और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

यामी गौतम को भी करना पड़ा है अपनी त्वचा संबंधी समस्याओं से संघर्ष , जानिए पूरी कहानी

Published on:7 October 2021, 14:30pm IST
छोटे लाल धब्बे और शुष्क, रूखी त्वचा आपको कन्फ्यूज़ कर रही है? आप केराटोसिस पिलारिस (keratosis pilaris) से पीड़ित हो सकते हैं। हाल ही में बॉलीवुड एक्ट्रेस यामी गौतम ने भी अपने संघर्ष के बारे में बताया हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 106 Likes
Yami Gautam ko bhi skin problems ka saamna karna padta hai
यामि गौतम को भी स्किन प्रॉबलम्स का सामना करना पड़ता हैं। चित्र: यामि गौतम, इंस्टाग्राम

बॉलीवुड अभिनेत्री यामी गौतम द्वारा हाल ही में केराटोसिस पिलारिस (keratosis pilaris) के साथ उनके संघर्ष पर एक इंस्टाग्राम पोस्ट शेयर की थी। यह पोस्ट न केवल सच्ची थी, बल्कि कई मायनों में दिल को छू लेने वाली भी थी। अक्सर, हम सेलेब्स को ‘परफेक्ट’ और बिना किसी स्वास्थ्य समस्या के देखते हैं। लेकिन उनकी पोस्ट ने हमें विश्वास दिलाया कि खामियां भी उतनी ही खूबसूरत हैं। इसी के साथ जानते हैं यामी के संघर्ष की कहानी।

उन्होंने लिखा है, “मैंने हाल ही में कुछ फोटोज शूट की और जब वे पोस्ट-प्रोडक्शन के लिए जाने वाली थीं, ताकि मेरी त्वचा की परेशानी (keratosis pilaris) को ठीक किया जा सकें, मैंने सोचा कि मैं क्यों न अपनी इस स्थिति को स्वीकार करूं और इसका सामना भी करूं।”

keratosis pilaris ek lailaaj skin problem hai
केराटोसिस पिलारिस एक लाइलाज स्किन प्रॉबलम हैं। चित्र : शटरस्टॉक

आपने कुछ लोगों को अपनी त्वचा पर सूखे और खुरदुरे पैच और छोटे-छोटे चकतों से जूझते देखा होगा। यह किसी भी दिन एलर्जी का रूप ले सकता है, लेकिन यह एक लाइलाज त्वचा की स्थिति है जिसे केराटोसिस पिलारिस (keratosis pilaris) कहा जाता है। इसे ‘चिकन स्किन’ भी कहा जाता है। यह न केवल चेहरे पर, बल्कि ऊपरी बांहों, गालों, जांघों, गालों या बट पर भी दिखाई देता है। यह हानिकारक स्थिति नहीं हैं और इन चकतों से खुजली भी नहीं होती है!

यह मॉइस्चराइज़र और प्रिस्क्रिप्शन क्रीम के साथ ठीक हो सकता हैं। ज्यादातर मामलों में, 30 साल की उम्र के बाद गायब हो जाते हैं।

क्या हैं इसके कुछ लक्षण?

यह स्थिति किसी भी उम्र में दिखाई दे सकती है, लेकिन यह आमतौर पर छोटे बच्चों में देखी जाती है। इसके कुछ सामान्य लक्षणों में शामिल हैं:

  • ऊपरी बांहों, जांघों, गालों या यहां तक कि बट पर छोटे-छोटे दाने
  • ऊबड़-खाबड़ क्षेत्र में रूखी और खुरदरी त्वचा 
  • मौसमी परिवर्तनों से स्थिति बिगड़ना

क्या इसका कोई विशिष्ट कारण है?

यह केराटिन (keratin) नामक प्रोटीन के संचय के कारण होती है। केराटिन ऐसा प्रोटीन है जो आपकी त्वचा को संक्रमण और बुरे पदार्थों से सुरक्षा प्रदान करता है। यह हेयर फोलिकल को रोकता हैं और एक अनईवन त्वचा का कारण बनता है। 

कुछ स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि यह उन लोगों में अधिक देखा जाता है, जिन्हें जेनेटिक रोग या अन्य त्वचा की परेशानी जैसे एटोपिक डर्माटाइटिस (atopic dermatitis) होती है। रूखी त्वचा केवल आपकी परेशानी बढ़ा सकती है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अपनी त्वचा को अच्छी तरह से मॉइश्चराइज रखें!

moisturizer aapki tvacha ko isse bacha sakta hai
मॉइस्चराइजर आपकी त्‍वचा को इससे बचा सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कुल मिलाकर, यह ड्राइ स्किन, एक्जिमा, इचिथोसिस, हे फीवर, मोटापा से ग्रसित लोगों के साथ महिलाओं, बच्चों या टीनेजर में भी आम है।

क्या है इसके इलाज का तरीका?

जैसा कि हमने बताया, केराटोसिस पिलारिस (keratosis pilaris) एक लाइलाज स्थिति है। लेकिन आपको निश्चित रूप से एक त्वचा विशेषज्ञ के पास जाना चाहिए, जो आपकी त्वचा को शांत करने के लिए कुछ अच्छे मॉइस्चराइज़र बता सकता है। कई क्रीम हैं जो डेड स्किन सेल्स को खत्म कर सकती हैं या हेयर फोलिकल को ब्लॉक होने से रोक सकते हैं। यूरिया और लैक्टिक एसिड वाली क्रीमों को लगाएं, क्योंकि वे बहुत मदद करती हैं!

केराटोसिस पिलारिस (keratosis pilaris) को ठीक करने के घरेलू उपचार 

  1. गर्म पानी से नहाएं: रोमछिद्रों को खोलने के लिए गर्म पानी से नहाएं। धब्बों को हटाने के लिए आप कड़े ब्रश का उपयोग कर सकते हैं। नहाने में ज्यादा समय न लगाएं।
  2. एक्सफोलिएट: हर दिन अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करके, आप जमी हुई डेड स्किन को हटा सकते हैं।
  3. एक हाइड्रेटिंग लोशन को लगाएं: लैक्टिक एसिड जैसे अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (AHA) वाले लोशन का उपयोग करना सुनिश्चित करें जो ड्राइ स्किन को हाइड्रेट कर सकते हैं, और साथ ही, सेल टर्नओवर को बढ़ा सकते हैं।
  4. टाइट कपड़े न पहनें
  5. ह्यूमिडिफायर (humidifier) का प्रयोग करें
yah aapki dead skin cells ko dur rakhti hai
यह आपकी डेड स्किन सेल्स को दूर रखती हैं। चित्र- शटरस्टॉक।

चिंता न करें क्योंकि आप जैसे हैं, बहुत खूबसूरत हैं! जैसा कि यामी ने कहा था, “मुझे अपने फॉलिकुलिटिस (folliculitis) को एयरब्रश करने या ‘अंडर-आई’ को टोन करने और अपने कमर को शेप अप’ करने का मन नहीं कर रहा था! लेकिन फिर भी, मैं सुंदर महसूस करती हूं।”

तो लेडीज, आप भी यामी के इस अंदाज को अपनाएं और केराटोसिस पिलारिस (keratosis pilaris) के लिए जरूरी कदम उठायें। 

यह भी पढ़ें: जानिए गीले बालों में की जानें वाली यह आम गलतियां, जो आपके बालों पर कहर बरपा सकती हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।