Yoga for hair growth: क्या शीर्षासन करने से बाल बढ़ने लगते हैं? जानिए बालों के लिए कैसे काम करते हैं योगासन

अगर आपके बाल भी झड़ते है, रूखे हैं और कम है, तो इन योग मुद्राओं से बालों को बना सकती हैं हेल्दी और मज़बूत। जानते हैं, इन योगासनों को करने की विधि।
Balon ko inn yog ke sahaare karein yog
सिर के बल किए जाने वाला ये आसन हैडस्टैण्ड कहलाता है। इससे बाल मज़बूत बनते हैं। चित्र अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 13 Mar 2023, 08:00 am IST
  • 142

कई बार तनाव, हार्मोनल इंबैलेंस और केमिकल ट्रीटमेंट हमारे बालों के झड़ने का कारण साबित होते हैं। ऐसे में अपने बालों के वॉल्यूम को बढ़ाने और शाइन लाने के लिए हम कई तरह के प्रयोग करने लगते हैं। थैरेपीज़, ओरल सप्लीमेंटस (Oral supplements) और घरेलू नुस्खों (home remedies) समेत सभी चीजों को अपने रूटीन का हिस्सा बना लेते है। इससे कई बार हम अन्य समस्याओं का शिकार हो सकते हैं। अगर आप भी अपने बालों को घना बनाना चाहती है, तो इन योगासनों को अपनी दिनचर्या का हिस्सा ज़रूर बनाएं (Yoga For Hair Growth)

आइए जानते है इन योगासनों के नाम और इन्हें करने का तरीका

Headstand karne ke liye tips
शीर्षासन करने के लिए इन टिप्स को फॉलो करें। चित्र:शटरस्टॉक

1. शीर्षासन (Head stand pose)

ये एक ऐसा आसन है, जो आपके ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने का काम करता है। सिर के बल किए जाने वाला ये आसन हैडस्टैण्ड कहलाता है। इसे करने से आपके सिर की नसों में ब्लड सर्कुलेशन नियमित हो जाता है। स्ट्रेस बस्टर कहलाने वाले इस योग से आपकी मेंटल हेल्थ भी इम्प्रूव होने लगती है। इसे करने के लिए आतुरता न बरतें बल्कि ध्यानपूर्वक धीरे धीरे किसी ट्रेनर की गाइडेंस में इसे करने की कोशिश करें।

इसे करने का तरीका

इसे करने के लिए सबसे पहले पैरों के बल ज़मीन पर बैठ जाएं

अब अपने दोनों हाथों को इंटरलॉक कर लें।

उसके बाद अब सिर को हाथों के मध्य टिकाकर सीधा खड़े होने का प्रयास करें।

शुरूआत में इसे करने के लिए आप किसी स्टैण्ड या दीवार का सहारा ले सकते हैं।

इस मुद्रा में पहले पहल 10 सेकण्ड तक रहें। उसके बाद इसे 30 सेकण्ड से 1 मिनट तक कर सकते हैं।

ballon ki samasya dur krte hain yeh yoga
इस आसन के जरिए आपका सिर ज़मीन की तरफ जाता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। चित्र अडोबी स्टॉक

2. उत्तासन (Standing Forward Bend)

इस आसन के जरिए आपका सिर ज़मीन की तरफ जाता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। साथ ही रीढ़ ही हड्डी भी सीधी होती है, जिससे उसकी मज़बूती बढ़ती है।

इसे करने का तरीका

इसे करने के लिए सबसे पहले मैट पर एक दम सीधा खड़े हो जाएं।

अब अपने दोनों पैरों को आपस में जोड़ लें।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

बाजुओं को खींचते हुए उपर की ओर लेकर जाएं।

अब दो हाथों को नीचे लांए और ज़मीन को छूएं।

ध्यान रखें कि घुटने पूरी तरह से सीधे रहें।

रोज़ाना अभ्यास करने से इस आसन को आसानी से किया जा सकता है।

yoga
योगा और मेडिटेशन है जरूरी। चित्र : शटरस्टॉक

3.शशांकासन (Rabbit pose)

खरगोश की तरह बैठकर किए जाने वाले इस आसन को शशांकासन कहते हैं। इसे निंरतर करने से तनाव और क्रोध से मुक्ति मिलती है। साथ ही बालों का टैक्सचर बेहतर होने लगता है। वे योग, जिनमें सिर को नीचे की ओर झुकाया जाता है या सिर के बल किए जाते हैं। उनसे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है।

इसे करने के लिए सबसे पहले वज्रासन की मुद्रा में बैठें।

उसके बाद एकदम सीधे बैठ जाएं और दोनों हाथों को अपनी थाइज़ पर टिका लें।

अब दोनों हाथों को आगे की ओर बढ़ाएं और उन्हें स्ट्रैच करें और सिर का ज़मीन पर टिका दें।

दोनों हाथों से नमस्कार की मुद्रा बनाएं। शुरूआत में आप इसके लिए तकिए का प्रयोग कर सकते हैं।
इसके चलते आप सिर को तकिए पर टिका कर रखें। इससे आप आसानी से इस मुद्रा को कर सकती हैं।

अब धीरे धीरे सिर को उपर की ओर उठाएं। साथ ही दोनों हाथों से दोनों पैरों के टखनों को छूएं।

इस आसन को 30 सैकण्ड तक करने का प्रयास करें।

स्वस्थ नाखून की संरचना, नाखून विकारों के लक्षण, निदान और उपचार के बारे में जानना हर किसी के लिए जरूरी है। चित्र : एडोबी स्टॉक

4. बालायम योग मुद्रा (Rubbing nails pose)

बाल बढ़ाने के लिए अक्सर लोग इस योग मुद्रा का सहारा लेते हैं। इसे किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं। इससे बालों की जड़ें मज़बूत होने लगती है।

इसे करने के लिए सबसे पहले वज्रासन की मुद्रा में बैठें।

उसके बाद दोनों हाथों के नाखूनों को आपस में रगड़े।

10 से 15 मिनट तक इस योग को करने से नाखूनों की नसों पर इसका प्रभाव पड़ता है।

रोज़ाना नेल रबिंग से हेयर फॉलिक्स खुलने लगते हैं और बाल स्वस्थ रहते हैं।

ये भी पढ़ें- फेलियर और रिजेक्शन, ऐसे बिल्डिंग ब्लॉक्स है, जो बच्चे को ओवरडिपेंडेंट से इंडिपेंडेंट बनाने की दिशा में काम करते है: डॉ. पल्लवी राव चतुर्वेदी

  • 142
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख