Tendonitis : लगातार काम करने से हो सकती है टेंडन में सूजन, जानिए इससे राहत दिलाने वाले व्यायाम

कम्पयूटर या लैपटॉप पर लगातार काम करने पर टेंडोनाइटिस की समस्या हो सकती है। इससे बचाव के उपाय करना जरूरी है। एक्सपर्ट यहां टेंडोनाइटिस से बचाव के लिए 5 एक्सरसाइज बता रहे हैं।
shareer ke kisi bhi tendon me soojan se tendonitis ho sakta hai.
जब टेंडन में सूजन हो जाती है, तो टेंडोनाइटिस हो जाता है। यह शरीर के किसी भी टेंडन को प्रभावित कर सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 20 Nov 2023, 06:38 pm IST
  • 125

हम कम्पयूटर या लैपटॉप पर लगातार काम करते रहते हैं। कभी आपने भी महसूस किया होगा कि आपके हाथ की हड्डी लगातार काम करते हुए दर्द करने लगती है। विशेषज्ञ बताते हैं कि यह टेंडोनाइटिस के कारण हो सकता है। यह टेंडन में हुए सूजन के कारण हो सकता है। कोई भी व्यक्ति यदि लगातार कम्पयूटर या लैपटॉप पर काम करता है, तो उसे टेंडोनाइटिस से बचाव के उपाय करने चाहिए। स्थिति गंभीर होने पर सर्जरी कराने की जरूरत भी हो सकती है।

क्या है टेंडोनाइटिस (tendonitis)

जिंदल नेचर केयर के उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एच.पी.भारती बताते हैं, ‘टिश्यू के मजबूत कोर्ड होते हैं टेंडन, जो मांसपेशियों को हड्डियों से जोड़ते हैं। जब टेंडन में सूजन हो जाती है, तो टेंडोनाइटिस हो जाता है। यह शरीर के किसी भी टेंडन को प्रभावित कर सकता है। जब टेंडन में सूजन होती है, तो यह सूजन, दर्द और असुविधा पैदा कर सकता है। टेंडोनाइटिस के कारण टेंडन परत की सूजन हो जाती है।’

क्या हैं कारण (tendonitis causes)?

डॉ. एच.पी.भारती बताते हैं, ‘टेंडोनाइटिस का कारण बताना संभव नहीं है। तनाव, कलाई के बहुत अधिक प्रयोग के कारण, चोट लगने या बहुत अधिक एक्सरसाइज के कारण हो सकते हैं। टेंडोनाइटिस डायबिटीज, रुमेटीइड आर्थराइटिस या संक्रमण जैसी बीमारी से भी संबंधित हो सकता है।

यह किस उम्र में हो सकता है

यह किसी भी उम्र में हो सकता है। लेकिन 40 के बाद इसके होने की संभावना बढ़ जाती है। जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, हमारे टेंडन तनाव के प्रति अधिक नकारात्मक प्रतिक्रिया करते हैं। ये लचीले कम होते हैं। यह परिवर्तन टेंडोनाइटिस के प्रति अधिक संवेदनशील बनाता है। इसके कारण शोल्डर टेंडोनाइटिस और एल्बो टेंडोनाइटिस अधिक होते हैं।

laptop par lagatar kaam karne se tendonitis ho sakta hai.
टेंडोनाइटिस किसी भी उम्र में हो सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

ये हैं लक्षण (tendonitis symptoms)

शरीर हिलाने पर टेंडन में दर्द
तरल पदार्थ से सूजन
जोड़ को हिलाने पर दर्द जैसा महसूस करना
टेंडोनाइटिस शरीर में कहीं भी हो सकता है जहां टेंडन है।
अंगूठे का आधार, कोहनी, कंधा, कूल्हा, घुटना, एड़ी, कलाई में हो सकता है।

ये 4 एक्सरसाइज हाथ या कलाई की टेंडोनाइटिस से बचाव कर सकते हैं (4 exercises to prevent wrist tendonitis)

डॉ. एच.पी.भारती के अनुसार, अधिक दर्द करने पर किसी भी तरह का स्ट्रेच एक्सरसाइज नहीं करें। सामान्य स्थिति में इन एक्सरसाइज की मदद से बचाव किया जा सकता है।

1. गर्म पानी के नीचे हाथ खोलें और बंद करें

हाथ को धीरे से गर्म पानी के नीचे ले जायें। हाथ को धीरे-धीरे हिलाएं। गर्म पानी की गर्मी का प्रभाव हाथ और कलाई पर पड़ने दें। पानी की गर्मी को सहन करने तक कई मिनटों तक धीरे-धीरे इस प्रक्रिया को दोहराएं।

2. कलाई को स्ट्रेच करना

लचीलापन लाने के लिए कलाई को आगे और पीछे की ओर स्ट्रेच करें। अपनी सहनशक्ति के अनुसार, प्रत्येक स्थिति को 30 सेकंड तक करें।

3. उंगलियों को मोड़ें और फैलायें

टेंडोनाइटिस होने पर उंगलियां भी प्रभावित हो जाती हैं। उंगलियों को मोड़ें और फैलायें। अपनी क्षमता के अनुसार इसे कम से कम 20 बार धीरे-धीरे दोहराएं।

kalai ko chhoti ungli ki taraf moden.
टेंडोनाइटिस होने पर उंगलियां भी प्रभावित हो जाती हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक

4. कलाई को गोलाई में घुमाना

यदि किसी भी प्रकार का दर्द नहीं है, तो अपनी कलाई को धीरे-धीरे 20 बार गोलाई में घुमाएं।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

5 कलाई को छोटी उंगली की तरफ ले जाना

कलाई को आसपास के क्षेत्र तक फैलाने की कोशिश करें। इसके लिए अंगूठे को दूसरे हाथ की उंगलियों से पकड़ें। कलाई को छोटी उंगली की तरफ झुकाने की कोशिश करें। अंगूठे के आधार पर खिंचाव महसूस किया जा सकता है। 30 सेकंड तक रुकें और इस प्रक्रिया को धीरे-धीरे 3 बार दोहराएं। गंभीर दर्द रहने पर उंगलियों और अंगूठे पर दबाव न डालें।

अंत में

यदि लगातार दर्द रह रहा है, तो किसी भी प्रकार के एक्सरसाइज को नहीं करना चाहिए। इससे पहले डॉक्टर से मिलना जरूरी है।

यह भी पढ़ें :- Squats For Butt : क्या हर रोज़ स्क्वैट्स करना नितंबों के आकार में सुधार कर सकता है? एक्सपर्ट दे रहे हैं आपके इस सवाल का जवाब

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख