और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

जी हां, रूखी त्‍वचा पर भी हो सकते हैं मुंहासे! त्वचा विशेषज्ञ बता रहीं हैं इनसे निपटने के 4 तरीके

Updated on: 10 December 2020, 10:55am IST
मुंहासे सिर्फ ऑयली स्किन की ही समस्‍या नहीं है। वे रूखी त्वचा पर भी देखे जा सकते हैं। त्वचा विशेषज्ञ से जानें कि ड्राई स्किन पर होने वाले मुंहासों से कैसे निपटना है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes
अलग गुण धर्म वाले खाद्य पदार्थ साथ में खाए जाने पर त्वचा रोग के जोखिम को बड़ा सकते हैं । चित्र: शटरस्‍टॉक
अलग गुण धर्म वाले खाद्य पदार्थ साथ में खाए जाने पर त्वचा रोग के जोखिम को बड़ा सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

हम अक्सर इस गलत धारणा में रहते हैं कि केवल तैलीय त्वचा पर ही मुंहासे होते हैं और रूखी त्वचा इससे बची रहत है। हां, ये सही है कि मुंहासों का संबंध त्‍वचा में मौजूद तेल से है। पर मुंहासों के लिए जिम्‍मेदार एक और कारण है, वह है – त्‍वचा के रोमछिद्रों का बंद होना। जिसका सामना रूखी या शुष्क त्वचा (Dry skin) वाले लोगों को भी करना पड़ता है।

दिल्ली की प्रसिद्ध त्वचा विशेषज्ञ डॉ. किरण सेठी कहती हैं, “शुष्क त्वचा वाले चेहरे पर भी मुंहासे आसानी से विकसित हो सकते हैं। यदि उनके रोम छिद्र बंद हो जाएं तो। मुंहासे सिर्फ तैलीय त्वचा के कारण ही नहीं होते, बल्कि यह रोमछिद्रों में रुकावट और हार्मोनल बदलाव के कारण भी हो सकते हैं।”

शुष्क त्वचा होने पर भी ब्रेकआउट का अनुभव करना पूरी तरह से सामान्य है। लेकिन अगर समस्या बनी रहती है, तो एक अंतर्निहित कारण हो सकता है। जिस पर जल्द से जल्द ध्‍यान दिया जाना चाहिए।

डॉ. किरण सेठी यहां उन 4 तरीकों के बारे में बता रहीं हैं, जिनसे ड्राई स्किन वाले लोग अपनी मुंहासों को कंट्रोल कर सकते हैं:

1. हार्मोनल कारण

आपके हार्मोनल असंतुलन के कारण भी मुंहासे विकसित हो सकते हैं। इसलिए, एक प्रभावी स्किन केयर रूटीन की तलाश करने से पहले थायरॉयड और पीसीओडी को नियंत्रित करना महत्वपूर्ण है।

हॉर्मोन में बदलाव के कारण भी त्‍वचा संबंधी समस्‍याएं हो सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
हॉर्मोन में बदलाव के कारण भी त्‍वचा संबंधी समस्‍याएं हो सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. अपनी त्वचा को समझें

यह समझना कि कौन से उत्पाद आपकी त्वचा के लिए काम करते हैं और कौन से मुंहासों को रोकने की दिशा में, इस बारे में जानना पहला कदम है। हो सकता है कि आपकी त्वचा संवेदनशील हो। या आपके द्वारा उपयोग किए जा रहे उत्पाद आपको ब्रेकआउट का कारण बन रहे हैं। इसलिए, मुंहासों से बचने के लिए यह समझना सबसे जरूरी है कि आपकी त्वचा पर क्या सूट करता है।

डॉ. सेठी सुझाव देते हुए कहती है की , “यदि आपकी त्‍वचा पर मुंहासे और दानों जैसी समस्‍या हो रही है, तो उन उत्पादों का उपयोग करना बंद कर दें जो आपके स्किनकेयर रूटीन या आपके द्वारा आजमाए जा रहे किसी भी DIY घरेलू उपचार का एक हिस्सा हैं।”

3. एक सैलिसिलिक एसिड-आधारित उत्पाद का उपयोग करें

अगर आप सोच रहीं हैं कि सैलिसिलिक एसिड ओयली त्वचा वालों के लिए ही प्रभावी है, तो आप पूरी तरह से गलत हैं। यदि आपकी त्वचा ड्राइ है और ब्रेकआउट्स भी तो, सैलिसिलिक एसिड-आधारित उत्पादों का अनुभव करे।

हाईएल्‍यूरोनिक एसिड त्‍वचा को झुर्रियों से बचाता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
हाईएल्‍यूरोनिक एसिड त्‍वचा को झुर्रियों से बचाता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

डॉ. सेठी कहती हैं, “सैलिसिलिक एसिड-आधारित फेस वॉश और मॉइस्चराइज़र आपके छिद्रों को बंद करने और आपके मुँहासे को कम करने में मदद कर सकते हैं।”

4. अपना फेस मास्क बार-बार बदलें

“कोरोनावायरस महामारी के कारण मास्क पहनना बहुत आवश्यक है, लेकिन यह आपके चेहरे पर ब्रेकआउट का कारण हो सकते है। मास्क शारीरिक रूप से त्वचा के छिद्रों को बाधित करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप मुहांसें होते हैं। इसलिए, जब आप पसीने को पोंछने के साथ-साथ गंदगी साफ करती हैं तो अपने फेस मास्क को बार-बार बदलना आपके चेहरे के मुंहासों को रोक सकता है, ”डॉ. सेठी कहती हैं।

आपको यह ध्यान रखने की आवश्यकता है कि यदि ये ट्रिक्‍स काम नहीं करती हैं, तो अपनी समस्‍या के लिए किसी विशेषज्ञ से मदद लें। हैप्पी एक्ने फ्री फ़ेस, सखियों।

यह भी पढ़ें – यहां हैं वे 3 कारण जो आपके लिए जरूरी बनाते हैं नाईट टाइम स्किन केयर रूटीन

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।