अनईवन टोन के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं झाइंयां, जानिए इनका कारण और बचाव के उपाय

अनईवन स्किन टोन की वजह से आपका चेहरा अजीब लग सकता है। इसलिए अगर आप सब ट्राई कर लिया है तो जानें क्या हो सकती है स्किन पिगमेंटेशन की वजह।

pigmentation ke prakaar
पिगमेंटेशन के प्रकार और उनका इलाज कैसे करें. चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 24 September 2022, 12:30 pm IST
  • 130

क्या आपकी त्वचा का रंग भी ईवन (Uneven Skin Tone) नहीं है? और आप इसे सही करने की हर कोशिश कर चुकी हैं? तो आप अकेली नहीं हैं। इंडियन स्किन टोन के साथ पिगमेंटेशन की समस्या काफी आम है। यदि आपकी भी त्वचा का रंग कहीं से साफ या कहीं से गहरा है तो यह पिगमेंटेशन के कारण हो सकता है। हाइपरपिग्मेंटेशन (Hyperpigmentation) या मिलाज़्मा (Melasma) एक आम शिकायत है। इसलिए यदि आप भी यही सोच रही हैं कि सब कुछ ट्राई करने के बावजूद आपकी स्किन का रंग ईवन क्यों नहीं है? तो इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं।

बीते दिनों इसी मुद्दे पर बात करते हुये पोषण विशेषज्ञ पूजा मखीजा ने अपने नए इंस्टाग्राम पोस्ट में पांच कारण बताए हैं कि लोग पिगमेंटेशन (Pigmentation) की समस्या का सामना क्यों करते हैं। मगर सबसे पहले जान लेते हैं पिगमेंटेशन के बारे में –

क्या है स्किन पिगमेंटेशन?

स्किन पिगमेंट यानी मूल रूप से आपकी त्वचा का रंग। स्किन पिगमेंट मेलेनिन की मात्रा से निर्धारित होता है, जो कि त्वचा, बालों और आंखों को उनका रंग देता है। मेलेनिन (Melanin) में किसी भी प्रकार के परिवर्तन के कारण त्वचा का रंग गहरा या हल्का हो सकता है।

यहां देखें उनका वीडियो

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Pooja Makhija (@poojamakhija)

इन 5 कारणों की वजह से आपको नहीं मिल पा रहा है पिगमेंटेशन से छुटकारा

1. हार्मोनल इमबैलन्स

पूजा मखीजा हार्मोनल असंतुलन को पिगमेंटेशन का मुख्य कारण मानती हैं। वे कहती हैं “एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन सूरज के संपर्क में आने पर मेलेनिन के अधिक उत्पादन को उत्तेजित करते हैं। इसके अलावा, उनका मानना है कि यदि आपके साथ ये समस्या है तो “पीसीओएस और थायरॉयड से छुटकारा पाएं।”

2. डिहाइड्रेशन

हम पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं। मगर पूजा का मानना है कि डिहाईड्रेशन से हाइपरपिग्मेंटेशन बिगड़ जाता है। इसलिए, आपको हर दिन “2-3 लीटर पानी पीना चाहिए।

3. प्रोटीन

यदि आपके आहार में पर्याप्त प्रोटीन शामिल नहीं है, तब भी आपको पिगमेंटेशन की समस्या आ सकती है। ऐसा इसलिए, क्योंकि सेल्स खुद को रिपेयर नहीं कर पाते हैं। पूजा मखीजा कहती हैं, ”तीनों भोजन में प्रोटीन का सेवन करना ज़रूरी है।”

apna proteen intake badhaen
अपना प्रोटीन इंटेक बढ़ाएं। चित्र : शटरस्टॉक

4. अच्छी नींद लें

अच्छी और गहरी नींद में आपका शरीर खुद को रिपेयर करता है इसलिए रोजाना 7-8 घंटे की नींद जरूर लें। अपने सोने और उठने के समय में बदलाव न करें।

5. पोषक तत्व

स्किन पिगमेंटेशन इस बात का संकेत है कि आपके शरीर को सूक्ष्म पोषक तत्वों की सही मात्रा नहीं मिल रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि स्किन को डिटॉक्स करने के लिए विटामिन और खनिज आवश्यक हैं। इसलिए वे हर दिन एक गिलास वेजिटेबल जूस का सेवन करने का सुझाव देती हैं।

तो यदि आप भी पिगमेंटेशन की समस्या से परेशान हैं, तो उपरोक्त बताई गई चीजों का ख्याल रखें।

इसके साथ ही जानें पूजा की खास वेजिटेबल जूस की रेसिपी

न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा ने कैप्शन में वेजिटेबल जूस बनाने की रेसिपी शेयर की है। जो कुछ इस प्रकार है

“एक ब्लेंडर में थोड़े से पानी के साथ किन्हीं तीन अलग-अलग रंग की सब्जियों को ब्लेंड करें। इसमें थोड़ा नीबू का रस डालें और इसे तुरंत पी लें। पूजा मखीजा इस बात पर प्रकाश डालती हैं कि ड्रिंक में फल नहीं होने चाहिए, केवल टमाटर, खीरा और गाजर जैसी सब्जियां और धनिया के पत्ते।

यह भी पढ़ें : अंडर आई स्किन को चमकदार बनाने के लिए ट्राई करें ये 5 DIY फ्रूट बेस्ड मास्क

  • 130
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory