Keto Diet : कीटो डाइट ले रही हैं, तो एक्सरसाइज करने से पहले जान लें ये 5 जरूरी बातें

कीटो डाइट के दौरान यदि आप हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज करती हैं, तो यह नुकसानदेह हो सकता है। इस दौरान लो इंटेंसिटी वाले एक्सरसाइज करना चाहिए। कीटो आहार लेने के दौरान वर्कआउट में आपको इन चीजों का ध्यान रखना चाहिए।
कीटो डाइट लेने के दौरान हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज करने से मांसपेशियों को नुकसान हो सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 20 Jul 2023, 11:00 am IST
  • 125

कीटो आहार शरीर को कीटोसिस की स्थिति में लाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह कई स्वास्थ्य स्थिति में मददगार साबित हो सकता है। पर इसके साथ कुछ एक्सरसाइज आपके लिए अधिक चुनौतीपूर्ण हो सकती हैं। इस डाइट को फ़ॉलो करने पर कम तीव्रता वाले वर्कआउट जैसे कि स्लो जॉगिंग या साइकिल चलाना सही रहेगा। यदि आप कीटोजेनिक (Ketogenic or Keto Diet) आहार लेती हैं, तो इससे कई स्वास्थ्य लाभ मिल सकते (Keto Diet effect on Exercise) हैं।

कीटो डाइट और व्यायाम 

जब शरीर कीटोसिस में होता है, तो यह कार्बोहाइड्रेट की बजाय ईंधन स्रोत के रूप में वसा लेता है। कीटो डाइट से वजन कम हो सकता है, ऊर्जा में वृद्धि और ब्लड शुगर में उतार-चढ़ाव को कंट्रोल किया जा सकता है। यहां यह जानना जरूरी है कि इस डाइट को फ़ॉलो करने पर किस तरह का व्यायाम (Keto Diet effect on Exercise) करना चाहिए।

1. हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग (Keto Diet for HIIT)

हार्वर्ड हेल्थ के अनुसार, कीटो आहार लेते हुए उच्च तीव्रता वाले व्यायाम को बढ़ावा देना कठिन हो सकता है। अधिकांश उच्च-तीव्रता वाले व्यायाम, जिसमें ऊर्जा के छोटे और तीव्र विस्फोट की आवश्यकता होती है। यह कार्बोहाइड्रेट द्वारा संचालित होती है। मानव शरीर कार्बोहाइड्रेट को मांसपेशियों की कोशिकाओं में ग्लाइकोजन के रूप में संग्रहीत करता है।

जब किसी भी प्रकार की गतिविधि की जाती है, जिसमें समय-समय पर तीव्र गति की आवश्यकता होती है। इसमें शक्ति प्रशिक्षण, दौड़ना और अन्य खेल शामिल हैं, तो मांसपेशी में मौजूद ग्लाइकोजन शरीर के लिए तत्काल ईंधन स्रोत बन जाता है।

exercise
कीटो आहार लेते हुए उच्च तीव्रता वाले व्यायाम को बढ़ावा देना कठिन हो सकता है। चित्र शटरस्टॉक

कीटो आहार में शरीर ऊर्जा के लिए कार्बोहाइड्रेट की बजाय फैट पर निर्भर रहता है। ईंधन स्रोत के रूप में वसा को कार्बोहाइड्रेट की तरह आसानी से नहीं जलाया जाता है। कीटो आहार लेने से हाई इंटेंसिटी वाले वर्कआउट के दौरान प्रदर्शन को सीमित कर देता है। इस दौरान लो इंटेंसिटी वाले वर्कआउट अधिक मददगार हो सकते हैं।

2. कीटो फैट बर्न को बढ़ावा देती है (Keto diet for Aerobic Exercise)

हार्वर्ड हेल्थ के अनुसार, कीटो उन चीजों के लिए बढ़िया नहीं हो सकता है, जिनमें ऊर्जा की कम मात्रा की जरूरत पडती है। हेवीवेट या स्पिनिंग स्थिर अवस्था में एरोबिक व्यायाम करने वाले लोगों में वसा जलाने में अच्छा काम करता है। कीटो आहार में अधिक वसा जलाने के बावजूद शरीर खराब प्रदर्शन का अनुभव करता है। वर्कआउट को पूरा करने के लिए अधिक परिश्रम करना पड़ता है, जो शरीर को बुरी तरह थका देता है।

3. बिगिनर को हो सकती है परेशानी (Keto Diet for Belly Fat )

कनेडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल के अनुसार, कीटो-अनुकूलित होने पर शरीर कार्बोहाइड्रेट की बजाय वसा जलाने के लिए खुद को प्रशिक्षित करना शुरू कर देता है। शुरुआत में वर्कआउट सामान्य से कम ऊर्जावान महसूस करा सकती है। शरीर वसा का उपयोग करने की अपनी क्षमता बढ़ाने में भी सफल हो जाता है

4. मांसपेशियों को बनाए रखना मुश्किल (Keto for Muscles Health)

कनेडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल के अनुसार, मांसपेशियों को बनाए रखने और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने और उम्र से संबंधित हड्डियों के नुकसान के जोखिम से बचाने में कीटो डाइट की मदद मिलती है। मांसपेशियां हर दिन अधिक कैलोरी जलाने में मदद करती हैं, तब भी जब आप व्यायाम नहीं कर रही हैं

उम्र से संबंधित हड्डियों के नुकसान के जोखिम से बचाने में कीटो डाइट की मदद मिलती है। चित्र : अडोबी स्टॉक

अगर आप मांसपेशियां बढ़ाना चाहती हैं, तो कीटो के दौरान प्रतिदिन जो कम मात्रा में कैलोरी और प्रोटीन लेती हैं, वह आपके लिए इसे कठिन बना सकता है। यदि आप वजन घटाने के लिए आहार पर हैं, लेकिन कीटो पर मांसपेशियों का निर्माण करना अधिक कठिन है। क्योंकि शरीर में कम कार्बोहाइड्रेट उपलब्ध हैं, जो आपकी मांसपेशियों में जमा हो जायेंगी और मांसपेशियां वृद्धि प्रक्रिया के हिस्से के रूप में उपयोग करेंगी

5. बर्न फैट (Keto Diet to burn fat)

हार्वड हेल्थ के अनुसार, वसा जलाने का मतलब हमेशा वसा हानि नहीं होता है। जब आप कीटो पर होती हैं, तो आप अधिक वसा जलाती हैं। लेकिन आप अधिक वसा जमा भी करती हैं, क्योंकि आपकी अधिक कैलोरी वसा से आ रही है। वजन घटाने के लिए कैलोरी को कम करने में परेशानी हो सकती है।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

यह भी पढ़ें :- Healthy Eating Habits : वेट लॉस में जिम या एक्सरसाइज से भी ज्यादा मददगार हो सकती हैं खानपान की ये 5 आदतें

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख