बॉलीवुड की फिटनेस क्वीन मलाइका अरोड़ा ने किया योग आसनों का किंग

योग मलाइका अरोड़ा के जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग है, और वह जटिल आसनों को आसानी से करने के लिए खुद को प्रेरित करती रहती है। यहां उन्हें शीर्षासन करते हुए देखें!
malika ka headstand
मलाइका के लिए फिटनेस जीवन का एक अंग है। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 27 Oct 2023, 05:59 pm IST
  • 114

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि मलाइका अरोड़ा बॉलीवुड की सबसे फिट एक्ट्रेस में से एक हैं। अपने आहार का ध्यान रखने के अलावा मलाइका अपने स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए जिम रूटीन में सरल और जटिल दोनों तरह के वर्कआउट करती हैं। मलाइका  नियमित रूप से योग भी करती हैं और उनके प्रशंसक इन एक्सरसाइज टिप्स को शेयर करने के लिए उनको धन्यवाद करते हैं। 

अपने एक नए इंस्टाग्राम पोस्ट में, अभिनेत्री ने ‘योग आसनों के किंग कहे जाने वाले आसन का प्रदर्शन किया!  क्या आप जानते हैं वह कौन सा आसन है?

यह हैडस्टेंड पोज है जिसे शीर्षासन कहा जाता है। इस योग मुद्रा का अभ्यास न केवल आपके ऊपरी शरीर की ताकत और सहनशक्ति को बढ़ाता है, बल्कि पूरे शरीर की कार्यक्षमता में सुधार करता है।

Headstand karte samay safety ka khayal rakhe
सावधानी के साथ करें शीर्षासन। चित्र:शटरस्टॉक

“मेरे पसंदीदा पोज़ में से एक शीर्षासन है। आपका क्या है,” मलाइका ने इस संदेश के साथ अपना एक वीडियो इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया है, जिसमें वह एक ट्रेनर के साथ नजर आ रही हैं।

मलाइका हमेशा अपने फैंस और इंस्टाग्राम फॉलोअर्स को फिटनेस चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रेरित करती हैं। उन्होंने अपने फॉलोवर्स से शीर्षासन भी आजमाने का आग्रह किया। वहीं उन्होंने सावधानी बरतने की बात भी कही – बिना पूर्व प्रशिक्षण के या किसी ट्रेनर के बिना इसे न आजमाएं ।

देखिए मलाइका की इंस्टा पोस्ट

 

जानिए क्या हैं शीर्षासन के लाभ 

  1.  मन को शांत करता है
  2.  तनाव और अवसाद को कम करता है
  3. एकाग्रता बढ़ाता है
  4. केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करता है, क्योंकि यह पूरे शरीर को मजबूत करता है
  5. ऊपरी शरीर, रीढ़ और कोर को मजबूत बनाता है।
  6. फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाता है
  7. पेट के अंगों को उत्तेजित और मजबूत करता है
  8. पाचन को बढ़ाता है
  9. सिरदर्द को रोकता है

शीर्षासन करते समय कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी हैं

कुछ सुरक्षा उपाय हैं, जिनका पालन शीर्षासन की स्थिति में आपको करना चाहिए। हालांकि हेडस्टैंड के कई फायदे हैं, लेकिन इसमें गर्दन, कंधे और पीठ दर्द के कुछ जोखिम शामिल हैं।  जिन्हें नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें
  1. इसे हमेशा किसी ट्रेनर या योग शिक्षक के साथ ही शुरू करें: हो सकता है कि आप उल्टा होने पर मुद्रा को न समझें। इसलिए किसी विशेषज्ञ के अधीन करना आवश्यक है। वे आपके शरीर को संरेखित करने और आपके शरीर को सहारा देने में आपकी मदद कर सकते हैं।
  2.  अपने सिर और गर्दन पर ज्यादा दबाव डालने से बचें
  3. तुरंत किकअप न करें, इसके बजाय अपने आप को फर्श से धीमे से ऊपर उठाएं। हो सकता है कि आपके शरीर में लचीलापन और मूल ताकत न हो। इसे सावधानी से करें क्योंकि इससे रीढ़ की हड्डी में चोट लग सकती है।
  4. इसके बजाय एक दीवार का प्रयोग करें। दीवार का उपयोग करने से आपको शुरुआत में निश्चित रूप से शारीरिक और साथ ही भावनात्मक सपोर्ट मिलेगा।
  5. अपने चारों ओर मुड़े हुए कंबल और कुशन रखें। यदि आप इस पर गिरते हैं तो यह आपको बुरी तरह से चोट नहीं पहुंचाएगा। साथ ही आपकी सॉफ्ट लैंडिंग होगी।

तो लेडीज, स्वस्थ और शांत दिमाग के लिए इस योग मुद्रा को आजमाएं।

  • 114
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख