तनाव से होने वाले मसल्स टेंशन को रिलीज करती हैं ये 5 एक्सरसाइज, जानिए इन्हें कैसे करना है

मांसपेशियों में तनाव के कई कारण हो सकते हैं, जिसकी वजह से बॉडी में असहनीय दर्द का अनुभव होता है। ऐसे में कुछ खास टिप्स को फॉलो कर आप इस समस्या से निजात पा सकती हैं।
stress door karne ke liye kya karein
स्ट्रेस हार्मोन शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है। इसलिए रिलैक्स होना जरूरी है। चित्र : अडोबी स्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 27 Mar 2024, 11:00 am IST
  • 124

अधिक स्ट्रेस, लंबे समय तक काम करना, भारी उठाना, आदि जैसी स्थिति में तनाव होना सामान्य है। मसल्स के टेंश होने पर शरीर में खिंचाव के साथ असामान्य दर्द होता है, जिसकी वजह से सामान्य दिनचर्या के कार्यों को करना कठिन हो सकता है। वहीं मांसपेशियों के तनाव की स्थिति में सिर दर्द और नेक पेन भी ट्रिगर हो सकते हैं। इस स्थिति में कुछ खास एक्सरसाइज आपकी मदद कर सकती हैं। एक्सरसाइज करने से आपको मांसपेशियों का टेंशन रिलीज करने में मदद मिलेगी (exercises to relieve muscles tension)।

जानें बॉडी टेंशन रिलीज करने के कुछ प्रभावी तरीके (exercises to relieve muscles tension)

1. कोबरा पोज (cobra pose)

कोबरा पोज बॉडी को स्ट्रेच करता है, और आपकी मांसपेशियों में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाते हुए, इन्हे एक्टिवेट कर देता है। जिससे की मसल्स के टेंशन को रिलीज करने में मदद मिलती है।

जानें इसे करने का सही तरीका

सबसे पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाएं, फिर सांस लेते हुए शरीर के आगे के हिस्से को उपर की ओर उठाएं।
इस दौरान बाजूओं के बल खड़े हों और शरीर के ऊपरी हिस्से को पूरी तरह से सीधा रखने का प्रयास करें।
अपने टांगों को सीधा रखें और दोनों पैरों के बीच एक गैप मेंटेन करें।
इस मुद्रा में आने के बाद गहरी सांस लें फिर सांस को छोड़ दें।
30 सेकंड तक इसी मुद्रा में बनी रहें, फिर दोबारा से पेट के बल मैट पर लेटें और शरीर को ढ़ीला छोड़ दें।

neck pain ke liye yoga
ये सुपर इफेक्टिव योगासन दे सकते हैं आपको गर्दन के दर्द से राहत। चित्र : शटरस्टॉक

2. नेक स्ट्रेच (neck stretch)

गर्दन और स्कैल्प की मांसपेशियों को स्ट्रेच करने से मसल्स टेंशन को रिलीज करने में मदद मिलती है। आम तौर पर मांसपेशियों का तनाव सिर दर्द को ट्रिगर कर देता है, ऐसे में स्कैल्प स्ट्रेचिंग आपको राहत प्रदान कर सकती है। अपने कान के पीछे के हिस्से को हाथों से स्ट्रेच करते हुए बाजू तक आएं। अब अपने गर्दन की बीच के हिस्से को स्ट्रेच करें। साथ ही स्कैल्प मसल्स को भी स्ट्रेच करें।

यह भी पढ़ें: Meal Replacement Shakes : क्या फुल मील की जगह शेक लेना वेट लॉस में मदद करता है? जानते हैं मील रिप्लेसमेंट शेक्स के बारे में सब कुछ

3. ट्विस्ट एक्सरसाइज (twist exercise)

बॉडी ट्विस्ट एक्सरसाइज मसल्स टेंशन से लेकर जॉइंट स्टिफनेस को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। यह मांसपेशियों में खिंचाव पैदा करता है, जिससे मांसपेशियों में ब्लड सर्कुलेशन और ऑक्सीजन का सप्लाई बढ़ जाता है। वहीं इससे मांसपेशियां अधिक फ्लैक्सिबल हो जाती हैं। यह सभी फैक्टर मांसपेशियों के तनाव को कम करने में मदद करते हैं। किसी चेयर पर बैठकर अपने अप्पर बॉडी पार्ट को दोनों और स्ट्रेच करते हुए ट्विस्ट करें। इसके अलावा अपने हाथ एवं पैरों को ट्विस्ट करना भी एक अच्छा आईडिया है। मसल्स टेंशन के कारण होने वाले सिर दर्द को कम करने के लिए आप नेक ट्विस्ट कर सकती हैं।

4. योगा (yoga)

योग फिजिकल, मेंटल ओर स्पिरिचुअल प्रेक्टिस है, जो आपके शरीर को तमाम अलग-अलग रूपों में फायदे प्रदान करता है। बॉडी मसल्स टेंशन का एक सबसे बड़ा कारण है तनाव, ऐसे में योग दोनों पहलुओं में आपके लिए कारगर साबित हो सकता है। ये तनाव को कम करता है, साथ ही साथ बॉडी मसल्स को स्ट्रेच करते हुए, इन्हें एक्टिवेट कर देता है, जिससे कि मसल्स के अकड़न और तनाव से राहत मिलती है। यदि आपकी मांसपेशियां स्ट्रेस हो गई हैं, तो इन्हे रिलैक्स करने के लिए डीप ब्रीदिंग एक्सरसाइ करें, साथ ही कुछ आसान से योगाभ्यासों में भाग लेने से बेहद प्रभावी फायदे नजर आएंगे।

yh aasan aapki reed ki haddi ko santulit kar sakta hai
यह आसान आपकी रीड़ की हड्डी को संतुलित कर सकता है। चित्र ; शटरस्टॉक

5. कैट कॉउ स्ट्रेच (Cat-Cow stretch)

यह मांसपेशियों के टेंशन को रिलीज करने में बेहद प्रभावी रूप से कार्य करता है। यह लोगों पीठ और गर्दन की गतिशीलता में सुधार करने के लिए बहुत अच्छा है। इसके अलावा यह शरीर की मांसपेशियों को पूरी तरह फ्लैक्सिबल बना देता है।

कैसे करें कैट कॉउ स्ट्रेच

इसे करने के लिए सबसे पहले हाथ और घुटनों को फर्श पर रखें, घुटनों को कूल्हों के नीचे रखें और अपनी कलाइयों को कंधों के नीचे रखकर शुरुआत करें।
इसे करते हुए अपनी रीढ़ की हड्डियों को पूरी तरह से सीधा रखें।
पीठ को जमीन के बराबर रखें और इसमें पेट की मांसपेशियों पर दबाव डालते हुए सांस लें।
अब अपने सिर को ऊपर की ओर उठाते हुए अपनी पीठ को झुकाएं।
अपनी रीढ़ की हड्डियों को कर्व करते हुए सांस को छोड़ दें, वहीं इस दौरान अपनी चीन को अंदर की ओर मोड़ें।
इस मुद्रा में 30 सेकंड से लेकर एक मिनट तक बनी रहें।

यह भी पढ़ें: बाजूओं में बढ़ने लगा है दर्द और ऐंठन, तो इन योगासनों के नियमित अभ्यास से पाएं राहत

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

  • 124
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख