हमने ढूंढे वे कारण, जिनके चलते कम हो रही है आपके बालों की ग्रोथ

Published on: 27 August 2021, 20:30 pm IST

अच्छे बाल यानी बेहतर कॉन्फिडेंस! अगर आपकी हेयर ग्रोथ कम हो रही है, तो यह चिंताजनक बात है और आपको इसकी तह तक पहुंचना चाहिए।

vitamin treatment kya hota hai
आपके काम आ सकता है विटामिन ट्रीटमेंट। चित्र : शटरस्टॉक

जन्म से हर किसी के बाल समान संख्या में होते हैं, लेकिन जरूरी नहीं कि बाल समान गुणवत्ता या प्रकार के हों। किसी के बाल घुंघराले, तो किसी के सीधे हो सकते हैं। बालों का आकार – प्रकार, इनका झड़ना और बढ़ना सब कुछ, हेयर फॉलिकल पर निर्भर करता है। और अच्छी खबर यह है कि हेयर फॉलिकल की गुणवत्ता में सुधार किया जा सकता है!

केवल एक स्वस्थ स्कैल्प ही बालों के एक मजबूत, चमकदार स्ट्रैंड को जन्म देगा। कई कारक आपके बालों के विकास को प्रभावित कर सकते हैं, जो जेनेटिक्स और जीवनशैली से लेकर आपकी उम्र, दैनिक आहार और सामान्य स्वास्थ्य तक हो सकते हैं। तो, चलिए पता करते हैं इन कारणों के बारे में

आखिर क्यों कम हो जाती है आपकी हेयर ग्रोथ

कमजोर, अस्वस्थ बालों के लिए केवल लापरवाही ही जिम्मेदार नहीं है। कई अन्य चीजें बालों की ग्रोथ में रूकावट या बालों के झड़ने में योगदान कर सकती हैं, जैसे:

अनहेल्दी डाइट
कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट्स
पर्यावरण प्रदूषकों के संपर्क में आना
हार्मोनल असंतुलन
धूम्रपान
तनाव का स्तर

hair growth me kami ke karan
उम्र के साथ – साथ बालों की भी ग्रोथ कम हो सकती है. चित्र : शटरस्टॉक

कुछ बीमारियां भी हेयर फॉल का कारण बन सकती हैं

1. एंड्रोजेनिक एलोपीशिया (Androgenic alopecia)

एंड्रोजेनिक एलोपीशिया, या गंजापन, एक जेनेटिक विकार है जो एण्ड्रोजन नामक पुरुष सेक्स हार्मोन की गतिविधि द्वारा लाया जाता है। महिलाओं के शरीर में एण्ड्रोजन की मात्रा भी होती है और वे इस स्थिति से पीड़ित हो सकती हैं, खासकर अगर यह उनके परिवार में है।

इस तरह के एक हार्मोनल असंतुलन से बालों के रोम सिकुड़ सकते हैं, जो उन्हें पुराने बालों के झड़ने पर नए बाल उगाने में असमर्थ बना देता है। इस स्थिति में महिलाओं के बाल हल्के होने लग जाते हैं।

2. एलोपीशिया एरीटा (Alopecia areata)

एलोपेशिया एरीटा एक ऑटोइम्यून त्वचा विकार है जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली बालों के रोम पर हमला करती है, जिससे बालों का विकास रुक जाता है। इस स्थिति बालों का झड़ना पैच में होता है।

तो लेडीज, ऐसी कोई भी समस्या आने पर तुरंत चिकित्सीय सलाह लें! साथ ही, जब बालों की देखभाल की बात आती है, तो आपको अंदरूनी और बाहरी स्वास्थ्य दोनों पर ध्यान देना होगा। संतलित और पौष्टिक आहार और जीवनशैली के चुनाव करने से आपके बालों का झड़ना कम करने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें : मास्क पहनने से हो रही हैं स्किन प्रोब्लम्स, तो फॉलो करें शहनाज़ हुसैन के बताए ये प्राकृतिक उपाय

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें