वैलनेस
स्टोर

हेल्‍दी तरीके से वजन घटाना है, तो अपने नाश्‍ते में शामिल करें भीगी हुई मूंगफली

Published on:28 April 2021, 12:57pm IST
मूंगफली प्रोटीन का बेहतरीन और सुलभ स्रोत है। आप अगर अपना वजन स्‍वस्‍थ तरीके से कम करना चाहती हैं, तो इन्‍हें भिगोकर अपने आहार में शामिल करें।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
भीगी हुई मूंगफली वज़न घटाने का एक हेल्दी तरीका है. चित्र : शटरस्टॉक

मूंगफली न सि‍र्फ सबसे लोकप्रिय स्‍नैक्‍स है, बल्कि यह आपके लिए प्रोटीन और कैल्शियम का बेहतरीन स्रोत भी है। आप अकसर उपमा, पोहा या साबूदान खिचड़ी में मूंगफली शामिल करती ही होंगी। पर आज हम बात कर‍ेंगे भीगी हुई मूंगफली के बारे में। जी हां, भीगी हुई मूंगफली आपके लिए पोषक तत्‍वों में और भी ज्‍यादा रिच हो जाती है। सबसे अच्‍छी बात कि ये वेट लॉस में आपके लिए मददगार साबित हो सकती है।

सबसे पहले जानते हैं क्‍यों खास है मूंगफली

मूंगफली में प्रोटीन, फाइबर और स्वस्थ वसा अधिक होती है। वे अन्य स्वस्थ पोषक तत्वों के साथ पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और बी विटामिन से भरपूर होते हैं। इन पोषक तत्वों के अलावा, मूंगफली में पी-कौमारिक एसिड, आइसोफ्लेवोंस, रेस्वेराट्रोल, फाइटिक एसिड और फाइटोस्टेरॉल जैसे लाभकारी यौगिक होते हैं।

क्या भीगी हुई मूंगफली वज़न घटाने में मदद करती है?

मूंगफली वजन कम करने या वजन बनाए रखने में आपकी मदद कर सकती है। उनमें प्रोटीन और अघुलनशील आहार फाइबर सहित विभिन्न पोषक तत्व होते हैं। जो उन्हें वजन घटाने के अनुकूल भोजन बनाते हैं।

मूंगफली वसा और कैलोरी में उच्च होने के बावजूद वजन बढ़ाने में योगदान नहीं करती। खासतौर से जब मूंगफली को रात भर के लिए भिगोया जाता है, तब इसमें से फैट की मात्रा कम होने लगती है। आप चाहें तो इस सेवन से बस एक या दो घंटा पहले भी भिगो सकती हैं।

प्रोटीन की भी बेहतरीन स्रोत है।चित्र:शटरस्टॉक
प्रोटीन की भी बेहतरीन स्रोत है।चित्र:शटरस्टॉक

मूंगफली में प्रोटीन और मोनोअनसैचुरेटेड वसा की उच्च सामग्री कैलोरी बर्न करने में मदद कर सकती है।

क्‍या कहते हैं अध्‍ययन

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन द्वारा एक अध्ययन में पाया गया कि मूंगफली वज़न घटाने में सहायक हो सकती हैं। कुछ स्वस्थ महिलाओं पर यह अध्ययन किया गया। जिनके आहार पर 6 महीने तक नजर रखी गई।

इस अध्ययन में उनके आहार में सभी वसा वाले स्रोतों को मूंगफली से बदल दिया गया और इसके बाद उनका लगभग 3 किलो वजन कम हो गया।

मूंगफली खाने के कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी हैं:

मधुमेह को नियंत्रित करती है मूंगफली :

ये मधुमेह रोगियों के लिए एक आदर्श स्नैक है। यह रक्त शर्करा को कम करने में सहायक है। अध्ययनों से पता चलता है कि मूंगफली में 21% मैंगनीज होता है, जो कैल्शियम के अवशोषण और रक्त शर्करा के विनियमन में एक प्रमुख भूमिका निभाता है।

पित्ताशय की पथरी से बचाव करती है :

आहार में मूंगफली को नियमित रूप से शामिल करने से पित्ताशय की पथरी का खतरा कम होता है। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार, यह पाया गया कि मूंगफली सहित नट्स के पांच से अधिक सर्विंग्स का सेवन करने से पित्ताशय की पथरी के गठन का खतरा कम हो गया था।

मूंफाली आपकी मेमोरी बूस्ट करने में मदद करेगी ।चित्र- शटरस्टॉक।
मूंफाली आपकी मेमोरी बूस्ट करने में मदद करेगी ।चित्र- शटरस्टॉक।

मेमोरी बूस्ट करे :

मूंगफली मस्तिष्क के कामकाज में सुधार करती है, इसकी पर्याप्त मात्रा में विटामिन B3 और नियासिन को धन्यवाद दिया जा सकता है। फ्लेवोनोइड्स से भरपूर, ये स्वादिष्ट नट्स मस्तिष्क के रक्त प्रवाह को बढ़ाकर मस्तिष्क के कामकाज को प्रोत्साहित करते हैं।

त्वचा की चमक बढ़ाने में मददगार :

इसका के नियमित सेवन से त्वचा को एक चमक मिलती है। इन फलियों में मौजूद स्वस्थ मोनोसैचुरेटेड फैट रेसवेराट्रॉल, सीबम ऑयल के अतिरिक्त उत्पादन और मुंहासों और फुंसियों से बचाता है। विटामिन E और विटामिन C की उपस्थिति झुर्रियों की रोकथाम और एजिंग के संकेतों से बचने में सहायता करती है।

हेयर फॉल रोकने में मददगार

मूंगफली विटामिन C का एक अच्छा स्रोत हैं, जो इम्युनिटी बढ़ाने और बालों के झड़ने को रोकने में मदद करती है। मूंगफली के नियमित सेवन से कोलेजन का उत्पादन बढ़ता है, जो बालों के रोम को मजबूत करता है, गंजापन को रोकता है और बालों के विकास में योगदान देता है।

मूंगफुली पोषक तत्वो से है भरपूर। चित्र: शटरस्टॉक
मूंगफली पोषक तत्वो से है भरपूर। चित्र: शटरस्टॉक

भीगी हुई मूंगफली को कब खाना चाहिए?

आदर्श रूप से, नाश्ते से पहले सुबह में भिगोए हुए मूंगफली का सेवन करना चाहिए। मूंगफली अक्सर वजन घटाने से जुड़ी होती है, क्योंकि वह तृप्ति बढ़ाती हैं। ये कैलोरी में काफी अधिक है, इसलिए उन्हें अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए। लेकिन संतुलित आहार के हिस्से के रूप में उन्हें खाने से आपको वजन कम करने और स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद मिल सकती है।

यह भी पढ़ें : गर्मियों के दौरान एक्सरसाइज करते वक्‍त जरूरी है कुछ बातों का ध्‍यान रखना

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।