है फायदेमंद

एनसीबीआई द्वारा किए गए शोध बताते हैं कि डार्क चॉकलेट में मौजूद फ्लेवोनोइड उच्च रक्तचाप वाले लोगों में रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए जाने जाते हैं। इस तरह डार्क चॉक्लेट आपके बीपी को कंट्रोल करने में मदद कर सकती है।

हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद

डार्क चॉक्लेट में अच्छी मात्रा में एंटी – ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं, जो हार्ट हेल्थ को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। इसलिए यह, रक्तचाप को नियंत्रित करने, में मदद कर सकती है। डार्क चॉकलेट मैग्नीशियम, मैंगनीज, कॉपर, जिंक और आयरन से भी भरपूर होती है।

स्ट्रेस कम करे

डार्क चॉक्लेट का सेवन आपको अपने तनाव के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। यह आपके दिमाग के अंदर सेरोटोनिन और एंडोर्फिन छोड़ती है जो आपको रिलैक्स और शांत महसूस करने में मदद कर सकते हैं।

skin ke liye healthy hai dark chocolate
डार्क चॉकलेट में मौजूद तत्त्व आपको हैप्पी फील कराते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

पर क्या वज़न कम करने में मददगार है डार्क चॉक्लेट?

डार्क चॉक्लेट में फ्लेवनॉल्स मौजूद होते हैं जो फैट को कट करने में मदद करते हैं। साथ ही, इसमें फाइबर की भी अच्छी मात्रा होती है, जिसकी वजह से ज़्यादा भूख नहीं लगती है। इसके अलावा, बढ़ता हुआ स्ट्रेस लेवल भी वज़न बढ़ने में योगदान कर सकता है। मगर, इसका मतलब यह नहीं है कि आप पूरे दिन कितनी भी चॉक्लेट खा सकती हैं।

लाइव न्यूट्रीफिट एंड सेंटर फॉर ओबेसिटी एंड लॉन्गविटी की डायरेक्टर, एमबीबीएस और एमडी – डॉ अंजलि हुड्डा के मुताबिक – चॉक्लेट का सेवन करने से वज़न कम नहीं होता है। इसलिए, अपनी वेट लॉस जर्नी में आप इसका मॉडरेशन में सेवन कर सकती हैं। यदि आप वज़न घटाने के लिए पूरी तरह से इसपर निर्भर हो जाएगी, तो इससे आपको नुकसान पहुंच सकता है।

नोट : 70% डार्क चॉकलेट का एक बार जिसका वजन 3.5 औंस होता है, जो आपके रेगुलर मील का 16% है।

एक दिन में कितनी डार्क चॉक्लेट का सेवन करना सही है?

आपके लिए वही डार्क चॉक्लेट सही है जिसमें कोको की मात्रा ज़्यादा हो कम से कम 70%। अगर आप इसका मॉडरेशन में सेवन कर रही हैं तो आप बिना किसी साइड इफेक्ट की चिंता किए एक दिन में 20-30 ग्राम तक डार्क चॉकलेट का सेवन कर सकती हैं। मगर, दिन में, रात के दौरान यह सही नहीं है।

डॉ अंजलि के अनुसार डार्क चॉकलेट की वजह से कुछ लोगों को माइग्रेन भी होने लगता है, क्योंकि इसमें कैफीन भी होता है। इसलिए, मॉडरेशन में खाना सबसे सही है।

यह भी पढ़ें : रेड मीट की शौकीन हैं, तो इसे खाने का है ये बेस्ट सीजन, एक्सपर्ट बता रही हैं कारण

  • 123
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory