ब्रिस्क वॉक का नहीं मिल रहा सेहत को लाभ? तो यकीनन आप कर रही होंगी ये 3 गलतियां

Updated on: 28 March 2022, 13:03 pm IST

आप सोच रही होंगी कि नियमित सैर भी आपको मनचाहा लाभ क्यों नहीं दे पा रही है। असल में ब्रिस्क वॉकिंंग (brisk walking benefits) का एक सही तरीका होता है, जिसे आपको समझने की जरूरत है।

healthy rahne ke liye balance food exercise aur bharpur nid le
फिट रहने के लिए भरपूर सोएं, संतुलित भोजन खाएं और एक्सरसाइज करें । चित्र : शटरस्टॉक

क्या आपने कभी रोज टहलने के आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभों के बारे में सुना है? क्या आप भी रोजाना 10,000 स्टेप्स चलने के उस ट्रेंड (Brisk walking) का हिस्सा है? चलना (Walking) बेशक सबसे अच्छे व्यायामों में से एक है, जो नियमित रूप से किए जाने पर ढेर सारे लाभ प्रदान करता है। हमारा दैनिक जीवन तनाव, चिंता और अवसाद से भरा हुआ है, जिससे हृदय संबंधी बीमारियों और अन्य जीवन शैली की बीमारियों के होने का खतरा भी बढ़ जाता है। लेकिन तेज चलने (Brisk walking) से आप इन सभी बीमारियों को दूर रख सकते हैं! पर कई बार वॉकिंग के दौरान की गई कुछ गलतियां (Brisk walking mistakes) आपको इसका भरपूर लाभ नहीं लेने दे पातीं।

बहुत फायदेमंद है ब्रिस्क वॉकिंग (Brisk walking benefits)

ब्रिस्क वॉकिंग की सबसे अच्छी बात यह है कि इसे कहीं भी और कभी भी किया जा सकता है। लेकिन क्या आपके शरीर पर इसका प्रभाव नहीं दिख रहा? तो आप जरूर कुछ आम गलतियां (Brisk walking mistakes) कर रहें होंगे जिन्हें सुधारना जरूरी है क्योंकि अच्छे परिणाम कौन नहीं चाहता है?

सही तकनीक न केवल ब्रिस्क वॉकिंग के समय लगने वाली चोट को रोकती है, बल्कि आपको तेज और लंबे समय तक चलने में भी मदद करेगी।

Marching calorie burn karta hai
तेजी से चलना या मार्चिंग आपकी कैलोरी को बर्न करता है। चित्र-शटरस्टॉक

वॉक करके समय इन आम गलतियों को सुधारें (Brisk walking mistakes)

1. गलत पोस्चर (Wrong Posture) 

पहली चीज़ जिस पर आपको ध्यान देना है, वह है आपका वॉकिंग पोस्चर। खासकर यदि आप पूरे दिन एक लैपटॉप पर अपने सिर को आगे की ओर झुकाकर बैठते हैं। अपने दरवाजे से बाहर निकलने से पहले अपनी रीढ़ को सीधा करने के लिए समय निकालना महत्वपूर्ण है। जब आप अपनी डेस्क से उठते हैं, तो अपने स्पाइन, गर्दन और सिर को सीधा करने के लिए दरवाजे की मदद से स्ट्रेच करें।

आप में से बहुत से लोगों को पता भी नहीं है, लेकिन अगर आप एक दिन में आठ घंटे लैपटॉप पर बिताते हैं, तो जब आप उठते हैं, तब भी आप उस स्थिति में होते हैं। खिंचाव के लिए वे अतिरिक्त कुछ सेकंड वास्तव में फर्क कर सकते हैं।

इतना ही नहीं, आपके पैर की मुद्रा भी महत्वपूर्ण है। साथ चलने के बजाय, सुनिश्चित करें कि आप प्रत्येक स्टेप के साथ पहले अपनी एड़ी पर धीरे-धीरे उतरते हैं। यह भी सुनिश्चित करें कि आप अपने सभी पांच पैर की उंगलियों का उपयोग कर रहे हैं। उंगलियां न केवल आपके संतुलन के लिए हैं बल्कि आपको और अधिक कुशलता से धक्का देने में भी मदद करते हैं।

आप में से बहुत से लोग पैर के एक तरफ से चलते हैं, जैसे कि थोड़ा सा अंदर की तरफ, जबकि आपको पूरे पैर का उपयोग करना चाहिए। प्रत्येक पैर की अंगुली जमीन से कैसे संपर्क करती है, इस पर ध्यान केंद्रित करके, आप अपने पूरे पैर का उपयोग करेंगे और संतुलन को बढ़ावा देंगे।

2. अपनी सांसों को नजरअंदाज करना (Ignoring your breathing pattern) 

आपकी नाक में सबसे असाधारण फिल्ट्रेशन सिस्टम है। यह प्रदूषण और डस्ट पार्टिकल्स को छानने में मदद करता है। यह विशेष रूप से सहायक होता है यदि आप एक बड़े, हलचल भरे शहर में चल रहे हैं। दूसरी ओर, आपका मुंह, ऐसा नहीं कर सकता है। इससे ली गई हवा सीधे आपके फेफड़ों में जाता है।

आपकी नाक से सांस लेने से नाइट्रिक ऑक्साइड भी निकलता है। यह एक अद्भुत है जो स्टैमिना को बढ़ाने और सेल्स में ऑक्सीजन पहुंचाने में आवश्यक भूमिका निभाता है। यह फेफड़ों के अच्छे स्वास्थ्य और इम्युनिटी से जुड़ा हुआ है, और आपके शरीर के चारों ओर और आपके मस्तिष्क तक रक्त और ऑक्सीजन को बस धक्का देने में मदद करता है। बस इतना ही कहना है कि जिस तरह से आप सांस लेते हैं वह मायने रखता है। इसलिए टहलते समय अपने श्वास पर ध्यान दें।

3. हेडफोन का इस्तेमाल (Use of headphones) 

सोलो वॉक पर, हेडफ़ोन पहनना और संगीत, पॉडकास्ट, या मनोरंजन के किसी अन्य रूप को सुनना, अपने आप को अपने आस-पास की दुनिया से अलग करना बहुत आम है। चिंता न करें, आप अकेले नहीं हैं। लगभग हर व्यक्ति पूरी तरह से पॉडकास्ट सुनता है। हर समय नहीं बल्कि अक्सर। हालांकि, यदि आपके पास प्रकृति की आवाज़ से भरे क्षेत्र में चलने का अवसर है जैसे एक पार्क या बगीचा तो आप उस वातावरण को अपने कान उधर दे सकते हैं।

Headphone ka use karne se bache
हेडफोन का इस्तेमाल करने से बचें। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्यों? खैर, शोध में पाया गया है कि जिन लोगों ने वुडलैंड की आवाज़ें सुनीं – जैसे कि एक झरना, चिड़ियों का चहकना, या पत्तों की आवाज, उन्होंने विश्राम में 30% की वृद्धि की सूचना दी। और उन ध्वनियों में, चिड़ियों का चहकना सबसे लोकप्रिय था जिसमें 40% प्रतिभागियों ने कहा कि ध्वनि ने उन्हें खुशी का अनुभव कराया। इसलिए यदि आप बहुत सारे प्राकृतिक पक्षियों के साथ एक क्षेत्र में जा सकते हैं, तो यह वॉक आपके मानसिक स्वास्थ्य लाभों को सुपरचार्ज कर सकता है। लेकिन अगर आप एक व्यस्त शहर में, सुपरमार्केट में, आदि में चल रहे हैं, तो हेडफ़ोन शोर को अवरुद्ध करने के लिए बहुत अच्छे हैं।

दुर्भाग्य से, आप प्राकृतिक ध्वनियों की प्लेलिस्ट नहीं सुन सकते हैं और उन्हीं विश्राम प्रभावों की अपेक्षा कर सकते हैं। शायद आप जानते हैं कि यह सच नहीं है। पक्षियों की नकली सुनना सही नहीं लगता है।

सारांश

स्वास्थ्यप्रद सैर पर जाने के लिए, सुनिश्चित करें कि आप अपनी सांस, मुद्रा और प्राकृतिक परिवेश को ध्यान में रखें। प्रत्येक कारक आपकी मानसिक और शारीरिक भलाई को बढ़ावा दे सकता है और आपके टहलने के लाभों को सुपरचार्ज कर सकता है।

यह भी पढ़ें: World Tuberculosis Day 2022 : ये खानपान और लाइफस्टाइल मदद कर सकती हैं टीबी से उबरने में

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें